विराट कोहली टी20 और IPL के बाद क्या वनडे की कप्तानी छोड़ेंगे? वर्ल्ड कप पर टिका है भविष्य

0
46


नई दिल्ली. जिस बात का अंदेशा था, वही हुआ. विराट कोहली ने 3 दिन के भीतर दूसरी टीम की कप्तानी छोड़ दी (Virat Kohli Quits RCB Captaincy). अब वो आईपीएल में भी रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (RCB) की कप्तानी करते नजर नहीं आएंगे. उन्होंने वीडियो में इस बात की जानकारी दी. हालांकि, टी20 टीम की कप्तानी छोड़ने का ऐलान करने के बाद इस बात का अंदेशा तो जताया जा रहा था कि वो इंडियन प्रीमियर लीग में भी इस भूमिका को अब शायद नहीं निभाएंगे. लेकिन इतनी जल्दी यह हो जाएगा, इसका भरोसा शायद किसी को नहीं था. उनके इस फैसले के बाद अब यह सवाल भी खड़ा हो रहा है कि क्या वो वनडे टीम की भी कप्तानी छोड़ देंगे?.

विराट के लिए जिस तेजी से हालात बदले हैं. ऐसे में अगर वो वनडे टीम की कप्तानी से हट जाएं, तो शायद ही किसी को हैरानी होगी. हालांकि, इसकी तस्वीर टी20 विश्व कप के बाद ही साफ होगी. अगर इस टूर्नामेंट में भारत का प्रदर्शन अच्छा रहा और टीम खिताब जीतने में सफल रही, तो शायद वो वनडे टीम के कप्तान बने रहेंगे. नहीं, तो इस फॉर्मेट की कप्तानी भी छोड़ देंगे और 2023 में भारत में होने वाले विश्व कप में नए कप्तान की अगुवाई में टीम इंडिया उतरेगी.

विराट ने टी20 टीम की कप्तानी छोड़ते वक्त भले ही यह कहा था कि वो वनडे और टेस्ट में कप्तानी करते रहेंगे. लेकिन मौजूदा हालात में कोई भी पक्के यकीन से यह नहीं कह सकता है कि वो 2023 के विश्व कप में टीम इंडिया के कप्तान रहेंगे. उन्होंने वर्कलोड का हवाला देकर टी20 की कप्तानी छोड़ी है. इस बात को माना भी जा सकता है. क्योंकि विराट 2017 के बाद से ही लगातार तीनों फॉर्मेट में टीम की कमान संभाल रहे हैं. लेकिन अगर 2023 के विश्व कप तक टीम इंडिया का कैलेंडर देखें, तो विश्व कप के अलावा भारतीय टीम लगभग 20 द्विपक्षीय टी20 खेलेगी, जिसमें कोहली टीम की कप्तानी नहीं करेंगे.

विराट कोहली ने 3 दिन में दूसरी टीम की कप्तानी छोड़ी, अब IPL 2022 में RCB की भी कमान नहीं संभालेंगे

इस दौरान जो भी टी20 टीम की कमान संभालेगा. उसे विश्व कप तक कप्तानी का अच्छा अनुभव हो जाएगा. ऐसे में अगर बीसीसीआई निकट भविष्य में कोहली को 50 ओवर फॉर्मेट की कप्तानी से भी हटाने का फैसला कर ले, तो शायद ही किसी को हैरानी होगी. क्योंकि यह भारतीय क्रिकेट है और इसमें तेजी से चीजें बदलती हैं.

रोहित ने बतौर ‘लीडर’ खुद को स्थापित किया
अनिल कुंबले का उदाहरण सबको याद होगा कि कैसे उन्हें 2017 में अचानक टीम के कोच का पद छोड़ना पड़ा था और नियम-कायदों को दरकिनार कर रवि शास्त्री हेड कोच बन गए थे. ऐसे में अगर भविष्य में ऐसा हो, तो यह चौंकाने वाली बात नहीं होगी. अगर, विराट टी20 विश्व कप की ट्रॉफी जीतने में असफल रहते हैं, तो आईपीएल, टी20 की तरह वनडे में भी टीम इंडिया के लिए सिर्फ एक बल्लेबाज के तौर पर खेलते नजर आ सकते हैं. क्योंकि उनकी जगह लेने के लिए रोहित शर्मा का दावा मजबूत हुआ है.

टीम इंडिया के ड्रेसिंग रूम में भी कोहली के डिप्टी के रूप में रोहित की पहचान एक लीडर के तौर पर मजबूत हुई है. उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग में मुंबई इंडियंस के लिए साल-दर-साल एक युवा टीम को साथ लेकर चलना सीख लिया है. वहीं, अगर बतौर कप्तान उनका आईपीएल रिकॉर्ड देखें तो ना सिर्फ कोहली, बल्कि तीन आईसीसी ट्रॉफी जीतने वाले महेंद्र सिंह धोनी से भी वो वो काफी आगे हैं.

CSK vs MI: ऋतुराज गायकवाड़ ने मुंबई के खिलाफ खेली सबसे बड़ी पारी, 56 फीसदी रन अकेले बनाए

विराट पर मनमानी के आरोप लगातार लग रहे
रोहित की कप्तानी में मुंबई ने पांच बार आईपीएल का खिताब जीता है. कोहली को लेकर इस तरह की खबरें लगातार सामने आ रही हैं कि उन्होंने साथी खिलाड़ियों का विश्वास खो दिया है. जो लोग कोहली को करीब से जानते हैं, उनका मानना है कि वो मनमानी करते हैं और सबको साथ लेकर चलने का हुनर उनमें नहीं है. हाल के दिनों में उनके कई फैसलों ने इसी तरफ इशारा किया है.

फिर चाहें, साउथैम्पटन में हुए विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में दो स्पिनर्स के साथ उतरना. वहीं, 2019 के विश्व कप से पहले किसी भी एक बल्लेबाज को 4 नंबर पर सेट नहीं होने देना. इसके अलावा आर अश्विन को इंग्लैंड के खिलाफ 4 टेस्ट में मौका ना देने के उनके फैसले पर भी दिग्गजों ने सवाल उठाए थे.

एडिलेड टेस्ट के बाद विराट के लिए स्थिति बदली
विराट के पास पिछले साल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड टेस्ट से पहले तक फैसले लेने के पूरी आजादी थी. लेकिन इस मैच में 36 रन पर ऑल आउट होने और उसके बाद उनकी छुट्टी ने बहुत कुछ बदल दिया. उनकी गैरमौजूदगी में खिलाड़ी पहले से कहीं अधिक एकजुट महसूस कर रहे थे और इसका नतीजा सबके सामने था. भारत ने ऑस्ट्रेलिया को टेस्ट सीरीज में शिकस्त दी थी.

BCCI ने भी कप्तानी को लेकर पत्ते नहीं खोले
3 दिन पहले विराट ने जब टी20 टीम की कप्तानी छोड़ने का ऐलान किया था. इसके बाद बीसीसीआई के एक प्रेस रिलीज जारी किया था. बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसका एक दिलचस्प पहलू बताया था. इस अधिकारी का कहना था कि अगर आप सौरव गांगुली और जय शाह के बयान को देखें, तो दोनों ने विराट को बधाई दी है, लेकिन इस पर एक शब्द भी नहीं कहा है कि क्या वह(कोहली) 2023 विश्व कप तक कप्तान बने रहेंगे. इसलिए, वह बने रहेंगे, यह एक दूर की कौड़ी है. ऐसे में विराट भविष्य में वनडे टीम की कप्तान बने रहेंगे या नहीं?. यह आने वाले 2 महीने में साफ हो जाएगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here