ऑस्ट्रेलिया के पास कप्तान के विकल्प की कमी? मार्नस लाबुशेन अच्छा प्रदर्शन करके भी लिस्ट से बाहर

0
32

[ad_1]

नई दिल्ली. एशेज सीरीज (Ashes Series) से पहले ऑस्ट्रेलिया को नया टेस्ट कप्तान मिला. टिम पैन (Tim Paine) ने विवाद के बाद कप्तानी से इस्तीफा दे दिया. उनकी जगह तेज गेंदबाज पैट कमिंस (Pat Cummins) को नया कप्तान बनाया गया है. वहीं बॉल टेम्परिंग विवाद के कारण एक साल तक बैन रहे स्टीव स्मिथ (Steve Smith) को उप-कप्तान की जिम्मेदारी दी गई है. स्मिथ को फिर से जिम्मेदारी मिलने पर कुछ लोगों ने खुशी जताई तो कुछ नाराज दिखे. लेकिन 65 साल बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (Cricket Australia) ने किसी गेंदबाज को टीम की कमान सौंपी.

पैट कमिंस (Pat Cummins) के नेतृत्व में ऑस्ट्रेलिया ने एशेज सीरीज में जीत के साथ शुरुआत की. लेकिन कोरोना के कारण वे दूसरे टेस्ट (Australia vs England) से बाहर हो गए हैं. उनकी जगह स्टीव स्मिथ कप्तानी कर रहे हैं. ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि क्या स्टीव स्मिथ को पिछले दरवाजे से फिर से कप्तान बनाए जाने की तैयार तो नहीं चल रही. क्योंकि अगर टिम पैन के हटाए जाने के बाद उन्हें कप्तान बना दिया जाता तो विवाद हो सकता था. बतौर बल्लेबाज स्मिथ का प्रदर्शन पिछले 2 साल में मानर्स लाबुशेन के मुकाबले कम रहा है. इससे यह भी दिख रहा है कि ऑस्ट्रेलिया के पास कप्तानी के विकल्प की कमी है.

मार्नस लाबुशेन से बोर्ड को क्या दिक्कत?

मार्नस लाबुशेन (Marnus Labuschagne) की बात करें तो वे पिछले 2 साल से ऑस्ट्रेलिया की ओर टेस्ट में सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं. उनसे स्टीव स्मिथ करीब 500 रन पीछे हैं. ऐसे में ऑस्ट्रेलिया (Australia) की ओर से उन्हें जिम्मेदारी नहीं दिए जाने पर सवाल उठ रहे हैं. उन्हें लेकर कहा जाता है कि वे अंर्तमुखी हैं. लेकिन यह कोई कारण नहीं हैं. टीम इंडिया (Team India) के वर्तमान कोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) भी ऐसे ही कहे जाते थे. लेकिन बतौर कप्तान उन्होंने झंडे गाड़े. टीम ने इंग्लैंड के अलावा पाकिस्तान (India vs Pakistan) में भी जीत हासिल की. नवजोज सिंह सिद्धू भी शुरुआत में अंर्तमुखी थी. लेकिन बाद में उन्होंने अपनी बातों से सबके मुंह बंद कर दिए.

जिसकी जगह पक्की नहीं, उसे बनाया उप-कप्तान

एशेज सीरीज (Ashes Series) के पहले मुकाबले में ट्रेविस हेड (Travis Head) के खेलने की उम्मीद नहीं थी. टीम में उस्मान ख्वाजा भी थे. लेकिन पहले टेस्ट में उन्होंने शतक लगाकर अपनी जगह पक्की की. दूसरे टेस्ट के लिए हेड को उप-कप्तान बनाया गया है. यानी जिसकी जगह सीरीज से पहले टीम में पक्की नहीं थी, उसे टीम की बड़ी जिम्मेदारी देने का मतलब है कि लाबुशेन पर अभी भी टीम को विश्वास नहीं है. हेड और लाबुशेन दोनों की उम्र 27-27 साल है. हेड का यह 21वां तो लाबुशेन का 20वां टेस्ट है. लाबुशेन का प्रदर्शन हेड ने कहीं अच्छा है.

यह भी पढ़ें: टी20 इंटरनेशनल में सिर्फ 6 विकेट, एक ही मैच में 6 विकेट लेकर रचा इतिहास, 16 गेंद पर नहीं दिया रन

यह भी पढ़ें: IND vs SA: टीम इंडिया ने शुरू की प्रैक्टिस, कोहली और द्रविड़ साथ में फुटबॉल खेलते दिखे, Watch Video

स्टीव स्मिथ को 2018 में दक्षिण अफ्रीका दाैरे पर बॉल टेम्परिंग के कारण एक साल तक के लिए खेलने तक से बैन कर दिया गया था. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने पूरे मामले की जांच के बाद स्मिथ को दोषी पाया था. टीम के सीनियर बल्लेबाज डेविड वॉर्नर (David Warner) पर भी बैन लगा था. हालांकि अभी दोनों खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया की ओर से खेल रहे हैं.

Tags: Ashes Series, Ashes Series 2021-22, Australia, Cricket news, Marnus Labuschagne, Pat cummins, Steve Smith, Tim paine, Travis Head



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here