टीम इंडिया को मिला केविन पीटरसन का सपोर्ट, हिंदी में ट्वीट किया- खिलाड़ी रोबोट नहीं होते हैं

0
58

[ad_1]

नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम को टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup-2021) में लगातार दूसरी हार झेलनी पड़ी. उसे रविवार को दुबई में खेले गए सुपर-12 चरण के मुकाबले में न्यूजीलैंड ने 8 विकेट से हरा दिया. इस हार से भारतीय टीम के खिलाड़ी ही नहीं बल्कि क्रिकेट फैंस भी बेहद निराश नजर आए. अब इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन (Kevin Pietersen) ने टीम इंडिया का हौसला बढ़ाया है और खिलाड़ियों को सपोर्ट किया है. उन्होंने सोमवार को हिंदी में ट्वीट भी किया. उन्होंने साथ ही लिखा- खेल में एक हारता है तो एक जीतता है, खिलाड़ी रोबोट नहीं होते.

भारत ने अभी तक टी20 वर्ल्ड कप में 2 मैच खेले हैं और दोनों में ही उसे हार मिली है. टीम अभी तक जीत का खाता नहीं खोल पाई है. इससे पहले पाकिस्तान ने दुबई में ही उसे 10 विकेट से हराया था. चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान ने पहली बार विश्व कप में भारत को मात दी थी. भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने भी कहा कि खेल के दौरान उम्‍मीदों का सामना करना आना चाहिए, जो उनसे की जाती हैं.

इसे भी देखें, विराट कोहली ने हार के बाद कहा- हम साहस के साथ मैदान पर नहीं उतरे

इस बीच पीटरसन ने हिंदी में ट्वीट किया, ‘खेल में एक विजेता और एक हारने वाला होता है. कोई भी खिलाड़ी हारने के लिए बाहर नहीं जाता है. अपने देश का प्रतिनिधित्व करना सबसे बड़ा सम्मान है. कृपया महसूस करें कि खेल के लोग रोबोट नहीं हैं और उन्हें हर समय समर्थन की आवश्यकता है.’

kevin pietersen on t20 world cup india vs new zealand

केविन पीटरसन का हिंदी में ट्वीट

अब भारत के लिए सेमीफाइनल में पहुंचना काफी मुश्किल हो गया है. मैच की बात करें तो दुबई में न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने टॉस जीता और भारत को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया. भारतीय टीम 20 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 110 रन ही बना पाई. इसके बाद न्यूजीलैंड ने 14.3 ओवर में 2 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here