कोच फ्लेमिंग ने बताया CSK की जीत का मंत्र, बोले- हम खिलाड़ियों के साथ रिश्ते बनाने में करते हैं विश्वास

0
72

[ad_1]

दुबई. इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में चौथी बार चैम्पियन बनी चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के कोच स्टीफन फ्लेमिंग (Stephen Fleming) ने कहा कि उनके उम्रदराज योद्धाओं की सफलता का राज यह है कि वे विश्लेषण और संख्याओं पर निर्भर रहने के बजाय अंदर की भावना और खिलाड़ियों के साथ रिश्ते पर भरोसा करते हैं. फ्लेमिंग काफी गर्व महसूस कर रहे थे और संतुष्ट थे कि 40 साल के करिश्माई कप्तान महेंद्र सिंह की अगुआई में टीम ने शुक्रवार को कोलकाता नाइट राइडर्स को 27 रन से शिकस्त देकर खिताब अपने नाम किया. फ्लेमिंग ने कहा, ”हमारे खिलाड़ियों की उम्र को लेकर काफी आलोचना होती थी, लेकिन खिताब जीतना शानदार रहा.”

उन्होंने कहा, ”अनुभव काफी महत्वपूर्ण है, जो खिलाड़ी टीम में हैं और पहले ऐसा कर चुके हैं, उनसे टीम में काफी अनुभव शामिल होता है. हम विश्लेषण और संख्या में ज्यादा गहराई तक नहीं जाते, हम अंदर की भावना और खिलाड़ियों के साथ रिश्ते बनाने पर विश्वास करते हैं. यह पारपंरिक है, लेकिन हमारे लिए यह कारगर होती है.” फ्लेमिंग ने कहा कि उनके लिए आईपीएल के सभी चारों खिताब काफी विशेष हैं लेकिन मौजूदा ट्राफी उनके लिए काफी अहमियत रखती है क्योंकि यह उस टीम ने जीती है जिसे टूर्नामेंट के शुरू में चुका हुआ मान लिया गया था.

IPL 2021 Awards: इमर्जिंग प्लेयर बने ऋतुराज, गेम चेंजर रहे हर्षल पटेल, देखें अवॉर्ड्स की फुल लिस्ट

कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ”इस खिताब को रैंकिंग देना काफी मुश्किल है. यह इसलिए भी विशेष है क्योंकि आप इतनी मेहनत करते हो और यह मेहनत का नतीजा है इसलिए यह खिताब उनके लिए बहुत विशेष हैं.” उन्होंने कहा, ”मुझे लगता है कि 2018 में वापसी में खिताब जीतना भी टीम के लिए काफी भावनात्मक रहा था लेकिन इस बार काफी कड़ी मेहनत की गयी है. मुझे नहीं लगता कि काफी लोगों को हमसे कोई उम्मीद होगी कि हम इस चक्र के दौरान अपनी प्रतिस्पर्धिता बरकरार रख पाएंगे. हमें चुका हुआ मान लिया गया था.”

फ्लेमिंग ने कहा, ”इसलिए इसे लेकर थोड़ा सा संतोष भी है और खिलाड़ियों पर गर्व है कि वे कई महीनों के बाद उन मानकों पर जारी रहे और इन्हें हासिल कर सके जबकि यह उम्रदराज होती टीम के लिए एक चुनौती थी. उन्होंने जो किया और वे जिस तरह से खेले, मुझे उन पर काफी गर्व है.” उन्होंने साथ ही ऋतुराज गायकवाड़ की भी प्रशंसा की जो इस सत्र में सबसे ज्यादा रन जुटाने वाले खिलाड़ी रहे.
जसप्रीत बुमराह शुरू में सचिन-पोंटिंग से बात करने में डरते थे, बताया- कैसे मलिंगा से हुई दोस्ती

फ्लेमिंग ने कहा, ”हां, मैं भी उसे भारतीय क्रिकेट के अगले सितारे के रूप में देखता हूं. वह (ऋतुराज) मेरी निगाहों में पहले ही सुपरस्टार है. जब हमने उसे पिछले साल उतारा था तो लोग थोड़ी आलोचना कर रहे थे लेकिन हमें उससे काफी उम्मीदें थीं.” उन्होंने कहा, ”हमें खुशी है कि वह सत्र का अंत शानदार तरीके से कर सका. वह शानदार खिलाड़ी है.” उन्होंने कहा, ”उसने इस साल सलामी जोड़ी के रूप में बेहतरीन प्रदर्शन किया. उसके साथ फाफ (डुप्लेसी) ने इतने सारे रन जुटाए, जिसकी बदौलत भी हम आईपीएल खिताब जीत सके.”

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here