IND vs NZ: सीरीज जीत के साथ टीम इंडिया ने बनाए दमदार रिकॉर्ड, देखें आंकड़े

0
30

[ad_1]

नई दिल्ली. भारत ने न्यूजीलैंड (India vs New Zealand) को दूसरे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच में 372 रन शिकस्त दी, जो उसकी टेस्ट मैचों में रनों के लिहाज से सबसे बड़ी जीत और कीवी टीम की सबसे बड़ी हार है. न्यूजीलैंड की टीम कानपुर में पहले टेस्ट मैच में बमुश्किल हार टाल पाई थी, लेकिन मुंबई से उसे करारी शिकस्त झेलनी पड़ी. न्यूजीलैंड ने 1988 से भारत में कोई टेस्ट मैच नहीं जीता है और वह अभी तक भारतीय धरती पर टेस्ट सीरीज नहीं जीत पाया. भारत का इससे पहले रनों की लिहाज से सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ था, जिसे उसने 2015 में नई दिल्ली 337 रन से हराया था. न्यूजीलैंड के खिलाफ इससे पहले उसका रिकॉर्ड 321 रन से जीत का था, जो उसने 2016 में इंदौर में हासिल किया था.

न्यूजीलैंड की यह रनों के लिहाज से सबसे बड़ी हार है. इससे पहले दक्षिण अफ्रीका ने उसे 2007 में जोहानिसबर्ग में 358 रन से पराजित किया था. जब घर में टेस्ट की बात आती है तो भारतीय क्रिकेट टीम (Team India) अपनी ‘अजेय’ स्थिति पर कायम रहती है. विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (WTC) विजेता न्यूजीलैंड के खिलाफ विराट कोहली एंड कंपनी ने मुंबई में दूसरे टेस्ट में 372 रनों से शानदार जीत (IND vs NZ) हासिल की और सीरीज 1-0 से सील कर दी. इस प्रक्रिया में, भारत ने घर में अपनी लगातार 14वीं टेस्ट सीरीज जीती.

सीरीज की जीत ने सुनिश्चित किया कि टीम इंडिया ने अपनी सीरीज जीतने की लय को 8 से अधिक वर्षों तक बढ़ाया, जिनमें से पहली जीत 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आई थी. घर पर भारत की आखिरी टेस्ट सीरीज हार 2012-2013 सीजन में इंग्लैंड के खिलाफ आई थी, जहां इंग्लैंड 4 मैचों की सीरीज में 2-1 से विजयी हुआ था. उसके बाद से मेजबान टीम ने घर में एक भी सीरीज नहीं हारी है. वास्तव में, भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ उस हार के बाद से घरेलू परिस्थितियों में केवल दो टेस्ट मैच ही गंवाए हैं.

न्यूजीलैंड की टीम 540 रन के मुश्किल लक्ष्य का पीछा करते हुए अपनी दूसरी पारी में 167 रन पर आउट हो गई. भारत ने अपनी पहली पारी में 325 रन बनाए थे, जिसके जवाब में न्यूजीलैंड की टीम 62 रन पर सिमट गई थी. भारत ने अपनी दूसरी पारी सात विकेट पर 276 रन पर समाप्त घोषित की थी. टेस्ट क्रिकेट में भारत की सबसे बड़ी जीत है. इससे पहले 337 रन की थी, जो 2015 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आई थी.

टीम इंडिया और उसके खिलाड़ियों ने इस मैच में कई दमदार रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं. एक नजर मैच के सभी रिकॉर्ड्स पर:

– विराट कोहली अब 50 टेस्ट जीत, 50 वनडे जीत और 50 टी20 इंटरनेशल जीत हासिल करने वाले पहले खिलाड़ी बन गए हैं.

– भारत ने अब 2013 में आखिरी बार हारने के बाद घर में लगातार 14 टेस्ट सीरीज जीत के लिए रिकॉर्ड को आगे बढ़ाया है. इनमें से 11 आखिरी बार विराट कोहली के नेतृत्व में आई हैं.

WTC Points Table: भारत तीसरे स्थान पर, चैंपियन न्यूजीलैंड को लगा बड़ा झटका, यहां देखें पूरी लिस्‍ट

– न्यूजीलैंड अबतक भारत में भारत को टेस्ट सीरीज में 12 प्रयासों में हराने में विफल रहा है. वहीं, न्यूजीलैंड अपने पिछले 19 प्रयासों में भारत में एक टेस्ट जीतने में विफल रहा है. आखिरी बार 1988 में वानखेड़े में भारत में भारत के खिलाफ न्यूजीलैंड ने एक टेस्ट मैच जीता था.

– भारत के स्टार ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने सोमवार को केवल एक विकेट लिया, लेकिन हेनरी निकोल्स को आउट करके वह घरेलू धरती पर 300 टेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाजों के विशेष क्लब में शामिल हो गए. भारत की तरफ से अश्विन से पहले यह कारनामा केवल अनिल कुंबले ने किया था, जिन्होंने अपने देश में 350 विकेट लिए हैं. कुंबले और अश्विन के बाद हरभजन सिंह (265) और कपिल देव (219) का नंबर आता है.

– अश्विन अपने घरेलू मैदानों पर 300 विकेट लेने वाले दुनिया के कुल छठे गेंदबाज बन गए हैं. उनसे पहले श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन (493), इंग्लैंड के जेम्स एंडरसन (402), कुंबले, इंग्लैंड के स्टुअर्ट ब्रॉड (341) और ऑस्ट्रेलिया के शेन वॉर्न (319) ने यह उपलब्धि हासिल की थी. अश्विन ने 49 मैचों में यह उपलब्धि हासिल की जबकि मुरलीधरन 48 मैचों में इस मुकाम तक पहुंचे थे. कुंबले ने घरेलू धरती पर 300वां विकेट अपने 52वें मैच में लिया था.

ICC Rankings: राहुल द्रविड़ ने पहली ही सीरीज में टीम इंडिया को नंबर-1 बनाया, न्यूजीलैंड से छीना ताज

– आर अश्विन ने न्यूजीलैंड के खिलाफ सभी प्रारूपों में सर्वाधिक विकेट लेने के मामले में जहीर खान (80) को पीछे छोड़ दिया. उनसे आगे अनिल कुंबले (89) और जवागल श्रीनाथ (84) हैं.

– वानखेड़े स्टेडियम में आर अश्विन ने विकेट लेने के मामले में अनिल कुंबले की बराबरी की, जिन्होंने आयोजन स्थल पर 38 विकेट लिए हैं.

– आर अश्विन ने अब तक टेस्ट में 51 बार चार विकेट लिए हैं.

– ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को ‘मैन ऑफ द सीरीज’ भी चुना गया. यह नौवां अवसर है जबकि उन्होंने यह पुरस्कार जीता. अश्विन ने इस मामले में जैक कैलिस की बराबरी की जबकि रिकॉर्ड मुरलीधरन (11) के नाम पर है.

टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक मैन ऑफ द सीरीज पुरस्कार:
मुथैया मुरलीधरन – 11 (133 टेस्ट)
रविचंद्रन अश्विन – 9 (81 टेस्ट)
जैक कैलिस- 9 (166 टेस्ट)
रिचर्ड हैडली – 8 (86 टेस्ट)
इमरान खान – 8 (88 टेस्ट)

– 66 विकेट अब भारत-न्यूजीलैंड टेस्ट प्रतिद्वंद्विता में अश्विन की टैली है, क्योंकि वह महान रिचर्ड हैडली (65 विकेट) को पीछे छोड़ते हुए विकेट लेने वालों में शीर्ष स्थान पर हैं.

– टेस्ट क्रिकेट में एक कप्तान द्वारा सर्वाधिक जीत:
53 – ग्रीम स्मिथ
48 – रिकी पोंटिंग
41 – स्टीव वॉ
39 – विराट कोहली
36 – क्लाइव लॉयड

Tags: IND vs NZ, IND vs NZ 2021, India vs new zealand, India vs New Zealand 2021, Number Game, Ravichandran ashwin, Team india, Virat Kohli



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here