Ashes Series: इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ने कहा- एशेज के लिए ऑस्ट्रेलिया जाने का सवाल ही नहीं, लेकिन क्यों?

0
60

[ad_1]

दुबई. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन (Kevin Pietersen) ने सोमवार को कहा कि खिलाड़ी बायो बबल में रहकर परेशान हो चुके हैं. उन्होंने एशेज से पहले ऑस्ट्रेलिया में ‘बेवकूफाना क्वारंटाइन नियमों’ को हटाने की मांग की. ऑस्ट्रेलिया में होने वाली एशेज सीरीज (Ashes Series) पिछले कुछ समय से सुर्खियों में हैं और इंग्लैंड के कई खिलाड़ी इस समय ऑस्ट्रेलिया में लागू कोविड-19 नियमों को लेकर आशंकाएं जता चुके हैं.

केविन पीटरसन ने ट्वीट किया, ‘मेरे लिए इन सर्दियों में एशेज के लिए जाने का सवाल ही नहीं उठाता. शून्य संभावना. जब तक क्वारंटाइन के बेवकूफाना नियम हटाए नहीं जाते और मेरा परिवार बिना किसी पाबंदी के ट्रेवल नहीं कर पाता, मैं नहीं जाऊंगा. खिलाड़ी अब बायो बबल से परेशान हो चुके हैं.’ पांच मैचों की एशेज सीरीज 8 दिसंबर से शुरू होनी है और यह 18 जनवरी तक चलेगी. लेकिन इस दौरे का भविष्य अभी स्पष्ट नहीं है, क्योंकि पाबंदियों को देखते हुए इंग्लैंड के कई सीनियर खिलाड़ी बहिष्कार की संभावना पर विचार कर रहे हैं.

केविन पीटरसन का ट्वीट.

पीएम के सामने उठ चुका है मुद्दा

हाल में ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने एशेज के लिए इंग्लैंड के क्रिकेटरों के परिवारों की यात्रा पर प्रतिबंध का मुद्दा ऑस्ट्रेलिया के अपने समकक्ष स्कॉट मॉरिसन के साथ वाशिंगटन डीसी की राजनयिक यात्रा के इतर उठाया था. जॉनसन ने अमेरिका की राजधानी में कहा था, ‘मैंने यह मुद्दा उठाया है (मॉरिसन के साथ) और उन्होंने कहा है कि वह परिवारों के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करेंगे.’ उन्होंने कहा, ‘वह यह बात समझ गए हैं कि क्रिकेटरों के लिए क्रिसमस के दौरान अपने परिवार से दूर रहना बेहद मुश्किल है. उन्होंने कहा है कि वह बात करेंगे बताएंगे कि क्या वह कोई हल ढूंढ सकते हैं.’

यह भी पढ़ें: IPL 2021: टी20 में 10 हजार रन बनाने वाले पूर्व कप्तान को टीम ने किया बाहर, वर्ल्ड कप से पहले झटका

यह भी पढ़ें: IPL 2021: आईपीएल को इस बार मिल सकता है नया चैंपियन, सिर्फ 4 मुकाबले बाकी! समझिए पूरा गणित

साल के अंत में मिल सकती है छूट

अगले महीने शुरू होने वाला टी20 वर्ल्ड कप संयुक्त अरब अमीरात में कड़े बायो बबल में खेला जाना है और ऐसे में इंग्लैंड के सभी फॉर्मेट में खेलने वाले खिलाड़ी अगर ऑस्ट्रेलिया जाते हैं, तो उन्हें लगभग चार महीने तक बायो बबल में रहना पड़ सकता है. ऑस्ट्रेलिया ने साल के अंत तक सीमा और क्वारंटाइन नियमों में ढील की योजना बनाई है. तब तक कम से कम 80 प्रतिशत वयस्क जनसंख्या को कोविड-19 के दो टीके लगने की उम्मीद है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here