IPL 2022: सीवीसी कैपिटल की बढ़ सकती मुश्किल, BCCI ने शुरू की जांच!

0
35

[ad_1]

नई दिल्ली. सीवीसी कैपिटल (CVC Capital) एक निजी इक्विटी फर्म, जिसने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में अहमदाबाद फ्रेंचाइजी (Ahmedabad Franchise) हासिल करने के लिए बोली जीती है. विदेशों में सट्टा लगाने वाली कंपनियों के साथ अपने संबंध के कारण अब यह कंपनी विवादों में घिर गई है. अब यह कंपनी आईपीएल फ्रेंचाइजी खरीद पाएगी या नहीं, इसके लिए उसे दिवाली तक इंतजार करना होगा. इस कंपनी भाग्य अब क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ऑफ इंडिया (BCCI) तय करेगा. बीसीसीआई को सट्टेबाजी के कारोबार से जुड़ी कंपनियों के साथ किसी भी तरह का संबंध बनाने की इजाजत नहीं है. हालांकि, इस मामले पर अभी तक भारतीय बोर्ड की ओर से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है, लेकिन पता चला है कि बीसीसीआई की कानूनी टीम ने अपनी जांच शुरू कर दी है, जिसके आधार पर यह तय किया जाएगा कि सीवीसी कैपिटल अहमदाबाद फ्रेंचाइजी की मालिक बनी रह सकती है या नहीं.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, बीसीसीआई की कानूनी टीम को सट्टेबाजी कंपनियों में सीवीसी कैपिटल पार्टनर्स के निवेश पर उचित जांच पूरी करने के लिए कुछ और समय की आवश्यकता होगी. बीसीसीआई के सूत्र ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, ”औपचारिकताएं अभी पूरी नहीं हुई हैं. बीसीसीआई की कानूनी टीम इस पर काम कर रही है और हम उम्मीद कर रहे हैं कि दिवाली के बाद हम रिपोर्ट दे देंगे. बीसीसीआई के पास पूरा अधिकार है कि वे किसको टीम आवंटित करेंगे, यह बोर्ड का विवेक है और हम केवल एक नई आईपीएल फ्रेंचाइजी (सीवीसी) पर फैसला कर सकते हैं, जब कानूनी टीम हमारे पास रिपोर्ट लाती है.”

बड़ी खबर: श्रेयस अय्यर बन सकते हैं नई फ्रेंचाइजी के कप्तान! DC छोड़ने को तैयार…

सीवीसी कैपिटल्स ने अहमदाबाद फ्रेंचाइजी का स्वामित्व हासिल करने के लिए 5,625 करोड़ रुपये की बोली जीती थी, जो अगले सीजन से आईपीएल में शामिल होगी. यदि बीसीसीआई उनके दावों को रद्द करने का फैसला करता है, तो अगला सबसे अच्छा बोली लगाने वाला – अडानी समूह (5,100 करोड़ रुपये) मौका हथियाने के लिए मैदान में होगा.

रिपोर्ट में आगे दावा किया गया है कि टिपिको और सिसल जैसी सट्टेबाजी कंपनियों का नाम सीवीसी कैपिल पार्टनर्स की वेबसाइट पर ‘पोर्टफोलियो कंपनियों’ की सूची में है. हालांकि, इस बारे में इक्विटी फर्म की ओर से आधिकारिक पुष्टि अभी प्राप्त नहीं हुई है. आईपीएल फ्रेंचाइजी में बोली लगाना सीवीसी कैपिटल का भारतीय क्रिकेट में पहला निवेश है. इससे पहले, उनके पास फॉर्मूला 1 रेसिंग, फुटबॉल और रग्बी में हिस्सेदारी थी.

IPL 2022: ईशान किशन, ऋतुराज गायकवाड़ और पृथ्वी शॉ को रिटेन करेंगी फ्रेंचाइजी!

ससे पहले आईपीएल के पूर्व प्रमुख ललित मोदी ने आईपीएल में निजी इक्विटी फर्म सीवीसी कैपिटल्स पार्टनर्स की एंट्री पर सवाल उठाए थे, क्योंकि इसका निवेश सट्टेबाजी गतिविधियों से जुड़ी कंपनियों में है. मोदी ने ट्वीट किया था, ”मुझे लगता है कि सट्टेबाजी कंपनियां आईपीएल टीम खरीद सकती हैं. शायद कोई नया नियम है. बोली जीतने वाला एक बोलीदाता एक बड़ी सट्टेबाजी कंपनी का मालिक भी है. आगे क्या होगा. क्या बीसीसीआई ने अपना काम नहीं किया. भ्रष्टाचार रोधी इकाइयां ऐसे मामले में क्या करेंगी.”

बता दें कि नई फ्रेंचाइजी 2022 सीजन से आईपीएल में भाग लेंगी, बशर्ते कि बोली लगाने वाले आईटीटी दस्तावेज में सभी औपचारिकताओं को पूरा करें. आईपीएल 2022 सीजन में 10 टीमें शामिल होंगी और इसमें 74 मैच होंगे, जिसमें प्रत्येक टीम 7 घरेलू मैदान पर और 7 मैच बाहर खेलेगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here