T20 World Cup: टी20 वर्ल्ड कप जीतना है तो आईपीएल से लेना होगा सबक, पिच को लेकर आई बड़ी खबर

0
19

[ad_1]

नई दिल्ली. टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup 2021) के पहले राउंड के मुकाबले शुरू हो चुके हैं. सुपर-12 के मुकाबले 23 अक्टूबर से यूएई (UAE) में होंगे. इसमें सभी बड़ी टीमें उतरेंगी. टीम इंडिया पहले मुकाबले में 24 अक्टूबर को पाकिस्तान से भिड़ेगी. ऐसे में सभी टीमों को आईपीएल (IPL) के पिछले 2 सीजन के हुए मुकाबलों से सीख लेनी होगी. टी20 वर्ल्ड कप के मुकाबले अक्टूबर-नवंबर में हो रहे हैं. इस दौरान यहां मौसम ठंडा होने लगता है. रात के मैच के ओस पड़ती है. ऐसे में टॉस महत्वूर्ण हो जाएगा. यानी प्लेइंग-11 के अलावा टॉस भी कई मैच के रुख तय कर सकते हैं.

आईपीएल 2020 का पूरा सीजन यूएई में सितंबर से नवंबर के बीच खेला गया था. वहीं आईपीएल 2021 के दूसरे चरण के कुल 31 मुकाबले सितंबर-अक्टूबर के दौरान हुए. क्रिकइंफो के अनुसार, आईपीएल 2020 की बात करें तो शुरुआती चरण में पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम ने 77 फीसदी मुकाबले जीते थे. लेकिन जैसे-जैसे मौसम बदला और अक्टूबर-नवंबर आया, यह पूरी तरह उलट गया. इस दौरान लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम ने 77 फीसदी मुकाबले जीते. ओस के कारण दूसरी पारी में बल्लेबाजी आसान हो जाती है. गेंदबाजों के काफी मुश्किल होती है.

टीम इंडिया दुबई और अबुधाबी में मुकाबले खेलेगी

टीम इंडिया को सुपर-12 के 5 में से 4 मुकाबले दुबई में खेलने हैं, जबकि एक मुकाबला अबुधाबी में. दुबई की पिच को देखें तो यहां बल्लेबाजी आसान रहती है. पिछले 2 आईपीएल सीजन की बात करें तो यहां 150 से 160 का औसत स्कोर बना. यहां स्पिनर्स के मुकाबले तेज गेंदबाज अधिक सफल रहे. आईपीएल 2020 की बात करें तो पहले हाफ के 15 में से 10 मुकाबले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम ने जीते. वहीं दूसरे हाफ में 12 में से 10 मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम को हार मिली.

अबुधाबी में देखने को मिलेंगे बड़े स्कोर

अबुधाबी की पिच को यूएई की सबसे अच्छे पिच माना जाता है. आईपीएल के दाैरान भी यहां खूब रन बने थे. दिन के मुकाबले में दोनों टीमों को कोई फायदा नहीं मिलता है. लेकिन शाम के मैच में लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम फायदे में रहती है. आईपीएल 2020 के कुल 60 मैचों की बात करें तो पहले 30 में से 21 मैच पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम ने जीते थे. लेकिन दूसरे हाफ के 30 में से 22 मैच लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम ने जीते. इतना ही नहीं दूसरे हाफ में अबुधाबी और दुबई में खेले गए 18 में से 15 मैच लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम ने जीते. इससे साफ है कि टी20 वर्ल्ड कप के दौरान टॉस जीतने वाली टीमें टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी ही करना पसंद करेंगी, खासकर रात के मैचों में.

यूएई की तीनाें पिच पर तेज गेंदबाज अधिक सफल

आईपीएल 2020 और आईपीएल 2021 के रिकॉर्ड को देखें तो यूएई की तीनों पिच तेज गेंदबाजों का औसत अच्छा रहा है. दुबई में तेज गेंदबाजाें ने 27 की औसत से 285 विकेट लिए. इकोनॉमी 8.34 की रही. वहीं स्पिनर्स दोनों सीजन में 31 की औसत से सिर्फ 130 विकेट ले सके. इकोनॉमी 7.32 की रही. अबुधाबी में तेज गेंदबाजों ने 29 की औसत से 209 विकेट लिए. इकोनॉमी 8.44 की रही. वहीं स्पिनर्स 33 की औसत से 96 विकेट ही ले सके. इकोनॉमी 7.31 की रही. शारजाह की बात करें तो तेज गेंदबाजों को 25 की औसत से 173 विकेट मिले. इकोनॉमी 8.04 की रही. स्पिनर्स ने 32 की औसत से 72 विकेट लिए. इकोनॉमी 7.66 की रही. तीनों पिच की बात करें तो स्पिनर्स तेज गेंदबाजाें के मुकाबले अधिक कंजूस रहे हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here