राहुल द्रविड़ ने कोच बनने पर कहा, ”खिलाड़ियों के साथ काम किया है, उनमें सुधार का जुनून”

0
8


नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) ने पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) को भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) का मुख्य कोच नियुक्त किया है. राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA) के प्रमुख के तौर पर काम कर रहे द्रविड़ को भारत में 2023 में होने वाले 50 ओवर के विश्व कप तक दो साल के लिए इस पद पर नियुक्त किया है. वह न्यूजीलैंड के खिलाफ 17 नवंबर से शुरू हो रही आगामी घरेलू सीरीज से इस पद की जिम्मेदारी संभालेंगे. राहुल द्रविड़ के टीम इंडिया के हेड कोच बनने की घोषणा की पूरी उम्मीद थी, क्योंकि इस महान बल्लेबाज को बोर्ड के शीर्ष अधिकारियों ने राजी कर लिया था.

राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA) के प्रमुख के तौर पर काम कर रहे राहुल द्रविड़ को भारत में 2023 में होने वाले 50 ओवर के विश्व कप तक दो साल के लिए इस पद पर नियुक्त किया है. वह न्यूजीलैंड के खिलाफ 17 नवंबर से शुरू हो रही आगामी घरेलू सीरीज से इस पद की जिम्मेदारी संभालेंगे. बीसीसीआई की मीडिया विज्ञप्ति के अनुसार, ”सुलक्षणा नायक और आरपी सिंह की क्रिकेट सलाहकार समिति ने बुधवार को सर्वसम्मति से राहुल द्रविड़ को टीम इंडिया (सीनियर पुरुष टीम) का मुख्य कोच नियुक्त किया. पूर्व भारतीय कप्तान न्यूजीलैंड के खिलाफ आगामी घरेलू सीरीज से इस पद की जिम्मेदारी संभालेंगे.”
भारत को वर्ल्‍ड चैंपियन बनाने वाला कप्‍तान बना BBL का पहला भारतीय पुरुष क्रिकेटर

‘मैं इस जिम्मेदारी के लिए तैयार हूं’
टीम इंडिया का हेड कोच बनने के बाद राहुल द्रविड़ ने कहा, ”भारतीय क्रिकेट टीम का नया मुख्य कोच नियुक्त किया जाना बहुत सम्मान की बात है और मैं इस जिम्मेदारी के लिए तैयार हूं.” उन्होंने साथ ही मौजूदा भारतीय टीम को यहां तक पहुंचाने के लिए अपने पूर्ववर्ती शास्त्री को उनकी भूमिका के लिए शुक्रिया किया. उन्होंने कहा, ”शास्त्री के मार्गदर्शन में टीम ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है और मैं उम्मीद करता हूं कि टीम के साथ काम करते हुए मैं इसे आगे ले जाऊंगा.”

भारतीय फैंस ने मुंहतोड़ जवाब देकर की पाकिस्‍तान पत्रकार की बोलती बंद, IND vs AFG मैच को बताया था फिक्‍स

वह टेस्ट मैचों में सचिन तेंदुलकर के बाद दूसरे सर्वाधिक रन जुटाने वाले खिलाड़ी हैं, जिनके नाम 164 मैचों में 13,288 रन और 36 शतक हैं. उनके 344 वनडे में करीब 11,000 रन (10,889 रन) हैं. उन्होंने भारतीय क्रिकेट के बदलाव के मोड्यूल को बनाने में अहम भूमिका निभायी है.

‘अंडर-19 से ए टीमों की प्रगति और फिर सीनियर टीम में खिलाड़ियों को करीब से देखा’
वह अंडर-19 से ए टीमों की प्रगति और फिर सीनियर टीम में खिलाड़ियों के प्रवेश को करीब से देखते रहे हैं. हार्दिक पंड्या की गेंदबाजी में एनसीए में उनकी देखरेख में काफी निखार आया जबकि ऋषभ पंत, ईशान किशन, हनुमा विहारी, पृथ्वी शॉ, शुभमन गिल किसी न किसी समय उनके मार्गदर्शन में रहे हैं. राहुल द्रविड़ ने कहा, ”एनसीए में, अंडर-19 और भारत ए की टीमों में खिलाड़ियों के साथ करीब से काम करने से मैं जानता हूं कि उनमें प्रत्येक दिन सुधार करने का जुनून और इच्छा है.”

गांगुली को भारतीय टीम को अगले स्तर पर ले जाने की उम्मीद
उन्होंने अपने लक्ष्यों के बारे में बात की, जिसमें ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्व कप में और 2023 में भारत में 50 ओवर के विश्व कप में अच्छा प्रदर्शन शामिल है. उन्होंने कहा, ”अगले दो साल में कई टीमों के कुछ बड़े टूर्नामेंट खेले जाने हैं और मैं हमारी क्षमता के अनुरूप लक्ष्यों को हासिल करने के लिए खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ के साथ काम करने के लिए तैयार हूं.” उनके पूर्व भारतीय कप्तान और बीसीसीआई के मौजूदा अध्यक्ष सौरव गांगुली को उनसे भारतीय टीम को अगले स्तर पर ले जाने की उम्मीद है.

भारत के लिए खेलने वाले महान खिलाड़ी 47 वर्षीय द्रविड़ बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह की पहली पसंद थे, जिन्होंने दुबई में उनसे बात कर इस पद के लिए आवेदन करने के लिए राजी किया था. द्रविड़ के आवेदन करने के बाद बीसीसीआई को किसी अन्य आवेदन को देखने की जरूरत ही नहीं पड़ी. उनका वेतन 10 करोड़ रुपये के आसपास होगा जो भारतीय क्रिकेट इतिहास में किसी भी कोच को दी जाने वाली सबसे ज्यादा राशि है. बीसीसीआई ने 26 अक्टूबर को इस पद के लिए आवेदन मंगाए थे, क्योंकि निर्वतमान रवि शास्त्री का कार्यकाल आईसीसी टी20 विश्व कप के बाद समाप्त हो रहा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here