T20 World Cup: एक नजर पिछले 6 फाइनल मुकाबलों पर, जानें कब किसने मारी थी बाजी

0
8


नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया आईसीसी पुरुष टी 20 विश्व कप के सातवें संस्करण के फाइनल में न्यूजीलैंड से भिड़ेगा. यह टूर्नामेंट दोनों टीमों के साथ एक रोमांचक मुकाबला होने का वादा करता है. दोनों ही टीमों ने अबतक 5-5 मुकाबले जीते हैं और एक-एक में उन्हें हार का सामना करना पड़ा है. इस प्रारूप में अब तक ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड किसी भी टीम ने एक भी खिताब नहीं जीता है. ऐसे में दोनों टीमों की नजर इतिहास बनाने पर है. फाइनल से पहले आइए इस मेगा इवेंट के पिछले छह संस्करणों के टाइटल मुकाबलों पर एक नजर फिर से डालते हैं.

टी20 विश्व कप 2007 फाइनल – भारत बनाम पाकिस्तान
भारत ने उद्घाटन विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में जोहानिसबर्ग के वांडरर्स स्टेडियम में अपने कट्टर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ खेला था. भारत पहले बल्लेबाजी करते हुए पांच विकेट के नुकसान पर 157 रनों का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा करने में सफल रहा. पाकिस्तान खिलाफ इस मैच में भारत के गौतम गंभीर ने सर्वाधिक 75 रन बनाए जबकि उमर गुल ने तीन विकेट लिए. लक्ष्य का पीछा करने उतरा पाकिस्तान लगातार विकेट खोता रहा था, लेकिन मिस्बाह-उल-हक ने खेल को गहरा करते हुए उनकी उम्मीदों को जीवित रखा. अंतिम 4 गेंदों में छह रन चाहिए थे. इस दौरान मिस्बाह ने शॉर्ट फाइन लेग पर जोगिंदर शर्मा को स्कूप करने की कोशिश की, लेकिन समय सही नहीं हो सका और एस श्रीसंत ने इतिहास रचने के लिए कैच लपका. इरफान पठान को उनके 3/16 के मैच जिताने वाले स्पेल के लिए ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ चुना गया.

T20 World Cup 2021: 10 खिलाड़ी, जो 2022 विश्व कप में खेलते नजर नहीं आएंगे!

टी20 विश्व कप 2009 फाइनल – पाकिस्तान बनाम श्रीलंका
पाकिस्तान ने टी20 विश्व कप के दूसरे संस्करण में श्रीलंका को हराया. श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी की. लेकिन वह 20 ओवर में 138 रन पर सिमट गया. कुमार संगकारा 64 रन बनाकर नाबाद रहे. पाकिस्तान के लिए अब्दुल रज्जाक ने तीन विकेट चटकाए और इस तीन ओवर में सिर्फ 20 रन दिए. पाकिस्तान रनों का पीछा करने में सतर्क था और तीसरे नंबर पर आए शाहिद अफरीदी ने 40 रन पर 54* रन की शानदार पारी खेली और जीत के लिए अपनी टीम का मार्गदर्शन किया. जब पाकिस्तान ने ट्रॉफी जीती तो उन्हें उनके हरफनमौला प्रदर्शन के लिए ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ चुना गया.

टी20 विश्व कप 2010 फाइनल – इंग्लैंड बनाम ऑस्ट्रेलिया
बारबाडोस में खेले गए फाइनल मुकाबले में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया का आमना-सामना हुआ था. इंग्लैंड के कप्तान पॉल कॉलिंगवुड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी की और उनके गेंदबाजों ने ऑस्ट्रेलिया को 20 ओवर में 147 रनों पर रोक दिया. इंग्लैंड की शुरुआत अच्छी नहीं रही और उसने दूसरे ओवर में सलामी बल्लेबाज माइकल लुंब को खो दिया. केविन पीटरसन ने क्रेग कीस्वेटर के साथ हाथ मिलाया और इस जोड़ी ने दूसरे विकेट के लिए 111 रन जोड़े. कप्तान कॉलिंगवुड ने मिड-विकेट के 17वें ओवर की आखिरी गेंद पर वॉटसन को चकमा दिया और इंग्लैंड ने अपनी पहली आईसीसी ट्रॉफी जीत ली.

NZ vs AUS, T20 WC Final: डेवॉन कॉनवे की जगह लेगा केकेआर का विस्फोटक बल्लेबाज

टी20 विश्व कप 2012 फाइनल – वेस्टइंडीज बनाम श्रीलंका
यह संस्करण श्रीलंका में आयोजित किया गया था और मेजबान टीम ने वेस्टइंडीज के साथ कोलंबो के आर प्रेमदासा स्टेडियम में फाइनल मुकाबला खेला था. डैरेन सैमी ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की और सुस्त पिच पर वेस्टइंडीज छह विकेट के नुकसान पर सिर्फ 137 रन ही बना सका. मेजबान टीम की ओर से अजंता मेंडिस ने चार विकेट लिए. वेस्टइंडीज आसानी से हार मानने वाला नहीं था और सुनील नरेन के तीन विकेटों की बदौलत 19वें ओवर में श्रीलंका को 101 रन पर समेट दिया. मार्लन सैमुअल्स 78 रन की पारी के साथ ‘मैन ऑफ द मैच’ रहे.

टी20 विश्व कप 2014 फाइनल – भारत बनाम श्रीलंका
श्रीलंका ने लगातार दूसरे वर्ष टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल में प्रवेश किया और उन्होंने पूर्व चैंपियन भारत के साथ मुकाबला खेला. श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया. भारतीय बल्लेबाज कभी भी धीमे ट्रेक पर नहीं चल पाए और वे केवल 130 रन ही बोर्ड पर टांग सके. जिसमें विराट कोहली शीर्ष स्कोरर के रूप में रहे. खराब शुरुआत के बाद कुमार संगकारा ने नाबाद 52* रनों की बेहतरीन पारी खेलकर अपनी टीम को ट्रॉफी दिलवाई.

टी20 विश्व कप 2016 फाइनल – वेस्टइंडीज बनाम इंग्लैंड
वेस्टइंडीज ने 2016 के फाइनल में कोलकाता के ईडन गार्डन्स में इंग्लैंड को हराया था. इंग्लैंड ने जो रूट के अर्धशतक के साथ 155 रन बनाए. वेस्टइंडीज की शुरुआत खराब रही और एक वक्त पर उनका स्कोर 11/3 था. इसके बाद ड्वेन ब्रावो और मार्लन सैमुअल्स ने मिलकर चौथे विकेट के लिए 75 रन जोड़े. वेस्टइंडीज को आखिरी ओवर में जीत के लिए 19 रन चाहिए थे. कार्लोस ब्रैथवेट ने इसके बाद बेन स्टोक्स की गेंद पर लगातार चार छक्के लगाकर शानदार जीत दर्ज की. इसी के साथ वेस्टइंडीज दो बार खिताब जीतने वाली एकमात्र टीम बन गई.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here