ON This Day: भारत से खेल चुके खिलाड़ी को पाकिस्तान ने बनाया अपना पहला कप्तान, लेकिन टीम इंडिया ने चटाई धूल

0
31

[ad_1]

नई दिल्ली. पाकिस्तान की क्रिकेट टीम ने आज ही के दिन यानी 16 अक्टूबर को अपना पहला इंटरनेशनल मुकाबला खेला था. वो भी अपने चिर-प्रतिद्वंद्वि भारत से. पाकिस्तान ने अब्दुल हफीज कारदर (Abdul Hafeez Kardar) को अपना पहला कप्तान बनाया था. कारदर इससे पहले भारत की ओर से 3 टेस्ट खेल चुके थे. लेकिन बंटवारे के बाद वे पाकिस्तान चले गए थे. फिरोजशाह कोटला मैदान पर खेले गए टेस्ट में टीम इंडिया (Team India) ने पाकिस्तान को पारी से रौंद दिया था. इस तरह से पाकिस्तान ने हार के साथ इंटरनेशनल क्रिकेट की शुरुआत की थी.

16 अक्टूबर 1952 को दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर शुरू हुए टेस्ट में टीम इंडिया के कप्तान लाला अमरनाथ ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया था. टीम ने पहली पारी में 372 रन का स्कोर खड़ा किया. तीसरे नंबर पर उतरे विजय हजारे ने 72 और हेमू अधिकारी ने नाबाद 81 रन बनाए थे. 11वें नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले गुलाम अहमद ने 50 रन बनाए. उन्होंने अंतिम विकेट के लिए अधिकारी के साथ 109 रन की बड़ी साझेदारी की थी. टीम ने 263 रन पर 9 विकेट गंवा दिए थे.

वीनू मांकड़ ने झटके थे 13 विकेट

मैच में भारत की ओर से बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज वीन मांकड़ ने यादगार प्रदर्शन करते हुए 13 विकेट झटके थे. यह आज भी किसी एक भारतीय गेंदबाज का पाकिस्तान के खिलाफ दूसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. पाकिस्तान की टीम पहली पारी में 150 रन बनाकर आउट हो गई. 7 खिलाड़ी दहाई के आंकड़े तक नहीं पहुंच सके. हनीफ मोहम्मद ने सबसे अधिक 51 रन बनाए. कप्तान कारदर 4 रन बनाकर आउट हुए. मांकड़ ने 47 ओवर में 52 रन देकर 8 विकेट लिए. उन्होंने 27 ओवर मेडन डाले.

IPL 2021: केकेआर को मिली अच्छी शुरुआत, ‘लकी मैन’ ने कराई वापसी, CSK की जीत के 5 कारण

यह भी पढ़ें: Asia Cup: टीम इंडिया वनडे खेलने जाएगी पाकिस्तान! 15 साल बाद फैंस देख सकेंगे रोमांचक मुकाबले

दूसरी पारी में सिर्फ 152 रन बने

पाकिस्तान की टीम दूसरी पारी में भी बड़ा स्कोर नहीं खड़ा कर सकी. टीम 58.2 ओवर में 152 रन बनाकर आउट हो गई. 8 बल्लेबाज दहाई के आंकड़े तक नहीं पहुंच सके थे. कप्तान कारदर दूसरी पारी में 43 रन बनाकर नाबाद रहे. वीनू मांकड़ ने दूसरी पारी में 79 रन देकर 5 विकेट लिए. इसके अलावा ऑफ स्पिनर गुलाम अहमद ने 4 विकेट झटके. इस तरह से टीम इंडिया ने मैच पारी और 70 रन से जीत लिया. मैच में भारतीय स्पिन गेंदबाजों ने 18 विकेट लिए थे. यह आज भी पाकिस्तान के खिलाफ एक मैच में टेस्ट खेलने वाली किसी भी टीम के स्पिन गेंदबाजों का सबसे अच्छा प्रदर्शन है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here