On This Day: सचिन तेंदुलकर का मैदान पर आखिरी दिन, जानें टीम इंडिया ने 16 नवम्बर को कैसे बनाया खास…

0
7


नई दिल्ली. सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) और क्रिकेट के इतिहास में 16 नवंबर की तारीख बेहद खास है. 2013 में आज ही के दिन क्रिकेट के भगवान माने जाने वाले सचिन ने इस खेल को अलविदा कहा (Sachin Tendulkar Last Day in International cricket) था. सचिन ने अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच अपने घर यानी मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था. ये उनका 200वां टेस्ट था और वो आखिरी बार इसी दिन मैदान पर उतरे थे. इस टेस्ट में सचिन ने 74 रन की पारी खेली थी और वो टेस्ट के दूसरे दिन फर्स्ट स्लिप में कैच आउट हो गए थे. उनका विकेट नरसिंह देवनारायण ने लिया था और तीसरे दिन तो यह मैच भारत पारी और 126 रन से जीत गया था.

मुंबई टेस्ट जीतने के साथ ही भारत ने सीरीज भी 2-0 से जीत ली थी. इस मैच के साथ ही सचिन के ठीक 24 साल 1 दिन लंबे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का अंत हो गया था. क्योंकि सचिन को डेब्यू कैप 15 नवंबर 1989 को सौंपी गई थी. लेकिन उन्होंने, पहली बार 16 नवंबर को कराची में टेस्ट बल्लेबाज के रूप में पहली गेंद खेली थी.

24 साल के अपने शानदार क्रिकेट करियर में सचिन ने कई बड़ी उपलब्धियां हासिल कीं. लेकिन वो हमेशा विनम्र बने रहें. यही वजह रही कि फैंस, खेल के दिग्गजों के मन में उनके लिए जितना प्यार था, उतनी ही गहरी इज्जत भी. उनके लिए बीसीसीआई और टीम इंडिया ने 16 नवंबर का दिन खास बनाया था.

दरअसल, बीसीसीआई ने सचिन को सम्मान देने के लिये परंपरा से हटकर टीम इंडिया की जर्सी में बोर्ड के लोगो के नीचे ‘सचिन रमेश तेंदुलकर 200वां टेस्ट’ लिखवाया था और टीम के सभी खिलाड़ी सचिन के आखिरी टेस्ट में यही स्पेशल जर्सी पहनकर खेलने उतरे थे.

भारतीय खिलाड़ियों ने खास जर्सी पहनी थी
इससे पहले इस तरह का सम्मान कभी किसी क्रिकेटर को नहीं दिया गया था. तब भी नहीं जब दिग्गज सलामी बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने बेंगलोर में अपना आखिरी मैच खेला था. इस टेस्ट में कॉमेंट्री कर रहे दिग्गजों ने भी जो जैकेट पहनी थी, उसमें भी ‘एसआरटी 200’ लिखा हुआ था.

सचिन के भावुक करने वाली स्पीच दी थी
मैच के बाद उन्होंने शानदार भाषण दिया था, जिसने पूरे विश्व भर के क्रिकेट प्रेमियों को भावुक कर दिया था. तब सचिन ने कहा था कि 22 यार्ड और 24 साल के बीच में जो मेरी जिंदगी रही, यह विश्वास करना मुश्किल है कि वो सफर खत्म हो चुका है. मैं आप सभी का अपने दिल से शुक्रिया कहना चाहता हूं. साथ ही कहना चाहता हूं कि समय बहुत जल्दी बदलता है, लेकिन आपने जो यादें छोड़ी हैं. वह हमेशा के लिए मेरे साथ रहेंगी. खासकर, सचिन… सचिन की गूंज मेरे कानों में आखिरी सांस तक गूंजती रहेगी.

इसके बाद उन्होंने स्टेडियम का चक्कर लगाया था. 24 साल तक भारतीय क्रिकेट का बोझ अपने कंधों पर उठाने वाले सचिन को साथी खिलाड़ियों ने अपने कंधों पर बैठा लिया था. इसके बाद उन्होंने पिच को प्रणाम किया और वो फिर ड्रेसिंग रूम की तरफ चले गए.

हार्दिक पंड्या ने करोड़ों रुपये की जब्‍त घड़ियों पर दी सफाई, बताया पूरा सच

On This Day: सचिन तेंदुलकर ने जिस दिन किया था डेब्‍यू, उसी दिन क्रिकेट को कहा अलविदा

सचिन ने 34 हजार से ज्यादा रन बनाए

सचिन ने 24 साल लंबे करियर में 200 टेस्ट, 463 वनडे और 1 टी20 खेला. उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 34 हजार से ज्यादा रन बनाए. उन्होंने शतकों का शतक भी पूरा किया.

Tags: BCCI, Cricket news, On This Day, Sachin tendulkar, Sachin Tendulkar Quit





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here