IND vs NZ 1st Test: तेज गेंदबाज या स्पिनर ? जानिए कानपुर की पिच से किसे मिलेगी मदद; मौसम क्या गुल खिलाएगा ?

0
3


नई दिल्ली. भारत और न्यूजीलैंड के बीच गुरुवार से 2 टेस्ट की सीरीज का कानपुर (IND vs NZ Kanpur Test) में आगाज होने जा रहा है. टीम इंडिया की नजर वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप (WTC) में न्यूजीलैंड से मिली हार का बदला लेने पर होगी. हालांकि, उसे अनुभवी खिलाड़ियों की कमी खल सकती है. क्योंकि इस सीरीज के लिए बीसीसीआई ने कई अहम खिलाड़ियों को आराम दिया है. इसमें टीम के ओपनर रोहित शर्मा (Rohit Sharma), तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah), मोहम्मद शमी और ऋषभ पंत हैं. केएल राहुल भी चोट के कारण पहला टेस्ट नहीं खेलेंगे.

ऐसे में विराट कोहली (Virat Kohli) की गैरहाजिरी में कानपुर टेस्ट में कप्तानी कर रहे अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) के लिए प्लेइंग-11 चुनना और न्यूजीलैंड के खिलाफ जीत का प्लान बनाना आसान नहीं होगा. उनके लिए पहली राहत की बात यह है कि राहुल द्रविड़ बतौर हेड कोच टीम के साथ रहेंगे, जिनका अनुभव युवा खिलाड़ियों के काम आ सकता है.

रहाणे के लिए दूसरी राहत है कानपुर के ग्रीन पार्क (Kanpur Green Park) में भारत का रिकॉर्ड. न्यूजीलैंड कभी भी इस मैदान पर भारत को हरा नहीं पाया है. भारत ने इस मैदान पर पिछले 6 में से 5 टेस्ट जीते हैं. हमेशा से ही ग्रीन पार्क में स्पिन गेंदबाज हावी रहे हैं.

इस मैदान पर शीर्ष-5 विकेट लेने वाले गेंदबाजों में 4 स्पिनर हैं. इसमें अनिल कुंबले (21 विकेट), हरभजन सिंह (20 विकेट), सुभाष गुप्ते (19 विकेट) और जसुभाई पटेल (14 विकेट) हैं. न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट टीम में शामिल अनुभवी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन भी इस मैदान पर एक टेस्ट खेले हैं और इसमें उन्होंने 10 विकेट लिए हैं.

प्रैक्टिस विकेट को लेकर दोनों टीमों ने शिकायत की थी
ऐसे में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट में भी पिच का मिजाज कुछ ऐसा ही रह सकता है. हालांकि, मैच से पहले दोनों ही टीमों ने प्रैक्टिस विकेट को लेकर शिकायत की है. दोनों टीमों को इस बात का डर था इस विकेट पर प्रैक्टिस करने से खिलाड़ी घायल हो सकते थे. इसके बाद पिच में बदलाव किया गया.

न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों ने स्पिन ट्रैक के हिसाब से तैयारी की
न्यूजीलैंड टीम भी यह मानकर चल रही है कि कानपुर की पिच स्पिन गेंदबाजों की मददगार होगी. यह बुधवार को हुए टीम के ट्रेनिंग सेशन में भी नजर आया. रॉस टेलर नई गेंद से न्यूजीलैंड के स्पिनर मिचेल सैंटनर और रचिन रवींद्र का सामना करते नजर आए. इसके बाद सलामी बल्लेबाज डेरिल मिचेल और टॉम लाथम भी स्पिन गेंदबाजों के साथ प्रैक्टिस करते नजर आए. इससे साफ है कि न्यूजीलैंड ने भारतीय स्पिन गेंदबाजों को ध्यान में रखते हए ही इस टेस्ट की तैयारी की है.

तीन स्पिनर्स के साथ उतर सकती दोनों टीमें
पिछली बार जब कानपुर में भारत ने टेस्ट में न्यूजीलैंड की मेजबानी की थी. तब अश्विन और जडेजा की जोड़ी ने कुल 16 विकेट लिए थे. यानी इन दो खिलाड़ियों का प्लेइंग-11 में शामिल होने का दावा मजबूत है. भारतीय कप्तान अजिंक्य रहाणे भी पिच को लेकर खुश नजर आए. उन्होंने यह तो नहीं बताया कि पिच का बर्ताव कैसा होगा, स्पिन गेंदबाजों को इससे मदद मिलेगी या नहीं ?. लेकिन उन्होंने यह जरूर साफ कर दिया कि जैसे बाकी टीमें घरेलू माहौल और कंडीशंस का फायदा उठाती हैं. तो भारत भी वैसा ही करेगा. ऐसे में अगर दोनों ही टीमें इस टेस्ट में 3 स्पिन गेंदबाजों के साथ उतरें तो शायद ही किसी को हैरानी होगी.

IND vs NZ: अजिंक्य रहाणे फॉर्म को लेकर नहीं परेशान, बोले- योगदान का मतलब शतक नहीं

कानपुर का मौसम कैसा रहेगा ?
उत्तर भारत में ठंड की शुरुआत हो चुकी है. ऐसे में कानपुर टेस्ट के शुरुआती घंटों में ठंड का असर नजर आ सकता है. कानपुर टेस्ट के पहले दिन तापमान 28 डिग्री के आसपास रह सकता है. जो टेस्ट क्रिकेट के लिहाज से अच्छा है. दिन भर 11 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है. सुबह के वक्त ओस का असर थोड़ा रह सकता है. ऐसे में तेज गेंदबाजों को मदद मिल सकती है. वहीं, बारिश की आशंका ना के बराबर है.

Tags: Ajinkya Rahane, IND vs NZ 2021, IND vs NZ First Test, India vs new zealand, Kane williamson





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here