मुझे पूरा विश्वास है कि पाकिस्तान टी20 विश्व कप में भारत को हरा सकता है: वकार यूनिस

0
43

[ad_1]

नई दिल्ली. भारत और पाकिस्तान (India vs Pakistan) द्विपक्षीय सीरीज में अब एक-दूसरे का सामना नहीं करते हैं. इसी कारण से दोनों देशों के प्रशंसक आईसीसी के टूर्नामेंट्स का बेसब्री से इंतजार करते हैं, ताकि वे एक-दूसरे के खिलाफ खेलते हुए नजर आ सकें. आगामी टी20 विश्व कप (ICC T20 World Cup 2021) में 24 अक्टूबर को दुबई में इन दोनों चिर प्रतिद्वंद्वियों के बीच भिड़ंत होगी. ऐसे में पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर वकार यूनिस (Waqar Younis) इस मेगा इवेंट में पहली बार भारत को हराने के लिए बाबर आजम और उनकी टीम का समर्थन कर रहे हैं.

पाकिस्तान 50 ओवर के विश्व कप की तरह टी20 विश्व कप में भी अपने चिर प्रतिद्वंद्वी भारत पर कभी जीत दर्ज नहीं कर पाया है. टी20 क्रिकेट में यह सब 2007 में पहले टी20 वर्ल्ड कप के साथ शुरू हुआ था, जहां दोनों टीमों के बीच पहला मैच टाई पर समाप्त हुआ था, लेकिन भारत ने बॉल आउट में पाकिस्तान को मात देकर जीत हासिल कर ली थी. इसके बाद भारत और पाकिस्तान का सामना 2007 के ही टी20 वर्ल्ड कप फाइनल में हुआ था. इस मैच में भारत ने पांच रन से रोमांचक जीत हासिल कर ट्रॉफी उठाई थी. तब से यह केवल एकतरफा ही रहा है और पाकिस्तान वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में भारत से हारता रहा है.

मिचेल स्टार्क ने ऑस्ट्रेलिया की महिला पेसरों को दिया खास गिफ्ट, जीत लिया दिल

हालांकि, वकार यूनिस को लगता है कि अगर पाकिस्तान अपनी क्षमता के अनुसार खेलता है, तो वे निश्चित रूप से भारत से आगे निकल सकता है. वकार ने क्रिकविक से बातचीत में कहा, ”मैं ईमानदारी से मानता हूं कि अगर पाकिस्तान अपनी क्षमता से खेलता है तो वह भारत को अपने शुरुआती मुकाबले में हरा सकता है. यह आसान नहीं होगा, लेकिन हमारे पास निश्चित रूप से ऐसे खिलाड़ी हैं, जो अच्छे कर सकते हैं.”

उन्होंने आगे कहा, ”यह एक बड़ा खेल है और दोनों टीमों पर दबाव होगा, क्योंकि यह टूर्नामेंट का उनका पहला मैच होगा. लेकिन पहली कुछ गेंदें और रन महत्वपूर्ण होंगे, लेकिन अगर हम इसे अच्छी तरह कर पाते हैं तो हम खेल जीत सकते हैं.”

वकार ने गेंदबाजी आक्रमण का नेतृत्व करने के लिए हसन अली का समर्थन किया
वकार यूनिस कुछ समय पहले तक पाकिस्तान के गेंदबाजी कोच थे, लेकिन टी20 विश्व कप टीम की घोषणा के दिन उन्होंने मुख्य कोच मिस्बाह-उल-हक के साथ पद से इस्तीफा दे दिया. मौजूदा गेंदबाजों को कोचिंग देने के बाद 49 वर्षीय का मानना ​​है कि यह गेंदबाजी आक्रमण स्कोर को अच्छी तरह से बचा सकता है. उन्होंने हसन अली की भी सबसे अच्छे होने की सराहना की और गेंदबाजी आक्रमण का नेतृत्व करने के लिए उनका समर्थन भी किया.

पुराने महेंद्र सिंह धोनी के बल्ले से वापस आने की उम्मीद न करें: संजय मांजरेकर

उन्होंने कहा, ”गेंदबाजी हमेशा से हमारा मजबूत पक्ष रहा है और हमने अतीत में देखा है कि हमारे पास स्कोर का बचाव करने की क्षमता है. हमने चैंपियंस ट्रॉफी 2017 में ऐसा किया था. हमने उससे पहले भी ऐसा किया है, इसलिए मुझे कोई कारण नहीं दिखता कि यह टीम उन प्रदर्शनों का दोहरा क्यों नहीं कर सकती. मुझे लगता है कि हसन मौजूदा टीम में किसी भी अन्य गेंदबाज से बेहतर गेंदबाजी को समझते हैं और गेंदबाजी के मामले में हमारे अगुवा होंगे. उनके पास निश्चित रूप से बड़े मंच पर बड़ी चीजें करने का कौशल और चरित्र है.”

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here