पुराने महेंद्र सिंह धोनी के बल्ले से वापस आने की उम्मीद न करें: संजय मांजरेकर

0
60

[ad_1]

नई दिल्ली. पूर्व भारतीय क्रिकेटर संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) ने कहा है कि प्रशंसकों के लिए चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) के बल्लेबाजी फॉर्म के वापस आने की उम्मीद करना अच्छा नहीं होगा. मांजरेकर का यह बयान सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ आखिरी ओवर में सीएसके के लिए धोनी के शानदार विजयी छक्के के बाद आया है. 40 वर्षीय पूर्व भारतीय कप्तान अपने हाथ में बल्ला लेकर रन बनाने वालों में से नहीं हैं, लेकिन उन्होंने सुपर किंग्स के लिए अब तक कूल हेड के रूप में अपने निर्णय लेने के कौशल से महत्वपूर्ण प्रभाव डाला है.

टीम के लिए छठे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए महेंद्र सिंह धोनी ने आईपीएल 2021 (IPL 2021) में आठ पारियों में 13.2 की खराब औसत से सिर्फ 66 रन बनाए हैं. हालांकि, नाबाद 14 रन की उनकी हालिया पारी ने ‘थाला धोनी’ के प्रशंसकों को पुरानी यादों से भर दिया, क्योंकि वे उन्हें मास्टर फिनिशर की तरह पारी में देर से जीत दिलाने के आदी हैं. सीएसके के फॉलोअर्स की ‘येलो आर्मी’ उम्मीद करती है कि दिग्गज अपनी फॉर्म वापस हासिल कर लेंगे. धोनी के सिग्नेचर सिक्स ने येलो कैंप के बीच विश्वास को मजबूत किया.

यशस्वी ने सचिन को दिया बल्लेबाजी में हुए सुधार का श्रेय, बताया- उनका कौन सा मंत्र काम आया

‘पुराने धोनी के बल्ले से वापस आने की उम्मीद करना अच्छा नहीं’
संजय मांजरेकर ने ईएसपीनक्रिकइंफो से बात करते हुए कहा, ”हां, हम सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ धोनी के छक्के के बाद रोमांटिक और यादों में खो गए थे. लेकिन अभी तक धोनी ने बल्ले से कुछ खास कमाल नहीं किया है. और ऐसा लगता है कि पुराने धोनी के बल्ले से वापस आने की उम्मीद करना अच्छा नहीं है. इसके अलावा उनका खराब बल्लेबाजी फॉर्म सीएसके को नुकसान नहीं पहुंचा रहा है. अन्य खिलाड़ी बेहतरीन फॉर्म में दिख रहे हैं. यह सही है कि धोनी बल्ले से फॉर्म में नहीं हैं, लेकिन उनकी कप्तानी जरूर फॉर्म में है.”

आईपीएल में बतौर कप्तान धोनी के 200 मैच
एमएस धोनी आईपीएल 2021 के मैच नंबर 47 (2 अक्टूबर) में पीली जर्सी में अपनी ऐतिहासिक उपस्थिति के लिए पूरी तरह तैयार थे, जब वह आईपीएल की 14 साल की लंबी यात्रा में एक पक्ष के कप्तान के रूप में 200वीं बार पिच पर कदम रख रहे थे. इससे पहले धोनी ने 199वें मैचों की आईपीएल में कप्तानी की, जिसमें से 119 मौकों पर जीत हासिल की और 79 बार उन्हें हार का सामना करना पडा. 60.1 प्रतिशत की उल्लेखनीय जीत प्रतिशत के साथ, एमएसडी को ‘मेंटॉर सिंह धोनी’ भी कहा जाता है, जो आईपीएल इतिहास में अब तक का सबसे सफल कप्तान है.

‘युजवेंद्र चहल को टी20 विश्व कप में मिलना चाहिए था मौका’, पूर्व चीफ सेलेक्टर ने बताई वजह

‘कप्तान के रूप में धोनी का रिकॉर्ड कभी नहीं टूट सकता’
56 वर्षीय भारतीय कमेंटेटर को लगता है कि एक कप्तान के रूप में धोनी का रिकॉर्ड कभी नहीं टूट सकता है. उन्होंने कहा, ”आईपीएल में अपने 60% मैच जीतना – यह एक शानदार रिकॉर्ड है. मुझे नहीं लगता कि यह रिकॉर्ड कभी टूट सकता है. सीएसके के लिए उन्होंने जो सबसे बड़ा काम किया, वह यह था कि उन्होंने पिछले साल के बाद टीम में बदलाव किए, जब सीएसके तालिका में सबसे नीचे थी.” धोनी को उनके कंफर्ट जोन से कुछ बाहर धकेला गया था. उनके पास आमतौर पर खिलाड़ियों का अपना सेट होता है, लेकिन इस सीजन में उन्होंने जिस तरह से टीम में बदलाव किया है और सही संयोजन के साथ खेला है, वह असाधारण है.”

इसके अलावा, धोनी को 17 अक्टूबर से शुरू होने वाले संयुक्त अरब अमीरात में आगामी आईसीसी विश्व टी20 के लिए टीम इंडिया के मेंटॉर के रूप में शामिल किया गया है, जहां भारत 24 अक्टूबर को दुबई में अपने शुरुआती मैच में पाकिस्तान से भिड़ेगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here