T20 World Cup Final: डेविड वॉर्नर से पहले कप्तानी छिनी, फिर टीम से ड्रॉप हुए, जानिए क्या है वापसी का ‘इंग्लैंड कनेक्शन’

0
5


ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड को हराकर पहली बार टी20 विश्व कप का खिताब (AUS vs NZ T20 World Cup Final) जीता. ऑस्ट्रेलिया की जीत में सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर (David Warner) की अहम भूमिका रही. वॉर्नर ने जीत के लिए मिले 173 रन के टारगेट का पीछा करते हुए 38 गेंद में 53 रन की पारी खेली. उनकी इस पारी की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने 7 गेंद रहते ही फाइनल जीत लिया. यह जीत ऑस्ट्रेलिया के लिए जितनी मायने रखती है, उतनी ही वॉर्नर के लिए भी. क्योंकि वॉर्नर के लिए यह साल उतार-चढ़ाव भरा रहा. आईपीएल 2021 (IPL 2021) के पहले हाफ के बीच में ही उनसे सनराइजर्स हैदराबाद (Sunrisers Hyderabad) की कप्तानी छीन ली गई थी. इसके बाद उन्हें प्लेइंग-11 से भी ड्रॉप कर दिया गया था. इसके बाद कैसे इस ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ने वापसी की. उनके कमबैक का क्या है ‘इंग्लैंड कनेक्शन’.

यूएई में हुए दूसरे हाफ में भी वॉर्नर के साथ कुछ ऐसा ही हुआ. सनराइजर्स हैदराबाद के आखिरी कुछ मुकाबलों में उन्हें दोबारा प्लेइंग-11 में नहीं शामिल किया गया. उन्हें राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ हुए मुकाबले में तो होटल में ही छोड़ दिया गया. जब टीम के कोच ट्रेवर बेलिस (Trevor Bayliss) से इसकी वजह पूछी गई तो उन्होंने कहा युवाओं को मौका देने के लिए खराब फॉर्म से जूझ रहे वॉर्नर को बाहर रखा गया. हालांकि, इसका भी हैदराबाद के प्रदर्शन पर कोई खास असर नहीं पड़ा और टीम लीग में आखिरी स्थान पर रही. टीम के फोटो सेशन तक में वॉर्नर को बुलाना मुनासिब नहीं समझा गया. इतनी बार नजरअंदाज होने के बावजूद वॉर्नर कुछ नहीं बोले.

वॉर्नर का आलोचकों को करारा जवाब
टी20 विश्व कप से पहले अभ्यास मैचों में भी वॉर्नर के बल्ले से रन नहीं आए. इसके बाद उनके फॉर्म पर दोबारा सवाल खड़े होने लगे. लेकिन वॉर्नर ने सही समय पर बड़ी पारियां खेलकर तमाम आलोचकों को मुंहतोड़ जवाब दे दिया. वॉर्नर की फॉर्म में वापसी का ‘इंग्लैंड कनेक्शन’ है. ऐसा इसलिए कि सनराइजर्स हैदराबाद के कोच ट्रेवर बेलिस, इससे पहले 2015 से 2019 तक इंग्लैंड क्रिकेट टीम के भी कोच रह चुके हैं. वो ऑस्ट्रेलिया के न्यू साउथ वेल्स से आते हैं और 58 फर्स्ट क्लास मैच खेल चुके हैं. बेलिस ने ही उन्हें हैदराबाद के प्लेइंग-11 से ड्रॉप किया था और उन्होंने विश्व कप में दमदार वापसी कर यह बता दिया कि वो क्यों टी20 के सबसे धाकड़ ओपनर्स में से एक हैं.

वॉर्नर को लोगों ने खत्म मान लिया था: फिंच
फाइनल के बाद ऑस्ट्रेलिया के कप्तान एरॉन फिंच ने भी कुछ ऐसी ही बात कही. फिंच ने कहा,” मुझे विश्वास नहीं हो रहा है कि लोगों ने वॉर्नर को कुछ हफ्ते पहले यह कहते हुए खारिज कर दिया था कि वह अब खत्म हो चुका है. यह बात वॉर्नर को चुभ रही थी.”

फिंच ने पहले ही वॉर्नर के फॉर्म में लौटने की बात कही थी
फिंच ने आगे कहा कि दुनिया भले ही वॉर्नर के लिए कुछ भी कह रही थी. लेकिन मुझे उनकी काबिलियत पर पूरा विश्वास था. मैंने टी20 विश्व कप के कुछ महीने पहले ही कोच जस्टिन लैंगर से कहा था कि डेविड को लेकर चिंता नहीं करनी चाहिए. वो मैन ऑफ द टूर्नामेंट रहेंगे. वो सर्वकालिक महान बल्लेबाजों में से एक हैं और असली फाइटर है. वो ऐसे खिलाड़ी हैं, जो नकारे जाने पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करता है और यह टी20 विश्व कप उसका उदाहरण है.

टी20 वर्ल्ड कप जीतने के बाद ऑस्‍ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने निकाला जूता, बीयर डाली और पी गए- Video

T20 WC Final: डेविड वॉर्नर से केन विलियमसन ने छीनी थी कप्तानी! टीम से किया था बाहर, फाइनल में मात देकर लिया बदला

वॉर्नर ने सेमीफाइनल और फाइनल में अहम पारियां खेली
वॉर्नर ने 2019 के वनडे विश्व कप में तमाम आलोचनाओं को दरकिनार कर कुछ ऐसा ही प्रदर्शन किया था. तब वो टूर्नामेंट में दूसरे सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज बने थे. वॉर्नर ने 10 मैच में 71 के औसत से 647 रन बनाए थे. उन्होंने टूर्नामेंट में 3 शतक और इतने ही अर्धशतक लगाए थे और इस टी20 विश्व कप में भी उन्होंने पहले सेमीफाइनल में 49 और फिर फाइनल में 53 रन पारी खेलकर यह साबित किया कि वो बड़े मैच के खिलाड़ी हैं और उन्हें आसानी से खारिज नहीं किया जा सकता.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here