T20 World Cup: विराट कोहली और रवि शास्त्री की 5 गलतियां जो टीम इंडिया को ले डूबीं! आईसीसी टूर्नामेंट में खराब प्रदर्शन जारी

0
10


T20 World Cup 2021: विराट कोहली (Virat Kohli) और रवि शास्त्री (Ravi Shastri) दोनों टी20 वर्ल्ड कप में फेल. (AP)

T20 World Cup 2021: विराट कोहली (Virat Kohli) और रवि शास्त्री (Ravi Shastri) टी20 वर्ल्ड कप में अच्छी प्लानिंग नहीं कर सके. इस कारण टीम पूरे मुकाबले खेलने से पहले ही टूर्नामेंट से बाहर हो गई. हर मैच में प्लेइंग-11 में बदलाव और सीनियर खिलाड़ी काे बड़े मैच में नहीं उतारना टीम इंडिया (Team India) पर भारी पड़ा.

नई दिल्ली. विराट कोहली (Virat Kohli) और रवि शास्त्री (Ravi Shastri) दोनों अपने अंतिम टूर्नामेंट में कुछ खास नहीं कर सके. टीम इंडिया (Team India) टी20 वर्ल्ड कप के सुपर-12 राउंड से ही बाहर हो गई. कोहली टूर्नामेंट के बाद टी20 टीम की कप्तानी छोड़ देंगे. वहीं शास्त्री का बतौर कोच कार्यकाल खत्म हो रहा है. शास्त्री की कोचिंग में टीम एक भी आईसीसी टूर्नामेंट नहीं जीत सकी. टीम 2019 में वनडे वर्ल्ड कप के सेमीफाइल में हारी. 2021 में पहले वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में टीम को शिकस्त मिली और अब टी20 वर्ल्ड में खराब प्रदर्शन. टूर्नामेंट के (T20 World Cup 2021) एक मुकाबले में रविवार को न्यूजीलैंड ने अफगानिस्तान को 8 विकेट से हराकर भारतीय उम्मीद को खत्म का दिया. आइए आपको बताते हैं कि आखिर कोहली और शास्त्री ने टूर्नामेंट में कौन सी 5 बड़ी गलतियां की, जो टीम पर भारी पड़ी.

टीम इंडिया ने अब तक टूर्नामेंट में 4 मुकाबले खेले हैं. हर मैच में अलग-अलग टीम उतारी. यानी खिलाड़ियों पर विश्वास नहीं दिखाया. पहले मैच में हार के बाद ईशान किशन और शार्दुल ठाकुर दूसरे मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ उतरे. लेकिन दोनों फेल रहे.

न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 इंटरनेशनल में 4 शतक लगाने वाले रोहित शर्मा पर अविश्वास जताया. रोहित की जगह ईशान किशन और केएल राहुल को ओपनिंग के लिए भेजा गया. रोहित नंबर-3 और विराट कोहली नंबर-4 पर उतरे. ईशान, रोहित और कोहली तीनों फेल रहे. यानी बदलाव पूरी तरह फेल रहा.

टीम को टूर्नामेंट में पहले 2 मैच में 2 बड़ी टीमों के खिलाफ यानी पाकिस्तान और न्यूजीलैंड से खेलना था. इसके बाद भी प्लेइंग-11 को लेकर कोई प्लानिंग नहीं बनाई गई. टीम के सबसे सीनियर गेंदबाज और ऑफ स्पिनर आर अश्विन को दोनों मैच में मौका नहीं दिया गया. वहीं सीनियर तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार को न्यूजीलैंड के खिलाफ प्लेइंग-11 से बाहर कर दिया गया था.

टीम इंडिया को पहले 2 मैच में छठे गेंदबाज की कमी खली. इसके बाद भी हार्दिक पंड्या के विकल्प की खोज नहीं की गई. पंड्या को बतौर बल्लेबाज उतारा गया. पाकिस्तान से मिली हार के बाद इसे लेकर रणनीति बनानी थी. हर टीम के पास छठे से लेकर 7वें गेंदबाज का विकल्प है. न्यूजीलैंड ने अफगानिस्तान के खिलाफ अपने 2 बड़े स्पिन गेंदबाजों से सिर्फ 4 ओवर गेंदबाजी ही कराई. 4 ओवर दूसरे गेंदबाजों ने डाले. इसे उसका फायदा मिला.

टीम इंडिया को दुबई में पहले 2 बड़े मैच खेलने थे. ऐसे में टाॅस महत्वपूर्ण रहता. ऐसे में टॉस हारने पर बाद में गेंदबाजी करनी पड़ी तो क्या करना होगा, इसे लेकर भी कुछ खास नहीं किया गया. जबकि टीम इंडिया के खिलाड़ी सितंबर से यूएई में हैं. चेन्नई सुपर किंग्स ने दुबई में ही फाइनल में पहले बल्लेबाजी करते हुए जीत हासिल की थी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here