राहुल द्रविड़ दिला सकते हैं टी20 वर्ल्ड कप और वनडे वर्ल्ड कप का खिताब! उनके सामने हैं ये 5 बड़े चैलेंज

0
10


Team India New Coach: राहुल द्रविड़ न्यूजीलैंड सीरीज से शुरुआत करने जा रहे हैं. (AFP)

Team India New Coach: राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) को टीम इंडिया का नया कोच बनाया गया है. 17 नवंबर से न्यूजीलैंड के खिलाफ (India vs New Zealand) शुरू होने वाली घरेलू सीरीज में वो इस जिम्‍मेदारी को संभालेंगे. टीम को नए कोच तो मिल गया है और अब नया कप्तान भी मिलने वाला है. ऐसे में द्रविड़ के सामने कई बड़े चैलेंज होंगे. दरअसल विराट कोहली पहले ही ऐलान कर चुके हैं कि टी20 वर्ल्‍ड कप 2021 (T20 World Cup 2021) के बाद वो भारतीय टी20 टीम की कप्‍तानी छोड़ देंगे.

नई दिल्ली. राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) को टीम इंडिया का नया कोच बनाया गया है. टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup 2021) के बाद वे टीम से जुड़ेंगे. 17 नवंबर से न्यूजीलैंड के खिलाफ (India vs New Zealand) शुरू हो रही सीरीज से उनका चैलेंज शुरू होना है. मौजूदा कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) का कार्यकाल वर्ल्ड कप के बाद खत्म हो रहा है. उनके कार्यकाल में टीम ने विदेश में जीत हासिल की, लेकिन टीम कोई भी आईसीसी ट्रॉफी नहीं जीत सकी. वनडे वर्ल्ड कप (ICC World Cup) के सेमीफाइनल और वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल (WTC Final) में टीम को हार मिली. अगले 2 साल में तीन आईसीसी ट्रॉफी जीतने का मौका टीम इंडिया (Team India) के पास है. इसमें 2022 में होने वाला टी20 वर्ल्ड कप और 2023 में वनडे वर्ल्ड कप व वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप भी शामिल है. द्रविड़ के सामने ये 5 बड़े चैलेंज हैं, जिससे उन्हें पार पाना होगा.

न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 सीरीज से रोहित शर्मा को टीम का नया कप्तान बनाया जा सकता है. उन्हें वनडे टीम की कमान भी दी जा सकती है. ऐसे में विराट कोहली का टीम में क्या रोल होगा. बतौर कप्तान कोहली पर खिलाड़ियों पर विश्वास नहीं करने की बात सामने आई. इस कारण टीम में वे जल्दी-जल्दी बदलाव करते थे. मौजूदा टी20 वर्ल्ड कप के पहले 3 मैच में भी यह दिखा. ऐसे में द्रविड़ को इसमें बदलाव करने की जरूरत होगी, जिससे खिलाड़ी खुद को असहज ना समझे.

टीम इंडिया के सीनियर खिलाड़ी 6 महीने से बायो बबल में हैं. ऐसे में न्यूजीलैंड सीरीज में युवा खिलाड़ियाें को मौका दिया जा सकता है. लेकिन 2 मैचों की टेस्ट सीरीज में सीनियर्स को उतरना होगा, क्योंकि यह सीरीज वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का हिस्सा है. ऐसे में वर्कलोड मैनेज करना आसान नहीं होगा. इसके अलावा सीनियर खिलाड़ी अजिंक्य रहाणे, चेतेश्वर पुजारा, ईशाम शर्मा का टेस्ट में विकल्प भी खोजना होगा. ये खिलाड़ी उम्र और करियर के ढलान पर हैं.

टीम को दिसंबर-जनवरी में साउथ अफ्रीका के दौरे पर भी जाना है. वहां भी तीन मैचों की टेस्ट सीरीज होनी है. फिर टीम को श्रीलंका से फरवरी-मार्च में खेलना है. इसके बाद अप्रैल से आईपीएल. नवंबर में टी20 वर्ल्ड कप होना है. ऐसे में खिलाड़ियों का एक बड़ा पूल बनाने की जरूरत होगी, ताकि खिलाड़ियों को थकान से बचाया जा सके. 2023 में वनडे वर्ल्ड कप भी है.

लिमिटेड ओवर और टेस्ट के अलग-अलग कप्तान बनाए जा सकते हैं. हर कप्तान की अपनी रणनीति और भूमिका होती है. अब तक विराट कोहली ही तीनों फॉर्मेट की कप्तानी संभाल रहे थे. ऐसे में द्रविड़ को एक समय में दो अलग-अलग कप्तान के साथ सामंजस्य बैठाना होगा.

राहुल द्रविड़ को एक साल के अंदर टी20 वर्ल्ड कप के लिए टीम को तैयार करना है. ऐसे में उनके लिए चीजें आसान नहीं रहने वाली. टीम की हार और जीत पर कोच हमेशा टारगेट पर रहते हैं. इसके अलावा विराट कोहली, रोहित शर्मा, केएल राहुल जैसे सीनियर खिलाड़ियों को रोल भी उन्हें तय करना होगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here