IPL 2022 Team Auction: अहमदाबाद और लखनऊ की टीमें खेलेंगी आईपीएल, बीसीसीआई को मिले 12 हजार करोड़

0
24

[ad_1]

नई दिल्ली. आईपीएल की 2 नई टीमों का ऐलान हो गया. इसके साथ ही 2022 से आईपीएल में 8 के बजाए 10 टीमें एक-दूसरे के खिलाफ खेलती नजर आएंगी. ये टीम अहमदाबाद (Ahmedabad) और लखनऊ (Lucknow) हैं. ऑक्शन में (IPL 2022 Team Auction) अहमदाबाद को सीवीसी कैपिटल (CVC Capital) ने 5200 करोड़ जबकि लखनऊ को आरपी संजीव गोयनका ग्रुप (RP Sanjiv Goenka Group) ने 7090 करोड़ रुपए में खरीदा. यानी दोनों टीम से बीसीसीआई (BCCI) को लगभग 12,290 हजार करोड़ रुपए मिले. क्रिकइंफो से बात करते हुए संजीव गोयनका ने कहा कि वे आईपीएल में वापसी करके खुश हैं. अभी तो यह शुरुआत है. हम अच्छी टीम बनाएंगे. इससे पहले ग्रुप ने पुणे की टीम खरीदी थी. टीम 2016 और 2017 में आईपीएल में खेली भी थी.

ऐसा पहली बार नहीं होगा कि लीग में 10 टीम में होंगी. 2011 में भी आईपीएल में 10 टीमें खेली थीं. उस वक्त कोच्चि टस्कर्स केरला और पुणे वॉरियर्स नाम की फ्रेंचाइजी लीग का हिस्सा बनीं थीं. आईपीएल की दो नई टीमें के लिए रेस में 6 शहर थे. इसमें अहमदाबाद, लखनऊ, कटक, गुवाहाटी, धर्मशाला और इंदौर का नाम था. हालांकि, सबसे मजबूत दावेदार अहमदाबाद ही थी. इसकी बड़ी वजह वहां इस साल बना दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम. इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता 1 लाख से ज्यादा है. इसके अलावा लखनऊ का नाम भी इस लिस्ट में सबसे आगे था. इस शहर में भी विश्वस्तरीय क्रिकेट स्टेडियम है.

दो टीमों को खरीदने के लिए कुल 22 औद्योगिक घरानों और कंपनियों ने दिलचस्पी दिखाई थी. इन सभी ने टेंडर डॉक्यूमेंट खरीदे थे. बोली लगाने वालों में अडानी ग्रुप, इंग्लिश फुटबॉल क्लब मैनचेस्टर यूनाइटेड के मालिक ग्लेजर परिवार, टोरेंट फार्मा, अरबिंदो फार्मा, पूर्व मंत्री नवीन जिंदल की जिंदल स्टील के अलावा कई प्राइवेट इक्विटी से जुड़े लोग भी शामिल थे. कभी पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का मैनेजमेंट करने वाली रीति स्पोर्ट्स ने भी आईपीएल की दो नई फ्रेंचाइजी में से एक के लिए बोली लगाई थी.

बीसीसीआई ने 2 बार बढ़ाई तारीख

बीसीसीआई ने दो नई आईपीएल टीमों को खरीदने के लिए जो शर्तें जारी की थीं. उसमें यह था कि निवेशक दोनों टीमों को खरीदने के लिए आवेदन कर सकता था. लेकिन अंत में वो सिर्फ एक ही टीम खरीद सकता था. पहले बीसीसीआई ने बीड खोलने का दिन 17 अक्टूबर तय किया था. लेकिन इसमें देरी हो गई. क्योंकि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने नई टीमों को खरीदने के लिए निवेशकों की रूचि को देखते हुए पहले दो बार- पहले 10 अक्टूबर और फिर 20 अक्टूबर को टेंडर डॉक्यूमेंट खरीदने की डेडलाइन बढ़ा दी थी. हालांकि, आज दुबई में बीडिंग प्रक्रिया पूरी हो गई.

यह भी पढ़ें: IPL की 4 फ्रेंचाइजी अब दफन हैं इतिहास के पन्नों में, एक तो फाइनल भी खेली, याद हैं ना?

यह भी पढ़ें: T20 World Cup: ICC ने जीत के बाद श्रीलंका को दिया झटका, खिलाड़ी को सुनाई सजा

इतिहास की सबसे महंगी टीम

बीसीसीआई ने नई टीमों के लिए 2000 करोड़ रुपए का बेस प्राइस तय किया था. हालांकि, पहले से ही उम्मीद थी कि नीलामी में इससे अधिक रकम मिलेगी और ऐसा ही हुआ. इससे पहले 2010 में सहारा ग्रुप ने पुणे फ्रेंचाइजी को 370 मिलियन डॉलर में खरीदा था. इससे पहले 2008 में रिलायंस ग्रुप ने मुंबई इंडियंस को 111.9 मिलियन डॉलर में खरीदा था. लखनऊ की टीम इतिहास की सबसे महंगी टीम बन गई है.

अमेरिका की प्राइवेट कंपनी है सीवीसी

सीवीसी कैपिटल अमेरिका की प्राइवेट एक्विटी कंपनी है. कंपनी ने इससे पहले फॉर्मूला-1 में भी साझेदारी खरीदी है. ग्लोबल फर्म ने पिछले दिनों सिक्स नेशंस रग्बी टूर्नामेंट में 14.3 फीसदी हिस्सेदारी 509 मिलियन डॉलर में खरीदी है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here