IND vs NZ Test Series: भारतीय टीम में 8 गेंदबाज, पर लेग स्पिनर एक भी नहीं, जानें कहां खो गए रिस्ट के जादूगर?

0
6


कानपुर. टीम इंडिया (Team India) टेस्ट सीरीज के लिए तैयार है. पहला मुकाबला (IND vs NZ Test Series) 25 नंवबर से कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में खेला जाना है. 16 सदस्यीय टीम में 8 गेंदबाज हैं. लेकिन किसी भी लेग स्पिनर को टीम में जगह नहीं मिली है. टेस्ट इतिहास को देखें तो भारत की ओर सबसे अधिक विकेट लेग स्पिनर अनिल कुंबले (Anil Kumble) ने ही लिए हैं. ऐसे में सवाल उठना लाजिमी है कि आखिर हमारे लेग स्पिनर कहां खो गए. आइए आपको इस बारे में विस्तार से बताते हैं.

टी20 ने टेस्ट ही नहीं पूरे क्रिकेट को बदल कर रख दिया है. टीम इंडिया (Team India) के मौजूदा समय के सबसे बेस्ट लेग स्पिनर माने जाने वाले युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) 2016 से इंटरनेशनल क्रिकेट खेल रहे हैं. वे 50 से अधिक वनडे और टी20 दोनों खेल चुके हैं. लेकिन उन्हें अब तक टेस्ट में मौका नहीं मिला है. टी20 अधिक होने के कारण गेंदबाज अधिक बदलाव करता है. ऐसे में वह टेस्ट में अधिक सफल नहीं होता है. चहल का गेंदबाजी औसत टी20 और वनडे के मुकाबले फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अधिक है. यानी वे फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अधिक सफल नहीं हैं.

आईपीएल ने गेंदबाजों को पूरी तरह से बदल दिया
आईपीएल के कारण लेग स्पिनर और कलाई के स्पिनर पूरी तरह से टी20 लीग के विशेषज्ञ बनकर रह गए हैं. टी20 लीग में 2017 तक किसी भी सीजन में कलाई के स्पिनरों ने 2000 बॉल नहीं फेंकी थीं. लेकिन 2017 से खेल पूरी तरह बदल गया. 2017 से 2020 के बीच कलाई के स्पिनर्स ने 2000 से अधिक बॉल डालीं. इतना ही नहीं उन्होंने 100 से अधिक विकेट भी झटके. बाएं हाथ के रिस्ट स्पिनर कुलदीप यादव भी कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर सके. पिछले दिनों वरुण चक्रवर्ती ने भी टी20 लीग में अपने प्रदर्शन से सबको प्रभावित किया था. इतना ही नहीं उन्हें टी20 वर्ल्ड कप टीम में भी जगह मिल गई थी.

टीम में 2 बाएं स्पिनर को जगह
भारत की 16 सदस्यीय टीम की बात की जाए तो 2 बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) और अक्षर पटेल (Axar Patel) को जगह मिली है. इसके अलावा 2 ऑफ स्पिनर आर अश्विन (R Ashwin) और जयंत यादव (Jayant Yadav) को भी टीम में शामिल किया गया है. ये चारों ही फिंगर स्पिनर हैं. इसके अलावा बतौर तेज गेंदबाज इशांत शर्मा, मोहम्मद सिराज, प्रसिद्ध कृष्णा और उमेश यादव जगह बनाने में सफल रहे हैं.

अमित मिश्रा भी नहीं छोड़ सके छाप
भारत की बात करें तो अनिल कुंबले, भागवत चंद्रशेखर, सुभाष गुप्ते जैसे अच्छे लेग स्पिनर हुए. अनिल कुंबले ने तो 619 विकेट लिए हैं. कुंबले के संन्यास के बाद अमित मिश्रा (Amit Mishra) को भी 22 टेस्ट में आजमाया गया. लेकिन वे 36 की औसत से सिर्फ 76 विकेट ले सके. वे 2016 के बाद से टेस्ट टीम से बाहर हैं. हालांकि उनका टी20 में प्रदर्शन टेस्ट के मुकाबले अच्छा है. वे टेस्ट में जहां 36 की औसत से विकेट लिए. वहीं टी20 में वे सिर्फ 23 की औसत से विकेट ले रहे हैं.

यह भी पढ़ें: IND vs NZ: टीम इंडिया को कानपुर टेस्ट से पहले लगा बड़ा झटका, केएल राहुल चोट के कारण बाहर

यह भी पढ़ें: IND vs NZ: कानपुर में होने वाले पहले टेस्ट की पिच खराब! भारत और न्यूजीलैंड ने की शिकायत

भारत की नहीं अन्य देशों की बात करें तो वहां भी लेग स्पिनर टेस्ट में अच्छा नहीं कर पा रहे हैं. ऑस्ट्रेलिया ने शेन वॉर्न (Shane Warne) जैसे लेग स्पिनर दिए. लेकिन अब वहां भी इनकी कमी है. इंग्लैंड के लेग स्पिनर आदिल राशिद (Adil Rashid) भी टेस्ट के मुकाबले टी20 में अधिक सफल हैं.

Tags: Anil Kumble, BCCI, Cricket news, IND vs NZ, India vs new zealand, Kuldeep Yadav, Rahul Dravid, Team india, Yuzvendra Chahal





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here