ऑस्ट्रेलियन क्रिकेटर को खल रही भारतीय मसालों की कमी, ट्वीट कर कही दिल की बात

0
56

[ad_1]

नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया की महिला क्रिकेट टीम (Australian Women Cricket Team) की पूर्व कप्तान और कॉमेंटेटर लिसा स्थालेकर (Lisa Sthalekar) को भारतीय मसालों की कमी खल रही है. उन्होंने इसे लेकर एक तस्वीर ट्वीट की. इस तस्वीर को शेयर करने के साथ उन्होंने लिखा कि अब जबकि मैं पूरी गर्मियों के लिए मेलबर्न में शिफ्ट हो गई हूं. तो मेरे किचन में जिस एक चीज की कमी मुझे महसूस हो रही है, वो है भारतीय मसाले. मुझे जल्द से जल्द स्थानीय मसाले की दुकान ढूंढनी पड़ेगी.

दरअसल, लिसा का भारतीय मसालों से यह प्रेम इसलिए भी है. क्योंकि उनका जन्म भारत के पुणे शहर में हुआ है और यहां से निकलकर वह ऑस्ट्रेलिया पहुंची और वहां के लिए क्रिकेट खेलीं और बाद में कप्तानी भी की.

लिसा ने भारतीय टीम की आलोचना की थी

लिसा इस वक्त भारत और ऑस्ट्रेलिया की महिला क्रिकेट टीम के बीच चल रही सीरीज में कॉमेंट्री कर रही हैं. उन्होंने हाल ही में इकलौता पिंक-बॉल टेस्ट ड्रॉ होने पर भारतीय टीम की आलोचना की थी. उन्होंने कहा था कि भारत ने इस मैच का नतीजा निकालने के लिए बहादुरी नहीं दिखाई. दरअसल, इस मैच में भारत ने पहली पारी में करीब 3 दिन तक बल्लेबाजी की. इस दौरान भारतीय टीम ने 145 ओवर खेले थे. इस टेस्ट के पहले दो दिन बारिश से काफी प्रभावित रहे थे. भारत ने तीसरे दिन के दूसरे सेशन में जाकर 377 रन पर अपनी पारी घोषित की.

इसके बाद मैच में करीब 1 दिन का खेल ही बचा था. ऐसे में नतीजे की उम्मीद बहुत कम थी. लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने मैच के चौथे दिन लंच के बाद 9 विकेट पर 240 रन के स्कोर पर अपनी पारी घोषित कर मैच में कुछ रोमांच पैदा करने की कोशिश की. लेकिन यह नाकाफी साबित हुआ और आखिरकार यह ऐतिहासिक टेस्ट ड्रॉ रहा.

DRS लेने में फेल हुए धोनी, 10 में सिर्फ 1 चैलेंज सफल; पूर्व क्रिकेटर ने कहा- अब ‘ध्‍यान से लेना रिव्‍यू सिस्‍टम’

उमरान की 150 किमी. प्रति घंटे वाली गेंदबाजी का राज है टेनिस गेंद, जानिए क्‍यों नहीं मिले ज्‍यादा मौके

लिसा के ऑस्ट्रेलिया पहुंचने की कहानी दिलचस्प
जहां तक की लिसा की बात है, तो उनके ऑस्ट्रेलिया पहुंचने की कहानी काफी दिलचस्प है. दरअसल, लिसा को उनके माता-पिता पुणे के एक अनाथालय में छोड़ गए थे. क्योंकि वो उन्हें पाल नहीं सकते थे. बाद में एक डॉक्टर ने उन्हें गोद ले लिया था, जो लिसा को अमेरिका लेकर चले आए. वहां कुछ साल बिताने के बाद डॉक्टर अपने परिवार के साथ केन्या आ गए और फिर ऑस्ट्रेलिया आकर बस गए. बचपन में ही पिता ने लिसा को एक क्रिकेट क्लब में एडमिशन दिला दिया था.

यहीं उन्होंने क्रिकेट की बारीकियां सीखीं और एक दिन ऑस्ट्रेलिया के लिए खेली और फिर इस देश की क्रिकेट टीम की कप्तानी की. क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद लिसा कॉमेंट्री में हाथ आजमा रही हैं. वो आईपीएल के अलावा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मुकाबलों के लिए भी कॉमेंट्री करती नजर आ चुकी हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here