WI Vs ENG: इंग्लैंड और वेस्टइंडीज़ की भिड़ंत आज, क्या इंग्लिश टीम पिछले फ़ाइनल में हार का लेगी बदला?

0
21

[ad_1]

दुबई. साल 2016… कोलकाता का ऐतिहासिक इडेन गार्डेंस मैदान… ये टी-20 वर्ल्ड कप का फ़ाइनल मैच था. 19वें ओवर तक इंग्लैंड का चैंपियन बनना तय लग रहा था. लेकिन आखिरी ओवर में वेस्टइंडीज़ के कार्लोस ब्रेथवेट ने 4 छक्के लगाकर इंग्लैंड के सपने को चकानचूर कर दिया. पांच साल बाद एक बार फिर से ये दोनों टीमें टी-20 वर्ल्ड कप (WI Vs ENG) के मुक़ाबले में आमने-सामने होगी. ऐसे में आज इंग्लैंड के सामने इस हार का बदला लेने का सुनहरा मौका होगा.

वेस्टइंडीज की टीम में टी20 के कई विस्फोटक बल्लेबाज हैं लेकिन पाकिस्तान और अफगानिस्तान के खिलाफ अभ्यास मैचों में निराशाजनक प्रदर्शन के कारण टीम का मनोबल गिरा होगा. कायरन पोलार्ड की अगुवाई वाली टीम को न सिर्फ अपने खेल में सुधार करने बल्कि खिलाड़ियों का मनोबल बनाये रखने की भी जरूरत पड़ेगी.

वॉर्म-अप मैच में वेस्टइंडीज़ फेल
दोनों अभ्यास मैचों में वेस्टइंडीज की बल्लेबाजी अच्छी नहीं रही. पाकिस्तान के खिलाफ कैरेबियाई टीम सात विकेट पर 130 रन ही बना पाई. जबकि अफगानिस्तान के खिलाफ 189 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए पांच विकेट पर 133 रन तक ही पहुंच पायी थी. अफगानिस्तान के खिलाफ केवल रोस्टन चेज टिककर खेल पाये लेकिन उन्होंने भी अपने 54 रन के लिये 58 गेंदें खेली. दोनों मैचों में उसका कोई भी बल्लेबाज अपनी अच्छी शुरुआत का फायदा नहीं उठा पाया.पाकिस्तान के खिलाफ पोलार्ड ने 10 गेंदों पर 23 रन बनाये और डेथ ओवरों में उनकी विस्फोटक बल्लेबाजी अब भी टीम के लिये बेहद महत्वपूर्ण साबित होगी.

क्या होगा क्रिस गेल का?
वेस्टइंडीज के लिये क्रिस गेल की फॉर्म सबसे बड़ी चिंता है जो कि कैरेबियाई प्रीमियर लीग के नौ मैचों में केवल 165 रन बना पाये. इसके अलावा इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के यूएई चरण में पंजाब किंग्स की तरफ से केवल दो मैच ही खेल पाये थे.

फिटनेस की फांस
अनुभवी आलराउंडर आंद्रे रसेल फिटनेस संबंधी मसलों के कारण परेशान हैं. जांघ की मांसपेशियों में खिंचाव के कारण वह यूएई में कोलकाता नाइट राइडर्स की तरफ से केवल तीन मैचों में खेले थे. गेंदबाजी की बात की जाए तो अभ्यास मैचों में केवल स्पिनर हेडन वाल्श और बायें हाथ के तेज गेंदबाज ओबेद मैकॉय ही प्रभाव छोड़ पाये थे.

इंग्लैंड का प्लान
दूसरी तरफ मौजूदा वनडे विश्व चैंपियन इंग्लैंड 2016 की कड़वी यादों को भुलाकर नये सिरे से शुरुआत करने के लिये तैयार है. वेस्टइंडीज के कार्लोस ब्रेथवेट ने 2016 में फाइनल में लगातार चार छक्के जड़कर इंग्लैंड की खिताब जीतने की उम्मीदों पर पानी फेर दिया था. इंग्लैंड का सामना फिर से उसी टीम से है तथा इयोन मोर्गन की अगुवाई वाली टीम इस बार किसी तरह की ढिलायी नहीं बरतना चाहेगी.

ये भी पढ़ें:-AUS Vs SA: ऑस्ट्रेलिया का सबसे बड़ा इम्तिहान आज, दक्षिण अफ्रीका को रोकना मुश्किल चुनौती

मजबूत टीम
बेन स्टोक्स, जोफ्रा आर्चर और सैम करेन की अनुपस्थिति के बावजूद इंग्लैंड की टीम संतुलित लगती है. उसकी बल्लेबाजी में जैसन रॉय, जोस बटलर और जॉनी बेयरस्टॉ जैसे आक्रामक बल्लेबाज हैं जो किसी भी गेंदबाजी की धज्जियां उड़ाने में सक्षम हैं. इंग्लैंड अपने पहले अभ्यास मैच में भारत से हार गया था लेकिन उसने दूसरे मैच में न्यूजीलैंड को हराकर अच्छी वापसी की थी. भारत के खिलाफ बेयरस्टॉ और मोईन अली जबकि न्यूजीलैंड के खिलाफ बटलर ने अच्छी बल्लेबाजी की थी.

वेस्टइंडीज: कारन पोलार्ड (कप्तान), निकोलस पूरण, ड्वेन ब्रावो, रोस्टन चेज, आंद्रे फ्लेचर, क्रिस गेल, शिमरोन हेटमायर, एविन लुईस, ओबेद मैककॉय, लेंडल सिमंस, रवि रामपॉल, आंद्रे रसेल, ओशेन थॉमस, हेडन वॉल्श जूनियर और अकील हुसैन.

इंग्लैंड:ऑयन मोर्गन (कप्तान), मोईन अली, जॉनी बेयरस्टो, सैम बिलिंग्स, जोस बटलर, टॉम करेन, क्रिस जॉर्डन, लियाम लिविंगस्टोन, डेविड मलान, टाइमल मिल्स, आदिल राशिद, जेसन रॉय, डेविड विली, क्रिस वोक्स, मार्क वुड. (एजेंसी इनपुट के साथ)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here