उमरान के टीम इंडिया का नेट बॉलर बनने पर परिवार खुश, मां बोलीं- ‘जम्मू एक्सप्रेस’ जल्द बनें ‘इंडियन एक्सप्रेस’

0
44

[ad_1]

पवन शर्मा (​जम्मू). पहला ही आईपीएल और जम्मू के 22 साल के तेज गेंदबाज उमरान मलिक (Umran Malik) ने अपनी रफ्तार से सबको चौंका दिया. उमरान बतौर नेट बॉलर सनराइजर्स हैदराबाद से जुड़े थे. लेकिन टी नटराजन के कोरोना संक्रमित (T Nataraj Corona Positive) होने के बाद उन्हें टीम में शामिल किया गया और आईपीएल में खेलने का मौका भी मिला. उन्होंने इस मौके को बेकार नहीं होने दिया और आईपीएल के सबसे तेज गेंद फेंकने वाले भारतीय गेंदबाज बने. उन्होंने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB) के खिलाफ मैच में 152.95 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से गेंद फेंकी थी.

जम्मू की गलियों में प्लास्टिक बॉल से अपने क्रिकेट के सफर का आगाज करने वाले ‘जम्मू एक्सप्रेस’ उमरान अब टीम इंडिया के दरवाजे पर दस्तक दे रहे हैं. इलाके के लोगों के साथ परिवार ने जो सपना देखा था, वो अब पूरा होता दिख रहा है.

बेटे के साथ पूरे जम्मू की दुआएं: उमरान की मां
उमरान की बहन शहनाज का कहना है कि उनका भाई टीम इंडिया का हिस्सा बनकर देश का नाम रोशन करेगा. वहीं, उमरान की मां सीमा मलिक का कहना है कि उनके बेटे के साथ पूरे जम्मू की दुआएं हैं. उन्हें उम्मीद है कि लोगों की दुआएं उमरान की सफलता को आसान बनाएंगी. अब सबकी उम्मीद ‘जम्मू एक्सप्रेस’ को ‘इंडियन एक्सप्रेस’ बनते देखने की है.

नेट बॉलर से SRH की टीम में शामिल हुए उमरान
उमरान का आइपीएल में चयन भी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं रहा. वह सनराइजर्स हैदराबाद की टीम का हिस्सा नहीं थे. वह इस टीम में बतौर नेट बॉलर शामिल हुए थे. लेकिन नेट में उनकी रफ्तार ने ऐसा कहर ढाया कि उन्हें सनराइजर्स हैदराबाद ने अपनी टीम में शामिल कर लिया. आइपीएल के पहले ही मैच में उन्होंने 152 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से गेंद फेंकी और रातों-रात पूरी दुनिया में छा गए. अगले ही मैच में उन्होंने 152.95 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से गेंद फेंक अपना ही रिकार्ड तोड़ दिया था.

T20 World Cup: बीसीसीआई ने खुद खड़े किए 7 बड़े दुश्मन! एमएस धोनी पर अब टीम इंडिया को बचाने की जिम्मेदारी

मुझे लगता था उमरान अपनी रफ्तार को लेकर झूठ बोलता है: पिता
न्यूज 18 इंडिया को उमरान के पिता अब्दुल मलिक ने बताया कि वो आज बहुत खुश हैं कि उनका बेटा इस मुकाम पर पहुंचा है. मलिक के मुताबिक, जब उमरान छोटा था और गली मे खेलता था तो मैं उसको मना करता था. लेकिन उसका खेल देखकर धीरे-धीरे मेरा भी भरोसा जगा और मैंने उसे टोकना छोड़ दिया. कई बार वो मुझसे कहता था कि मैं 142 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकता हूं. तो मैं उसकी बात पर यकीन नहीं करता था. लेकिन वो वाकई तेज गेंद फेंकता था. आईपीएल में उसने इसे साबित कर दिखाया. पूरा परिवार इस बात को लेकर खुश है कि उसे टीम इंडिया में बतौर नेट बॉलर चुना गया है. उसकी इस उपलब्धि पर परिवार ही नहीं, पूरा मोहल्ला खुशी मना रहा है.

T20 वर्ल्ड कप : IPL में सीजन की सबसे तेज गेंद फेंकने का मिला गिफ्ट, उमरान मलिक टीम इंडिया में शामिल

जम्मू के लोग उमरान को टीम इंडिया की जर्सी में देखना चाहते
उमरान जम्मू के एक साधारण परिवार से हैं. लेकिन क्रिकेट का जुनून उन्हें इस मुकाम तक ले गया. उमरान की इस उपलब्धि पर जम्मू में उनके फैंस में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है. जम्मू के लोग उमरान को अब टीम इंडिया की जर्सी में देखने की उम्मीद लगाए बैठे हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here