एक ही टीम के खिलाफ डेब्यू और आखिरी टेस्ट खेलने वाले ‘राउडी’ का निधन, भारत के खिलाफ था बेमिसाल रिकॉर्ड

0
47

[ad_1]


ऑस्ट्रेलिया के पूर्व स्पिनर एश्ले मैलेट (Ashley Mallett died of cancer) का 76 साल की उम्र में कैंसर के कारण निधन हो गया. मैलेट ने 12 साल के अंतरराष्ट्रीय करियर में कुल 38 टेस्ट और 9 वनडे खेले थे. (AFP)

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व स्पिनर एश्ले मैलेट (Ashley Mallett died of cancer) का 76 साल की उम्र में कैंसर के कारण निधन हो गया. मैलेट ने 12 साल के अंतरराष्ट्रीय करियर में कुल 38 टेस्ट और 9 वनडे खेले थे. (AFP)

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व स्पिनर एशले मैलेट (Ashley Mallett died of cancer) का 76 साल की उम्र में कैंसर के कारण निधन हो गया. साउथ ऑस्ट्रेलिया के इस स्पिनर ने शुक्रवार देर रात एडिलेड में आखिरी सांस ली. मैलेट ने 12 साल के अंतरराष्ट्रीय करियर में कुल 38 टेस्ट और 9 वनडे खेले थे.

नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व स्पिनर एशले मैलेट (Ashley Mallett died of cancer) का 76 साल की उम्र में कैंसर के कारण निधन हो गया. साउथ ऑस्ट्रेलिया के इस स्पिनर ने शुक्रवार देर रात एडिलेड में आखिरी सांस ली. मैलेट ने 12 साल के अंतरराष्ट्रीय करियर में कुल 38 टेस्ट और 9 वनडे खेले थे. उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ 1968 में टेस्ट डेब्यू किया था और इसी टीम के खिलाफ ही 1980 में अपने करियर का आखिरी टेस्ट खेला था. उन्होंने टेस्ट में 29.84 के औसत से 132 विकेट लिए थे. उन्होंने 1 बार 10 विकेट, 6 बार पांच विकेट लेने का कारनामा किया था.

मैलेट की गिनती दुनिया के बेहतरीन ऑफ स्पिनर्स में होती थी. उन्होंने 1972 में पाकिस्तान के खिलाफ एडिलेड टेस्ट की एक पारी में 59 रन देकर 8 विकेट लिए थे. यह ऑस्ट्रेलिया में किसी भी फिंगर स्पिनर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. उनसे आगे नाथन लॉयन (399 विकेट), ह्यूज ट्रंबल (141 विकेट) हैं. मैलेट सिडनी में पैदा हुए थे. लेकिन उनकी परवरिश पर्थ में हुई. जहां दिग्गज स्पिनर क्लेरी ग्रिमेट ने उन्हें तराशने का काम किया था.
T20 World Cup: अफगानिस्तान की हार पर आया तालिबान के एक बड़े नेता का बयान, कहा- गिरते हैं…
WI vs BAN, T20 WC: पोलार्ड रिटायर्ड हर्ट होकर भी मैदान पर लौटे और पलट दिया मैच, वेस्टइंडीज को मिली लाइफलाइन

मैलेट (Ashley Mallett) ने 1969-70 में भारत के दौरे पर चार टेस्ट मैच में 28 विकेट हासिल किये थे. तब ऑस्ट्रेलिया ने भारत को हराकर 4 टेस्ट की सीरीज 3-1 से अपने नाम किया था. इसके अलावा उन्होंने 1974-75 की एशेज सीरीज में 17 विकेट हासिल किये थे. मैलेट हाई आर्म एक्शन से गेंदबाजी करते थे. इसलिए उन्हें दूसरे गेंदबाजों की तुलना में अतिरिक्त उछाल मिलता था. उन्हें साथी खिलाड़ी ‘राउडी’ कहते थे.

क्रिकेट से संन्यास के बाद मैलेट ने बतौर खेल पत्रकार और ऑथर भी काम किया था. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज स्पिनर क्लेरी ग्रिमेट की ऑटोबायोग्राफी भी लिखी थी. मैलेट ने कई युवा स्पिन गेंदबाजों को प्रशिक्षित किया और स्पिन ऑस्ट्रेलिया कार्यक्रम की शुरुआत की थी. उन्होंने  श्रीलंका में स्पिनर्स के लिए एकेडमी की स्थापना की थी. वह लंबे समय से श्रीलंकाई क्रिकेट के सलाहकार रहे थे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here