T20 World Cup: न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच फाइनल, एक जैसा रहा सफर, अब कौन बनेगा चैंपियन?

0
5


आज सबसे महत्वपूर्ण मुकाबला टी20 वर्ल्ड कप फाइनल (T20 World Cup Final) में होने जा रहा है, जब ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड खिताब के लिए भिड़ेंगे. खास बात है कि इस बार नया चैंपियन दुनिया को मिलेगा. न्यूजीलैंड पहली बार फाइनल में आया है और ऑस्ट्रेलिया दूसरी बार. दोनों ही टीमों ने इससे पहले कभी टी20 विश्व खिताब नहीं जीता है. मुझे लगता है कि जैसे एशेज में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के मैच होते हैं, उसी तरह ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के मुकाबले भी बेहद अहम होते हैं.

दोनों पड़ोसी हैं और अच्छी तरह से एक-दूसरे को जानते हैं. उनकी ताकत, खूबियां और पॉजिटिव प्वॉइंट्स जानते हैं तो वहीं उनकी कमजोरियां और नेगेटिव से भी वाकिफ हैं. काफी मैच साथ में खेलते हैं. मेरा मानना है कि यह बहुत ही महत्वपूर्ण फाइनल मुकाबला होगा, दोनों के लिए. एक तरफ न्यूजीलैंड ने सेमीफाइनल में इंग्लैंड जैसी टीम को मात दी तो वहीं, रोमांच से भरे दूसरे सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को हराया.

इसे भी देखें, बारिश, आंधी या और कोई बाधा? जानिए. टी20 वर्ल्ड कप फाइनल में कैसा रहेगा मौसम

न्यूजीलैंड की बात करूं तो टेस्ट में नंबर-1 टीम, वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप जीती. पिछली बार के वनडे वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची, तब उसे इंग्लैंड से हार झेलनी पड़ी. अभी इस फॉर्मेट (T20) के फाइनल में जगह बनाई है. ये एक ऐसी टीम है जो तीनों ही फॉर्मेट के फाइनल में पहुंच चुकी है. मुझे लगता है कि यह बात उनके लिए काफी अहम रहेगी.

यूएई में देखा गया है कि टॉस काफी अहम रहता है, दोनों ही टीमों के लिए. आपने भी देखा होगा कि जो टीम चेज करती है (लक्ष्य का पीछा करती है) वह ज्यादातर जीतती है. सेमीफाइनल में भी यही देखा गया कि जिस टीम ने टॉस जीता, मैच भी उसी ने अपने नाम किया. इस टी20 वर्ल्ड कप में दोनों टीमों (न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया) का रवैया और रिकॉर्ड, दोनों बराबर हैं. लीग में दोनों ने ही केवल 1-1 मैच गंवाया. इतना ही नहीं, दोनों ने अपना-अपना सेमीफाइनल मैच भी 5 ही विकेट से जीता.

इसे भी देखें, ऑस्‍ट्रेलिया से 2015 की हार का हिसाब चुकता करने उतरेगी न्‍यूजीलैंड की टीम

मैं तो यही कहूंगा कि दोनों टीमें एक बराबर जैसी दिखती हैं. मैं तो उन्हें ‘Ditto’ कहूंगा. आप देखिए कि लीग चरण में दोनों का प्रदर्शन अच्छा रहा. सेमीफाइनल में लक्ष्य का पीछा किया और फिर 5 विकेट खोकर ही जीत दर्ज की. मैच भी 1 ओवर शेष रहते जीता. पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल ऑस्ट्रेलिया के मैथ्यू वेड ने शाहीन अफरीदी पर लगातार छक्के जड़े. वहीं, इंग्लैंड के खिलाफ न्यूजीलैंड के डेरिल मिशेल ने 4 छक्के लगाए. मुझे तो लगता है कि यह बहुत ही अच्छा फाइनल मैच होगा.

इस तरह के मैचों में खुद पर काबू रखना काफी अहम होता है. अपनी भावनाओं को जताना और उन पर काबू रखना महत्वपूर्ण होता है. जैसे कुछ कहते हैं कि ऑस्ट्रेलिया इस मामले में बहुत मजबूत है. उसके खिलाड़ी कभी हार नहीं मानते हैं. टीम का कोई ना कोई खिलाड़ी आकर सुपरहीरो बन जाता है.

(डिस्क्लेमर: ये लेखक के निजी विचार हैं. लेख में दी गई किसी भी जानकारी की सत्यता/सटीकता के प्रति लेखक स्वयं जवाबदेह है. इसके लिए News18Hindi किसी भी तरह से उत्तरदायी नहीं है)

(डिस्क्लेमर: ये लेखक के निजी विचार हैं. लेख में दी गई किसी भी जानकारी की सत्यता/सटीकता के प्रति लेखक स्वयं जवाबदेह है. इसके लिए News18Hindi किसी भी तरह से उत्तरदायी नहीं है)

ब्लॉगर के बारे में

लालचंद राजपूतपूर्व क्रिकेटर और कोच

पूर्व भारतीय क्रिकेटर और कोच. 1985 से 1987 तक भारत के लिए खेल चुके लालचंद राजपूत फिलहाल जिम्बाब्वे के कोच हैं.

और भी पढ़ें





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here