विराट कोहली को वनडे कप्तानी से हटाने पर पूर्व चीफ सेलेक्टर बोले- खिलाड़ियों को सीधे समंदर में नहीं फेंक सकते…

0
25

[ad_1]

नई दिल्ली. विराट कोहली ( Virat Kohli) से वनडे टीम की कप्तानी छीनने के बाद से पूर्व क्रिकेटर इस पर अपनी राय जाहिर कर रहे हैं. इसमें नया नाम पूर्व चीफ सेलेक्टर दिलीप वेंगसरकर (Dilip Vengsarkar) का भी जुड़ गया है. वेंगसरकर का मानना है कि विराट की जगह रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को टी20 के साथ वनडे टीम का कप्तान बनाने का बीसीसीआई का फैसला सही है. रोहित काफी वक्त से अच्छा कर रहे हैं और वो कप्तानी का इंतजार कर रहे थे.

वेंगसकर ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहा, “अब विराट कोहली (Virat Kohli) टेस्ट क्रिकेट पर ज्यादा ध्यान लगा पाएंगे और रोहित शर्मा (Rohit Sharma) वनडे पर, जिसमें उन्होंने बतौर बल्लेबाज और लीडर लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है. उन्होंने मुंबई इंडियंस के लिए कई बार आईपीएल जीता है. वहीं, जब भी रोहित को व्हाइट बॉल क्रिकेट में कप्तानी सौंपी गई है. उन्होंने बेहतर नतीजा ही दिया है.

विराट के कंधों पर से बोझ उतर जाएगा: वेंगसरकर
पूर्व चीफ सेलेक्टर ने आगे कहा, “विराट ने वनडे और टी20 टीम के कप्तान के रूप में अब तक अच्छा प्रदर्शन किया है. लेकिन अब उनके कंधों पर से बोझ उतर जाएगा. वह इस समय दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक हैं. वह सफल है और उसके नेतृत्व में कुछ बेहतरीन प्रदर्शन भी हुए हैं. इससे उन्हें टेस्ट क्रिकेट पर अधिक ध्यान केंद्रित करने में मदद मिलेगी, जिसमें एक खिलाड़ी की असली परीक्षा होती है.”

‘सेलेक्टर्स को अभी से भविष्य का कप्तान तैयार करना होगा’
दिलीप वेंगसरकर का मानना है कि विराट कोहली को सिर्फ टेस्ट और रोहित शर्मा को वनडे, टी20 का कप्तान बनाने से ही सबकुछ ठीक नहीं हो जाएगा. सेलेक्टर्स को अब भविष्य के बारे में भी सोचना होगा. उन्हें अभी से ही वनडे और टेस्ट टीम की कप्तानी के लिए किसी खिलाड़ी को तैयार करना होगा. ये सिर्फ कप्तानी ही नहीं खिलाड़ियों पर भी लागू होता है. सेलेक्टर्स को बैकअप खिलाड़ी तैयार करने होंगे, जो सीनियर की जगह ले सकें. सेलेक्टर्स का काम ही है खिलाड़ियों को तैयार करना. बेंच स्ट्रेंथ मजबूत रहेगी तो बड़े खिलाड़ियों के रिटायर होने पर ज्यादा परेशानी नहीं आएगी. आप वेस्टइंडीज को देखिए इस टीम ने 15 सालों तक विश्व क्रिकेट पर राज किया. लेकिन अब यह टीम नंबर-1 से बिल्कुल नीचे पहुंच गई.

रोहित शर्मा ने वनडे कप्तान बनने के बाद की विराट कोहली की तारीफ, कहा- हमें उसकी जरूरत है

On This Day: भारत ने 10 साल बाद ऑस्ट्रेलिया में जीता टेस्ट, चेतेश्वर पुजारा ने की 11 घंटे बल्लेबाजी

‘खिलाड़ियों को समंदर में फेंककर तैरने की उम्मीद नहीं कर सकते’
वेंगसरकर ने आगे कहा, “जब मैं सेलेक्शन कमेटी का चेयरमैन था तो मैंने अनिल कुंबले (Anil Kumble) को कप्तान बनाया और उसी समय महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) और दूसरे खिलाड़ियों को तैयार किया. मैंने इशांत शर्मा को तैयार किया, जिन्हें मैं इंग्लैंड दौरे पर ले गया. मैं जानता था कि इशांत को वहां मौका नहीं मिलेगा. लेकिन मुझे ये पता था कि वो बाद में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर अच्छा प्रदर्शन कर सकता है. सेलेक्टर का काम ही है खिलाड़ियों को तैयार करना होता है. आप किसी खिलाड़ी को गहरे समंदर में फेंककर उनके तैरने की उम्मीद नहीं कर सकते. मेरा इस चीज पर भरोसा नहीं है. आपको सही वक्त पर मौके देने होंगे.

Tags: BCCI, Cricket news, Dilip Vengsarkar, Rohit sharma, Virat Kohli



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here