मैथ्यू वेड: कारपेंटर से ऑस्ट्रेलिया को टी20 वर्ल्ड कप फाइनल में पहुंचाने वाला हीरो

0
5


नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया के विकेटकीपर बल्लेबाज मैथ्यू वेड (Matthew Wade) की चर्चा आज हर क्रिकेट फैन के बीच है. जिस तरह वेड ने ऑस्ट्रेलिया को टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल (T20 World Cup Final) में पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई, उन्हें किसी हीरो से कम नहीं माना जा रहा है. बहुत कम लोग इस बात को जानते होंगे कि वेड को जब करीब 4 साल पहले टीम से बाहर कर दिया गया था तो वह एक कारपेंटर के तौर पर काम करने लगे थे.

पाकिस्तान के खिलाफ दुबई में खेले गए टी20 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मैच में वेड ने 17 गेंदों पर नाबाद 41 रन की पारी खेली. उन्होंने पाकिस्तान के स्टार पेसर शाहीन शाह अफरीदी को निशाना बनाया और पारी के 19वें ओवर में लगातार 3 छक्के जड़कर टीम को फाइनल का टिकट दिला दिया और पाकिस्तान को इस विश्व कप से बाहर कर दिया.

इसे भी पढ़ें, T20 World Cup: न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच फाइनल, एक जैसा रहा सफर, अब कौन बनेगा नया चैंपियन?

पहले इस बात पर संदेह जताया जा रहा था कि क्या मैथ्यू वेड को टी20 विश्व कप से पहले ऑस्ट्रेलियाई टीम में शामिल किया जाएगा. हालांकि उन्हें मौका भी मिला और उन्होंने खुद को साबित भी किया. 177 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम एक समय अपने 5 विकेट 96 रन के स्कोर तक गंवा चुकी थी. कुछ लोगों ने तो पाकिस्तान की जीत की भविष्यवाणी तक कर दी थी लेकिन वेड और मार्कस स्टॉयनिस ने छठे विकेट के लिए अविजित साझेदारी की और ऑस्ट्रेलिया को 1 ओवर बाकी रहते ही जीत दिला दी.

वेड ने अपनी काबिलियत को साबित किया और फिनिशर की उम्दा भूमिका निभाई. यह जानकर हैरानी होगी कि मैथ्यू वेड के करियर में एक ऐसा मोड़ आया, जब उन्हें ऑस्ट्रेलियाई टीम से बाहर कर दिया गया. उन्हें गुजारा करने के लिए कारपेंटर बनना पड़ा. मैथ्यू वेड ने अपने क्रिकेट करियर के लिए सारी उम्मीदें खो दी थीं और उन्हें ऐसा लगने लगा कि सब कुछ खत्म हो गया.

इसे भी देखें, हसन अली ने सेमीफाइनल की हार का जिम्मेदार ठहराने पर तोड़ी चुप्पी, बोले- मुझसे ज्यादा निराश कोई नहीं होगा

उन्हें क्रिकेट में अपना भविष्य नजर नहीं आ रहा था, जब 2017-18 में बांग्लादेश के खिलाफ सीरीज के लिए उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया था. उन्होंने कहा कि बांग्लादेश के खिलाफ सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलियाई टीम से बाहर होने के बाद, उन्होंने सोचा था कि उनका क्रिकेट करियर खत्म हो गया. वह तस्मानिया में अपने घर लौट आए और कारपेंटर का काम शुरू कर दिया.

33 साल के वेड ने अभी तक 36 टेस्ट, 97 वनडे और 54 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं. उनके नाम टेस्ट में 4 शतक और 5 अर्धशतकों की बदौलत कुल 1613 जबकि वनडे में 1 शतक और 11 अर्धशतकों के दम पर 1867 रन हैं. उन्होंने टी20 अंतरराष्ट्रीय फॉर्मेट में कुल 3 अर्शतक जमाए हैं और 729 रन उनके नाम हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here