मिताली राज ने जताई उम्मीद- मेरी यात्रा लड़कियों को उनके सपने पूरा करने के लिए प्रेरित करेगी

0
6


नई दिल्ली. प्रतिष्ठित मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाली पहली महिला क्रिकेटर मिताली राज (Mithali Raj) ने उम्मीद जताई कि उनकी उपलब्धियां देश की लड़कियों को अपने सपनों को पूरा करने के लिए प्रेरित करेगी. भारतीय महिला क्रिकेट की 38 साल की इस दिग्गज खिलाड़ी को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने देश के सर्वोच्च खेल सम्मान खेल रत्न (Khel Ratna) से सम्मानित किया. अपने करियर में 300 से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वालीं मिताली की जिंदगी पर जल्द ही एक फिल्म भी रिलीज होने वाली है.

मिताली मौजूदा साल में इस प्रतिष्ठित पुरस्कार को हासिल करने वाले 12 खिलाड़ियों में से एक हैं. मिताली ने ट्विटर पर लिखा, ‘ खेल में महिलाएं परिवर्तन की शक्तिशाली उत्प्रेरक होती हैं और जब उन्हें वह सराहना मिलती है जिसकी वे हकदार होती हैं, तो यह अपने सपनों को पूरा करने की चाह रखने वाली कई अन्य महिलाओं में बदलाव के लिए प्रेरणास्रोत बनती हैं.’

इसे भी देखें, हसन अली ने सेमीफाइनल की हार का जिम्मेदार ठहराने पर तोड़ी चुप्पी, बोले- मुझसे ज्यादा निराश कोई नहीं होगा

भारतीय महिला टेस्ट और एकदिवसीय टीम की कप्तान ने कहा, ‘मुझे पूरी उम्मीद है कि मेरी यात्रा देश भर की युवा लड़कियों को अपने सपनों को पूरा करने के लिए प्रेरित करेगी.’ मिताली ने दो दशक से लंबे करियर में देश के लिए 12 टेस्ट, 220 एकदिवसीय और 89 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में देश का प्रतिनिधित्व किया है.

मिताली ने ट्विटर पर एक नोट शेयर किया. (Twitter)

उन्होंने लिखा, ‘जब मैं बड़ी हो रही थी और इस खेल में करियर बनाने का सोचा तो मेरा सपना था कि टीम इंडिया की जर्सी पहनूं. मैं हमेशा से ही भारत का प्रतिनिधित्व करना चाहती थी जो देश के लिए गर्व की बात है. भारतीय क्रिकेट का हिस्सा बनने पर गौरवान्वित महसूस करती हूं. यह सफर शानदार रहा लेकिन मेंटॉर, परिवार, दोस्त और अपनी टीम की खिलाड़ियों के साथ के बिना यह संभव नहीं था. सरकार की तरफ से किसी भी तरह का सम्मान अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए प्रेरित करता है.’

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here