IPL 2021: वेंकटेश अय्यर की तूफानी बल्लेबाजी देख मां को क्यों याद आया टैक्सी ड्राइवर?

0
90

[ad_1]

नई दिल्ली. कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) ने IPL 2021 के दूसरे फेज़ का आगाज जबर्दस्त अंदाज में किया है. पहले उसने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को एकतरफा अंदाज में मात दी और उसके बाद मुंबई इंडियंस को भी केकेआर ने धो डाला. कोलकाता नाइट राइडर्स अब अंक तालिका में चौथे नंबर पर पहुंच गई है और उसके प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीदें बहुत बढ़ गई हैं. कोलकाता की इन दोनों शानदार जीत में उसके युवा खिलाड़ी वेंकटेश अय्यर (Venkatesh Iyer) का अहम योगदान रहा. जिन्होंने आरसीबी और मुंबई इंडियंस के खिलाफ ताबड़तोड़ पारियां खेल अपनी टीम को जीत दिलाई. बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने मुंबई के खिलाफ महज 30 गेंदों में 53 रन बनाए, वहीं आरसीबी के खिलाफ अय्यर के बल्ले से 27 गेंदों में 41 रन निकले.

वेंकटेश अय्यर की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी ने सभी को उनका कायल बना दिया है. दोनों ही मुकाबलों में अय्यर का स्ट्राइक रेट 150 से ज्यादा का रहा. साथ ही उन्होंने मुंबई के खिलाफ छक्के से खाता खोल अपना दमखम दिखा दिया. बुमराह-बोल्ट और एडम मिल्न जैसे गेंदबाजों का जिस तरह से इस खिलाड़ी ने सामना किया उसे देख सभी को उनका उज्ज्वल भविष्य दिख रहा है. वैसे वेंकटेश अय्यर के उज्ज्वल भविष्य की भविष्यवाणी तभी हो गई थी जब वो महज 7 महीने के थे.

टैक्सी ड्राइवर ने कहा था-नाम रोशन करेगा वेंकटेश
बाएं हाथ के बल्लेबाज वेंकटेश की मां उषा ने क्रिकबज को दिए इंटरव्यू में बताया कि उनके बेटे के स्टार बनने की भविष्यवाणी एक टैक्सी ड्राइवर ने की थी. उषा ने बताया कि जब वेंकटेश अय्यर महज 7 महीने के थे तो वो उनके साथ भोपाल से देवास जा रही थीं. वेंकटेश टैक्सी की आगे वाली सीट पर बैठे थे और ड्राइवर बार-बार उनको देख रहा था. जब उनकी मां टैक्सी से उतरीं तो ड्राइवर ने उन्हें कहा कि वेंकटेश आपका नाम बहुत रोशन करेगा. इसे जो भी करना है उसे करने देना.

KKR का खिलाड़ी नंबर-6 से रातों-रात कैसे बन गया ओपनर? अब ढा रहा कहर

वेंकटेश की मां को ये घटना उस वक्त याद आई जब उनका बेटा आरसीबी के खिलाफ बल्लेबाजी कर रहा था. गजब की बात ये है कि टॉस के दौरान केकेआर के कप्तान ऑयन मॉर्गन ने नहीं बताया कि वेंकटेश अय्यर कोलकाता के लिए डेब्यू कर रहे हैं. वेंकटेश की मां ने टॉस देखा और अपने बेटे के खेलने की कोई खबर नहीं मिलीं तो वो निराश मन से ऑफिस से घर लौटने लगीं. लेकिन जैसे ही वो घर पहुंचीं तो पाया कि उनका बेटा बल्लेबाजी कर रहा है. वेंकटेश ने आरसीबी के गेंदबाजों की धुनाई करते हुए महज 27 गेंदों में 41 रन बना डाले. इसके बाद मुंबई का भी उन्होंने यही हाल किया. वेंकटेश के अंदर टैलेंट कूट-कूटकर भरा है और उनकी मां को यकीन है कि एक दिन उनका बेटा टीम इंडिया के लिए भी खेलेगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here