राहुल द्रविड़ के टीम इंडिया का कोच बनने का क्रेडिट वसीम जाफर ने दिया शार्दुल ठाकुर को

0
58

[ad_1]

नई दिल्ली. पूर्व दिग्गज बल्लेबाज राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) संयुक्त अरब अमीरत (UAE) में खेले जाने वाले टी20 विश्व कप (ICC T20 World Cup 2021) के बाद भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के कोच बनने के लिए तैयार हो गए हैं. द्रविड़ हालांकि पहले इस जिम्मेदारी के लिए तैयार नहीं थे, लेकिन भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) की ओर जोर देने के बाद उन्होंने इसके लिए हामी भर दी. भारत के सबसे महानतम खिलाड़ियों में से एक 48 वर्षीय द्रविड़ पिछले छह वर्षों से भारत ए और अंडर -19 प्रणाली के प्रभारी हैं. उनकी देखरेख मे ऋषभ पंत, आवेश खान, पृथ्वी शॉ, हनुमा विहारी और शुभमन गिल जैसे खिलाड़ियों ने जूनियर स्तर से राष्ट्रीय टीम का सफर तय किया है. वह फिलहाल बेंगलुरु स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के प्रमुख है. राहुल द्रविड़ के टीम इंडिया के कोच (Team India Coach) बनने की खबर के बाद से सोशल मीडिया पर भी फैन्स और दिग्गजों के रिएक्शन आने शुरू हो गए हैं.

एशेज विजेता इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने कहा है कि अगर राहुल द्रविड़ के भारत के मुख्य कोच के रूप में पदभार संभालने की खबरें सही हैं तो “बाकी दुनिया बेहतर सावधान रहें”. वहीं, आईपीएल में पंजाब किंग्स के बल्लेबाजी कोच वसीम जाफर ने इसके लिए मजेदार अंदाज में शार्दुल ठाकुर को जिम्मेदार बताया है. भारत के पूर्व खिलाड़ी वसीम जाफर ने राहुल द्रविड़ की संभावित नियुक्ति का श्रेय ऑलराउंडर शार्दुल ठाकुर को दिया और एक मजेदार ट्वीट किया.

T20 World Cup: बीसीसीआई ने खुद खड़े किए 7 बड़े दुश्मन! एमएस धोनी पर अब टीम इंडिया को बचाने की जिम्मेदारी

वसीम जाफर ने ट्वीट करते हुए लिखा, ”कल तक खबरें आ रही थीं कि राहुल द्रविड़ एनसीए में रहने वाले हैं. फिर भी सुबह-सुबह उनके भारत के कोच बनने की खबर आई तो आधी रात के आसपास क्या हुआ? मेरा सबसे अच्छा अनुमान है कि लॉर्ड शार्दुल ने अपने जन्मदिन के केक पर मोमबत्तियां बुझाई, राहुल भाई के कोच बनने की कामना करते हुए.”

अगर द्रविड़ टीम इंडिया के मुख्य कोच नहीं बनते हैं, तो उन्हें बेंगलुरु में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) के प्रमुख के रूप में पद छोड़ना होगा. वहीं, माइकल वॉन ने ट्वीट करते हुए लिखा, ”अगर यह सच है कि राहुल द्रविड़ को अगला भारतीय कोच बनना है तो मुझे लगता है कि बाकी दुनिया बेहतर सावधान रहें…!”

बता दें कि बीसीसीआई के एक अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर पीटीआई-भाषा से कहा, ”हां, राहुल 2023 विश्व कप तक भारतीय टीम को कोचिंग देने के लिए सहमत हो गए हैं. शुरू में, वह अनिच्छुक थे, लेकिन यह समझा जाता है कि अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह ने राहुल के साथ आईपीएल फाइनल के दौरान बैठक की थी और जिम्मेदारी के लिए उन्हें मनाने में सफल रहे.” उन्होंने कहा, ”यह अंतरिम जिम्मेदारी नहीं होगी.” यह समझा जा रहा है कि द्रविड़ के भरोसेमंद पारस महाम्ब्रे टीम के गेंदबाजी कोच होंगे जबकि विक्रम राठौर के बल्लेबाजी कोच के रूप में बने रहने की संभावना है. यह  पता चला है कि बीसीसीआई अब भी इस पद के लिए एक विज्ञापन देगा ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि उचित प्रक्रिया का पालन किया गया है.

रवि शास्त्री के कार्यकाल में भारतीय टीम की सफलता को देखने के बाद बीसीसीआई फिर से भारतीय कोच नियुक्त करना चाहता है, लेकिन उस कद के कम ही विकल्प है. एक पूर्व भारतीय कप्तान और दिग्गज ने पहले ही मौजूदा टीम प्रणाली में कोच बनने से इनकार कर दिया था क्योंकि विराट कोहली अभी भी टेस्ट और वनडे कप्तान बने हुए हैं. यह पता चला है कि कुछ पूर्व दिग्गज खिलाड़ी कोहली के नेतृत्व वाली टीम को कोचिंग देने से कतराते थे. उनके पितृत्व अवकाश के दौरान ऑस्ट्रेलिया में भारतीय टीम की शानदार जीत के बाद हालांकि इस स्थिति में बदलाव हुआ है.
टीम इंडिया का हेड कोच बनने के लिए राहुल द्रविड़ ने भरी हामी, जानिए कितने साल का हुआ करार और कितनी सैलरी मिलेगी

रवि शास्त्री को बीसीसीआई से उनकी सेवाओं के लिए लगभग साढ़े आठ करोड़ रुपये  मिलता है. यह समझा जाता है कि बीसीसीआई द्रविड़ को भी बड़ी राशि की पेशकश कर रहा है, जो उनके एनसीए पारिश्रमिक के साथ-साथ शास्त्री के वर्तमान वेतन से अधिक होगा. भारतीय टीम में द्रविड़-म्हाम्ब्रे संयोजन होने के पीछे मूल विचार यह सुनिश्चित करना है कि अगले दो वर्षों में जब इस टीम में बदलाव का दौर शुरू होगा तो सुचारू रूप से हो सके.

(भाषा के इनपुट के साथ)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here