ON This Day: टीम इंडिया अंतिम 3 गेंद पर नहीं बना सकी एक रन, रोमांचक टेस्ट हुआ था टाई

0
71

[ad_1]

नई दिल्ली. टेस्ट क्रिकेट की शुरुआत 1877 में हुई. आज यानी 22 सितंबर 2021 तक कुल 2433 टेस्ट खेले जा चुके हैं. इसमें से सिर्फ 2 ही टेस्ट टाई हुए हैं. इससे समझा जा सकता है कि टेस्ट क्रिकेट में मैच टाई होना कितनी दुर्लभ बात है. टीम इंडिया भी एक टाई टेस्ट में शामिल है. आज से 35 साल पहले आज ही के दिन 1986 को चेन्नई में खेले गए भारत और ऑस्ट्रेलिया के मैच में यह कारनामा हुआ था. टीम इंडिया को जीत के लिए अंतिम 3 गेंद पर एक रन बनाने थे, लेकिन मनिंदर सिंह आउट हो गए थे.

मैच में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया था. टीम ने पहली पारी 7 विकेट पर 574 रन बनाकर घोषित कर दी थी. डीन जोंस ने शानदार 210 रन बनाए थे. इसके अलावा डेविड बून ने 122 और कप्तान एलेन बॉर्डर ने 106 रन की पारी खेली थी. भारत की ओर से ऑफ स्पिनर शिवलाल यादव ने 4 विकेट लिए थे. इतने बड़े स्कोर के बाद ऑस्ट्रेलिा का मैच हारना कठिन लग रहा था.

कप्तान कपिल देव ने शतक लगाकर टीम को संभाला

टीम इंडिया की पहली पारी की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी. टीम ने 65 रन पर 3 विकेट गंवा दिए थे. लेकिन कप्तान कपिल देव (Kapil Dev) ने शानदार 119 रन बनाकर स्कोर 397 रन तक पहुंचाया. इसके अलावा रवि शास्त्री 62, कृष्णमाचारी श्रीकांत ने 53 और मोहम्मद अजहरुद्दीन ने 50 रन बनाए थे. ऑफ स्पिनर ग्रेग मैथ्यूज ने 5 विकेट झटके. इस तरह से ऑस्ट्रेलिया को 177 रन की बड़ी बढ़त मिली.

ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी भी घोषित की

ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी 5 विकेट पर 170 रन बनाकर घोषित कर दी. डेविड बून ने सबसे अधिक 49 रन बनाए. इस तरह से अंतिम दिन 22 सितंबर को टीम इंडिया को 348 रन का लक्ष्य मिला. अंतिम दिन इतने बड़े लक्ष्य की उम्मीद किसी को नहीं थी. लेकिन टीम इंडिया ने जोरदार पलटवार किया और स्कोर एक समय 2 विकेट पर 204 रन था. सुनील गावस्कर ने 90, श्रीकांत ने 39 और मोहिंदर अमरनाथ ने 51 रन बनाए.

मैथ्यूज और ब्राइट ने ऑस्ट्रेलिया की वापसी कराई

बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज रे ब्राइट और ग्रेग मैथ्यूज ने जल्द 4 विकेट लेकर टीम इंडिया को बैकफुट पर धकेल दिया. स्कोर 6 विकेट पर 291 रन हो गया. इसके बाद लगा कि ऑस्ट्रेलिया की टीम जीत जाएगी. लेकिन रवि शास्त्री (48*) और चेतन शर्मा (23) ने 40 रन की साझेदारी कर टीम को जीत के नजदीक तक पहुंचाया. चेतन शर्मा को विकेट ब्राइट को मिला और मैच एक बार फिर रोमांचक दौर में पहुंच गया.

3 गेंद पर 1 रन बनाने थे

टीम इंडिया को अंतिम 30 गेंद पर 18 रन बनाने थे और 4 विकेट शेष थे. 331 के स्कोर पर चेतन शर्मा जबकि 334 के स्कोर पर किरन मोरे आउट हो गए. 344 के स्कोर पर शिवलाल यादव ब्राइट को स्विप मारने के चक्कर में बोल्ड हो गए. मनिंदर सिंह ने इस ओवर की बची 2 गेंद पर रन नहीं बनाया. अब अंतिम ओवर में जीत के लिए 4 रन बनाने थे और सिर्फ एक विकेट शेष था. रवि शास्त्री ने मैथ्यूज की पहली गेंद पर रन नहीं लिया. दूसरी गेंद पर उन्होंने 2 रन जबकि तीसरी गेंद पर एक रन लिया. इस तरह से स्कोर बराबर हो गया था. टीम इंडिया की हार टल चुकी थी. 3 गेंद पर टीम को जीत के लिए सिर्फ एक रन बनाने थे. चौथी गेंद पर मनिंदर सिंह रन नहीं बना सके और 5वीं गेंद पर मैथ्यूज ने उन्हें एलबीडब्ल्यू किया. इस तरह से मैच टाई हो गया. ब्राइट और मैथ्यूज ने दूसरी पारी में 5-5 विकेट लिए.

यह भी पढ़ें: टीम इंडिया है दुनिया की सबसे रोमांचक टेस्ट सीरीज की विजेता, रन के 4 हजारवें हिस्से से मिली थी जीत

यह भी पढ़ें: INDW vs AUSW: मिचेल स्टार्क की पत्नी ने बनाया बड़ा कीर्तिमान, काेई महिला खिलाड़ी नहीं कर सकी है ऐसा

यह टेस्ट इतिहास का सिर्फ दूसरा टाई टेस्ट था. इससे पहले 1960 में ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज का मैच भी टाई हुआ था. 233 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलिया की टीम 232 रन पर आउट हो गई थी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here