विराट कोहली-रवि शास्त्री की जोड़ी ने बहुत कुछ हासिल किया, भारत को दिलाए कई जश्न के मौके

0
7


नई दिल्ली. भारत और नामीबिया के बीच टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup-2021) के सुपर-12 चरण का मैच कई मायनों में खास रहा. भारतीय टीम का यह टी20 वर्ल्ड कप के मौजूदा सीजन का आखिरी मैच रहा. रवि शास्त्री (Ravi Shastri) और विराट कोहली (Virat Kohli) की कोच-कप्तान की जोड़ी भी साथ में आखिरी मैच खेलने उतरी थी. रवि शास्त्री के साथ-साथ सपोर्ट स्टाफ के कई सदस्यों का कार्यकाल जहां खत्म हो गया तो वहीं, विराट ने टी20 कप्तान के तौर पर टीम इंडिया का आखिरी बार नेतृत्व किया. उन्होंने पहले ही ऐलान कर दिया था कि टी20 वर्ल्ड कप उनका इस फॉर्मेट में कप्तान के तौर पर आखिरी टूर्नामेंट होगा.

भले ही टी20 वर्ल्ड कप-2021 भारत के लिए अच्छा नहीं रहा और उसे सेमीफाइनल में खेलना तक नसीब नहीं हुआ लेकिन शास्त्री और कोहली की जोड़ी ने कई मुकाम हासिल किए. करीब 7 साल तक चली इसी जोड़ी ने भारतीय क्रिकेट और फैंस को जश्न मनाने के कई मौके दिए.

इसे भी पढ़ें, भारत की टी20 वर्ल्ड कप से जीत से विदाई, दुबई में नामीबिया को 9 विकेट से हराया

बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी जीती
विराट कोहली की कप्तानी और रवि शास्त्री के मार्गदर्शन में भारत ने टेस्ट सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को उसकी ही सरजमीं पर हराया. तब भारतीय टीम ऐसा करने वाली पहली एशियाई टीम बनी और उसने इतिहास रचा. इसके बाद ऑस्ट्रेलिया में लगातार दूसरी सफलता पिछले साल हासिल की. विराट कोहली हालांकि पूरे दौरे के लिए उपलब्ध नहीं थे लेकिन शास्त्री के मार्गदर्शन में कार्यवाहक कप्तान अजिंक्य रहाणे के नेतृत्व में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर लगातार दूसरी बार बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी जीती.

न्यूजीलैंड, इंग्लैंड में जीती सीरीज
रवि शास्त्री की देखरेख में भारत ने दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में टी20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज जीतीं. शास्त्री के कोच रहते भारत ने 2017 में श्रीलंका का 3-0 से सूपड़ा साफ किया. टीम ने पहली बार यह कारनामा किया था. भारत ने पहली बार कैरेबियाई सरजमी पर टेस्ट सीरीज में वेस्टइंडीज का सूपड़ा साफ किया.

इसे भी देखें, भारत और पाकिस्तान की अब कब होगी भिड़ंत? खुश हो जाइए, जल्द आ रहे 4 मौके

गेंदबाजी यूनिट काफी मजबूत
इसमें कोई दोराय नहीं है कि विराट कोहली और रवि शास्त्री के मार्गदर्शन में भारतीय गेंदबाजी यूनिट काफी मजबूत हुई. भारत तेज गेंदबाजी विभाग में काफी मजबूत बनकर उभरा. ऐसी गेंदबाजी इकाई बनी जिसने सभी परिस्थितियों में और दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीमों के खिलाफ प्रभावित किया. टेस्ट रैंकिंग के 42 महीने तक शीर्ष पर बने रहने का भी टीम इंडिया ने कमाल किया. कोच शास्त्री और कप्तान कोहली की देखरेख में भारतीय टीम 2016 से 2020 तक 42 महीनों के लिए टेस्ट में दुनिया की नंबर एक टीम बनी रही.

वनडे वर्ल्ड कप का सेमीफाइनल
भारतीय टीम 2 साल पहले आईसीसी विश्व कप (वनडे) के ग्रुप चरण में सर्वश्रेष्ठ टीम बन कर उभरी. वह अंक तालिका में टॉप पर रही थी लेकिन सेमीफाइनल में उसे न्यूजीलैंड के खिलाफ हार झेलनी पड़ी. वह मैच हालांकि धोनी के आखिरी वनडे अंतरराष्ट्रीय मैच के तौर पर भी याद किया जाता है. भारत को तब सेमीफाइनल में हार से टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा लेकिन यह विराट और शास्त्री की जोड़ी के ही कार्यकाल में हुआ कि उसने ग्रुप चरण में काफी बेहतरीन प्रदर्शन किया.

इसे भी देखें, ‘विराट कोहली टी20 से लेने वाले हैं संन्यास! टीम इंडिया दो ग्रुप में बंटकर खेल रही’

WTC चैंपियनशिप फाइनल
भारत ने कोहली और शास्त्री के मार्गदर्शन में विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के पहले सत्र के फाइनल में जगह बनाई. विराट कोहली की टीम को फाइनल में 8 विकेट से हार का सामना करना पड़ा लेकिन इससे पहले तक उसने ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका जैसी टीमों को मात दी. इसी साल इंग्लैंड दौरे पर कोहली और शास्त्री की जोड़ी की देखरेख में भारत ने पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में 2-1 की बढ़त कायम की. भारतीय दल में कोविड-19 के कारण हालांकि आखिरी टेस्ट को निलंबित कर दिया गया.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here