एमएस धोनी युवाओं के भरोसे बने चैंपियन, विराट कोहली जीत के बाद भी टीम से दूर हाेते गए

0
30


नई दिल्ली. टी20 वर्ल्ड कप के लिए एमएस धोनी (MS Dhoni) को टीम इंडिया का मेंटॉर बनाया गया है. वहीं विराट कोहली (Virat Kohli) वर्ल्ड कप के बाद टी20 टीम की कप्तानी छोड़ देंगे. कप्तानी छोड़ने काे लेकर कोहली की कई वजहें सामने आईं. लेकिन सबसे बड़ा कारण टीम को आईसीसी ट्रॉफी नहीं दिला पाना ही मुख्य माना जा रहा है. इस बीच कोहली इंटरनेशनल क्रिकेट में 2 साल से अधिक समय से शतक भी नहीं लगा सके हैं. इस कारण उन्होंने वर्कलोड का हवाला देते हुए कप्तानी छोड़ने की बात कही.

एमएस धोनी और विराट कोहली की कप्तानी स्टाइल बिल्कुल अलग रही. धोनी युवाओं पर अधिक भरोसा करते थे. इतना ही नहीं वे खिलाड़ियों को लंबे मौके देने के लिए जाने जाते थे. दूसरी ओर कोहली की कप्तानी में किसी भी खिलाड़ी की टीम में जगह पक्की नहीं थी. धोनी ने युवा खिलाड़ियों के भरोसे 2007 का टी20 वर्ल्ड कप का खिताब जीता. धोनी की कप्तानी में सचिन तेंदुलकर, युवराज सिंह, जहीर खान, वीवीएस लक्ष्मण, राहुल द्रविड़, वीरेंद्र सहवाग और हरभजन सिंह जैसे सीनियर खेले. इसके बाद भी उन्होंने विराट कोहली और रोहित शर्मा जैसे युवाओं को मौका दिया.

काेहली 2011 वर्ल्ड कप में भी उतरे

एमएस धोनी ने 2011 वर्ल्ड कप में विराट कोहली को मौका दिया. टीम में सीनियर खिलाड़ियों के अलावा जूनियर भी थे. हालांकि उन्होंने सौरव गांगुली और द्रविड़ जैसे सीनियर खिलाड़ियों को वनडे टीम से बाहर कर दिया था. इसका पॉजिटिव रिजल्ट टीम पर दिखा. 2011 वर्ल्ड कप के बाद लगभग सभी सीनियर खिलाड़ी रिटायर हो गए. लेकिन फिर भी धोनी 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब जीतने में सफल रहे.

कोहली की कोच तक से नहीं बनी

विराट कोहली को 2014-15 में ऑस्ट्रेलिया दाैरे पर टीम इंडिया की टेस्ट टीम की कमान मिली थी. बाद में वे वनडे और टी20 टीम के कप्तान भी बने. उनकी कप्तानी में टीम ने कई कीर्तिमान रचे. तेज गेंदबाजों जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, इशांत शर्मा, उमेश यादव की बदौलत टीम ने सफलता हासिल की. लेकिन उनकी कोच अनिल कुंबले तक से नहीं बनी. इस कारण रवि शास्त्री को दोबारा टीम के साथ जोड़ा गया.

वर्ल्ड कप में सही खिलाड़ी नहीं चुन सके

2019 में हुए वनडे वर्ल्ड कप में टीम का चयन विवाद सभी को याद है. नंबर-4 को लेकर कई खिलाड़ियों काे आजमाया गया. लेकिन वर्ल्ड कप के लिए अंबाती रायडू की जगह विजय शंकर को चुन लिया गया. वर्ल्ड कप में मिली हार के बाद बैटिंग कोच संजय बांगड़ तक को हटना पड़ा था. लेकिन कोहली पर तब कोई सवाल नहीं उठा था. कोहली अधिक बदलाव करने के कारण आईसीसी ट्रॉफी के अलावा अब तक आईपीएल का खिताब भी नहीं जीत सके हैं. दूसरी ओर एमएस धोनी तीन आईसीसी ट्रॉफी और तीन आईपीएल का खिताब जीत चुके हैं.

यह भी पढ़ें: IPL 2021: मुंबई इंडियंस ने एक दिन पहले बाएं हाथ के गेंदबाज को शामिल किया, हर 19वीं गेंद पर लेता है विकेट

यह भी पढ़ें: IPL 2021: विराट कोहली ने कहा- टूर्नामेंट से हटने वाले खिलाड़ियों पर बात नहीं की, हसारंगा होंगे अहम

रोहित की भी स्टाइल धोनी वाली

रोहित शर्मा को टी20 टीम का नया कप्तान बनाया जा सकता है. उनकी कप्तानी स्टाइल भी धोनी की ही तरह है. वे खिलाड़ियों को अधिक मौके देने में विश्वास रखते हैं. इसके अलावा खिलाड़ियों पर दबाव भी नहीं बनाते हैं. इस कारण मुंबई इंडियंस की टीम कई बार आईपीएल में कठिन समय पर कड़े मुकाबले जीतने में सफल रही है. रोहित ने मुंबई को 5 बार चैंपियन बनाया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here