T20 World Cup: खिलाड़ियों के 6 दिन में होंगे 3 कोरोना टेस्ट, जानिए संक्रमित होने पर क्या होगा?

0
38

[ad_1]

नई दिल्ली. टी20 वर्ल्ड कप (ICC T20 World Cup 2021) 17 अक्टूबर से शुरू हो रहा है. इस बार मुकाबले यूएई और ओमान में खेले जाएंगे. कोरोना और दो अलग-अलग देश में वेन्यू होने के कारण आईसीसी किसी तरह का जोखिम मोल लेना नहीं चाहती है. इसलिए सख्त बायो-बबल (T20 World Cup Bio-Bubble Protocol) तैयार किया है. इसे बनाने में उन विशेषज्ञों की सलाह ली गई है, जो फॉर्मूला-1 (Formula 1), यूरो 2020 और टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics 2020) की जैव-सुरक्षा से जुड़े थे.

आईसीसी के बायो-सेफ्टी के हेड एलेक्स मार्शल ने कहा कि हम किसी तरह की कमी नहीं छोड़ना चाहते हैं. इसलिए टोक्यो ओलंपिक, यूरो 2020 और फॉर्मूला-वन के लिए जैव सुरक्षा की देखरेख करने वाले एक्सपर्ट्स से बात की है. यहां आईपीएल 2021 का दूसरा हाफ भी खेला जा रहा है. इससे पहले, कई सीरीज भी हुई हैं. इससे हमें बहुत कुछ सीखने को मिला है और टी20 विश्व कप का बायो-बबल प्रोटोकॉल तैयार करने में मदद मिली.

टी20 विश्व कप के लिए तैयार किए गए बायो-प्रोटोकॉल में खिलाड़ियों, टीमों और ऑफिशियल्स को किन बातों का ध्यान रखना होगा. अगर कोई खिलाड़ी या ऑफिशियल संक्रमित होता है, तो फिर क्या होगा?. फैंस को स्टेडियम में आने से पहले क्या करना होगा?.

कैसे खिलाड़ी और टीम बायो-बबल में एंट्री करेंगे?
टी20 विश्व कप में हिस्सा लेने आ रही टीमों को अनिवार्य रूप से 6 दिन के लिए आइसोलेशन में रहना होगा. इस अवधि के दौरान खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ के सदस्यों के 3 कोरोना टेस्ट होंगे. ऐसा इसलिए किया जा रहा है. ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि टूर्नामेंट के अगले चरण में प्रवेश करने वाला कोई भी व्यक्ति संक्रमित नहीं है.

बायो-बबल में अगर कोई संक्रमित हुआ तो क्या होगा?
आईसीसी के बायो-प्रोटोकॉल के मुताबिक, अगर बायो-बबल में खिलाड़ी या कोई और कोरोना वायरस से संक्रमित होता है. फिर चाहें उसमें लक्षण ना भी नजर आ रहे हों. उसे 10 दिन के लिए खुद को आइसोलेट करना होगा.

संक्रमित के संपर्क में आए लोगों के साथ क्या होगा?
आईसीसी ने संक्रमित के संपर्क में आए शख्स को बिल्कुल साफ तरह से परिभाषित किया है. उसी व्यक्ति को संक्रमित का क्लोज कॉन्टैक्ट माना जाएगा, जिसने मास्क नहीं पहना है और परीक्षण/लक्षणों से कम से कम 15 मिनट और 48 घंटे पहले संक्रमित से 2 मीटर से कम दूरी पर रहा है. ऐसी सूरत में क्लोज कॉन्टैक्ट को भी 6 दिन के लिए आइसोलेट रहना होगा. वहीं, जो शख्स इत्तेफाक से संक्रमित के संपर्क में आया होगा. लेकिन संपर्क में आने के दौरान अगर उसने मास्क पहना होगा तो उसे 24 घंटे के लिए अलग-थलग किया जाएगा और टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद छोड़ दिया जाएगा.

BCCI अगर आईसीसी की फंडिंग रोक दे तो बर्बाद हो सकता है पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड: रमीज राजा

खिलाड़ी को अस्पताल जाने के लिए बायो-बबल छोड़ना पड़े तो क्या होगा?
आईसीसी ने खिलाड़ी के साथ-साथ बायो-बबल में कोरोना सेंध ना लगा पाए, इसके लिए अलग से बायो सिक्योर अस्पताल तय किए हैं. इसमें प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन होगा.

क्या दर्शकों का पूरी तरह वैक्सीनेटेड होना जरूरी है?
ओमान और अबु धाबी में, स्टेडियम में बैठकर मैच देखने के लिए दर्शकों को कोरोना के टीके की दोनों डोज लेना जरूरी होगा. लेकिन दुबई और शारजाह में ऐसा नहीं होगा. वहीं, दर्शकों को स्टेडियम में हर वक्त मास्क लगाकर रखना होगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here