T20 World Cup 2021: भरत अरुण के बयान से नाराज हरभजन सिंह, बोले- कोच ऐसे बहाने दें, वाकई बुरा है

0
12


नई दिल्ली. अनुभवी ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) गेंदबाजी कोच भरत अरुण (Bharat Arun) के बयान से सहमत नहीं हैं कि भारत ने टॉस जीत लिया होता, तो टी 20 विश्व कप (ICC T20 World Cup 2021) में चीजें उनके लिए अलग हो जातीं. आईसीसी टी20 विश्व कप 2021 के भारत के फाइनल मैच की पूर्व संध्या पर कोच अरुण ने भारत के उदासीन प्रदर्शन के पीछे दो कारणों को बताया. उन्होंने कहा कि टॉस हारना और बायो-बबल थकान ऐसे कारण थे, जिनके कारण भारत ने पहले दो मैचों में हार का स्वाद चखा. टी20 वर्ल्ड कप में भारत को पहले मैच में पाकिस्तान के हाथों 10 विकेट और फिर न्यूजीलैंड के हाथों 8 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था. पहले दो मैचों में मिली हार का ही नतीजा है कि भारत सेमीफाइनल के लिए क्वॉलिफाई करने में नाकाम रहा.

हालांकि, हरभजन ऐसा महसूस नहीं करते हैं. उन्होंने कहा है कि विश्व कप से भारत के बाहर होने का कारण खराब प्रदर्शन है और कुछ नहीं. स्पिनर ने आईपीएल फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपर किंग्स के उदाहरण का हवाला देते हुए बताया कि कैसे पहले बल्लेबाजी करने के बावजूद टीम ने फाइनल में कोलकाता नाइट राइडर्स को हराया था.

‘जब खिलाड़ी देश के लिए खेलने से ज्यादा IPL को प्राथमिकता देते हैं तो हम क्या कह सकते हैं’

हरभजन सिंह ने स्पोर्ट्स तक पर कहा, ”मैंने भरत अरुण को यह कहते हुए सुना कि अगर भारत टॉस जीतता, तो वे ऐसा कर सकते थे और कर सकते थे. यह सब बाद में चर्चा के लिए है. अगर आपके पास पहले गेंदबाजी करना या पहले बल्लेबाजी करना होता, तो अच्छा… क्या चेन्नई सुपर किंग्स ने पहले बल्लेबाजी करके आईपीएल नहीं जीता? उन्होंने 190 रन बनाए, इसलिए आपको रन बनाने होंगे. हमें इस तथ्य को स्वीकार करना चाहिए कि हम अच्छा नहीं खेले और हम उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे.”

हरभजन सिंह ने आगे कहा कि अगर कोच बहाने देना शुरू कर देते हैं, तो यह एक बुरी मिसाल कायम करता है. उन्होंने बताया कि ‘बहाने’ की तलाश करने के बजाय यह महसूस करना महत्वपूर्ण है कि भारत का प्रदर्शन उन मानकों के अनुरूप नहीं था, जिन्हें दुनिया उस स्तर के प्रदर्शन करने के लिए जानती है. और यह कि आगे जाकर टीम को बहाने के पीछे छिपने के बजाय बेहतर खेलना चाहिए.”

T20 World Cup 2022: भारत ने टी20 वर्ल्ड कप 2022 के लिए क्वालीफाई किया, 2 विश्व चैंपियन टीमें बाहर

उन्होंने कहा, ”यह आसान है. इसमें अगर और लेकिन शामिल नहीं है. ‘टॉस जीत लिया होता तो हम मैच भी जीत जाते’ जैसी चीजें शामिल होती हैं. यह उस तरह से काम नहीं करता है. ऐसी भी टीमें हैं, जिन्होंने टॉस नहीं जीता लेकिन मैच जीत लिया. ऐसी बातें उन टीमों द्वारा कही जाती हैं जो उतनी विकसित नहीं हैं. लेकिन भारत एक मजबूत इकाई है, एक चैंपियन टीम है.

उन्होंने आगे कहा, ”अगर कोच इस तरह के बहाने देते हैं, तो यह वाकई गलत है. मान लें कि हमने अच्छा नहीं खेला, जो हो सकता है. कोई समस्या नहीं है, लेकिन आगे जाकर यह सीख लेनी चाहिए कि हमें इस तरह के बयान नहीं देने चाहिए और बेहतर खेलने की कोशिश करनी चाहिए.”

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here