IPL Auction: 10 टीमों वाले आईपीएल का क्या होगा फॉर्मेट, कितने होंगे मैच, जानें हर सवाल का जवाब

0
43

[ad_1]

नई दिल्ली. आईपीएल 2022 (IPL 2022) का रोमांच बढ़ गया है. 8 की जगह 10 टीमाें के बीच भिड़ंत देखने को मिलेगी. इतना ही नहीं मैचों की संख्या भी 60 से बढ़कर 74 हो गई है. बीसीसीआई (BCCI) की ओर से सोमवार को आयोजित ऑक्शन में अहमदाबाद (Ahmedabad) को सीवीसी कैपिटल (CVC Capital) ने जबकि लखनऊ (Lucknow) को आरपी संजीव गोयनका ग्रुप (RP Sanjiv Goenka Group) ने खरीदा. दोनों टीम से बोर्ड को लगभग 13 हजार करोड़ रुपये मिलने हैं, लेकिन इसके लिए उसे लंबा इंतजार करना होगा. इतना ही नहीं हर फ्रेंचाइजी की वैल्यू से लेकर आमदनी तक में बढ़ाेतरी होगी. टी20 लीग में होने वाले बदलाव को इस तरह से समझा जा सकता है.

  • क्या नई टीम के आने के बाद मैचों की संख्या में बढ़ोतरी होगी?

    जवाब: हां. पिछले सीजन में 60 मुकाबले हुए थे. अगले सीजन से 74 मुकाबले खेले जाएंगे. इससे पहले 2011 में भी 74 मुकाबले खेले गए थे. हर टीम को घर में 7 और घर के बाहर 7 मुकाबले खेलने हैं. इससे तय है कि टीमों को ग्रुप में नहीं बांटा जाएगा.

  • 2 नई टीमें मेगा ऑक्शन से पहले कैसे खिलाड़ियों को रिटेन कर सकेंगी?

    जवाब: बीसीसीआई की ओर से हालांकि अब तक रिटेंशन को लेकर नियम जारी नहीं किए गए हैं. लेकिन एक टीम अधिकतम 4 खिलाड़ियों को रिटेन कर सकेंगी. इसमें विदेशी खिलाड़ी भी शामिल होंगे. 2 नई टीमें भी ऑक्शन से पहले 4 खिलाड़ियों को खरीद सकेंगी. 2016 में पुणे और गुजरात को भी ऐसे ही मौका दिया गया था.

  • टी20 लीग के कार्यक्रम और इंटरनेशनल कार्यक्रम में क्या प्रभाव पड़ेगा?

  • जवाब: आईपीएल में मैचों की संख्या बढ़नी है और खेलने वाले खिलाड़ियाें की संख्या भी बढ़ेगी. ऐसे में टूर्नामेंट की विंडो बढ़ जाएगी. ऐसे में खिलाड़ियों को इंटरनेशनल मुकाबले खेलने के लिए कम समय मिलेगा.

  • 8 दूसरी फ्रेंचाइजी के वैल्यू पर इसका कोई असर होगा?

    जवाब: हां. बिल्कुल होगा. 2018 में जब जेएसडब्ल्यू ने दिल्ली कैपिटल्स की 50 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी तो उन्हें 1100 करोड़ रुपये देने पड़े थे. दो नई टीमों के 7 हजार करोड़ और 5 हजार करोड़ रुपये से अधिक दाम में ऑक्शन के बाद अन्य फ्रेंचाइजी की वैल्यू में भी बढ़ोतरी होगी. जो ग्रुप नई टीमें नहीं खरीद सके हैं, वे अभी भी हिस्सेदारी खरीद सकते हैं.

  • बीसीसीआई को क्या 2 नई फ्रेंचाइजी से तुरंत पूरे पैसे मिल गए?

    जवाब: नहीं. फ्रेंचाइजी को 10 साल में यह राशि बीसीसीआई को देनी है. 11वें साल से हर फ्रेंचाइजी को कुल रेवेन्यू की 20 फीसदी राशि बोर्ड को बतौर फ्रेंचाइजी फीस देनी होगी.

  • टूर्नामेंट में उतरने वाले खिलाड़ियों को क्या फायदा मिलेगा?

  • जवाब: हां. आईपीएल 2022 से पहले बोर्ड की ओर से मेगा ऑक्शन कराया जाएगा. टीमों का पर्स बढ़ाकर 95 से 100 करोड़ रुपये किया जा सकता है. अब सभी 10 टीमें खिलाड़ियों पर अधिक पैसे खर्च कर सकेंगी. खिलाड़ियों की आमदनी में होगी बढ़ोतरी.

  • क्या 2 नई टीम के आने से फ्रेंचाइजी की आय में बढ़ोतरी होगी?

    जवाब: हां. हर फ्रेंचाइजी के कमाई के 3 मुख्य सोर्स हैं. पहला, सेंट्रल पूल. यानी मीडिया राइट्स और सेंट्रल स्पॉन्सरशिप से मिलने वाली राशि. दूसरा टीम स्पॉन्सरशिप और तीसरा गेट रेवेन्यू. पहले सेंट्रल पूल से एक फ्रेंचाइजी को लगभग 200 करोड़ मिलते थे. अब इसके बढ़कर 270 से 350 करोड़ रुपये होने की संभावना है.

  • [ad_2]

    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here