Vijay Hazare Trophy: वेंकटेश अय्यर के पास साउथ अफ्रीका दाैरे से पहले एक और मौका, बना चुके हैं 300 से अधिक रन

0
37

[ad_1]

जयपुर. कर्नाटक, विदर्भ और मध्य प्रदेश की टीम रविवार को यहां खेले जाने वाले विजय हजारे ट्रॉफी (Vijay Hazare Trophy) के तीन प्री-क्वार्टर फाइनल में अपनी अपनी प्रतिद्वंद्वियों से थोड़ी मजबूत दिखाई देती हैं. फैज फजल की अगुआई वाली विदर्भ कमजोर माने जाने वाले त्रिपुरा के खिलाफ मुकाबले में प्रबल दावेदार होगी, लेकिन केएल सैनी स्टेडियम में कर्नाटक और राजस्थान के बीच टक्कर बराबरी की होगी. तीसरा क्वार्टर फाइनल मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के बीच होगा. इसके भी रोमांचक होने की पूरी उम्मीद है. मध्य प्रदेश की टीम वेंकटेश अय्यर (Venkatesh Iyer) के प्रदर्शन से मजबूत दिखती है, जिन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ अपनी पदार्पण टी20 सीरीज में चमकदार प्रदर्शन किया था और यही दोनों टीमों के बीच अंतर पैदा कर सकता है. साउथ अफ्रीका दौरे से पहले (India vs South Africa) वे एक बार फिर अच्छा प्रदर्शन करना चाहेंगे.

विदर्भ की बात करें तो टीम कप्तान फजल के प्रदर्शन पर निर्भर करेगी ,जिन्होंने हमेशा बड़े मुकाबलों में अपना सर्वश्रेष्ठ किया है और रविवार को भी वह एक और बड़ी पारी खेलने के लिए बेताब होंगे. फजल को हालांकि अपनी टीम के खिलाड़ियों जैसे अर्थव तायडे, गणेश सतीश, यश राठौड़ और अक्षय वाडकर से सहयोग की जरूरत होगी, ताकि वे त्रिपुरा के आक्रमण को पस्त कर सकें. गेंदबाजी में युवा तेज गेंदबाज यश ठाकुर लीग चरण में 14 विकेट झटक कर दूसरे सर्वाधिक विकेट लेने वाले खिलाड़ी हैं.

अय्यर दिखाना चाहेंगे दम

मध्य प्रदेश बनाम उत्तर प्रदेश मैच में सभी का ध्यान अय्यर पर लगा होगा, जिन्होंने लीग चरण में बल्ले से चमकदार प्रदर्शन किया. बाएं हाथ का यह सलामी बल्लेबाज किसी भी अच्छे गेंदबाजी आक्रमण की धज्जियां उड़ा सकता है और उत्तर प्रदेश भी इससे बच नहीं सकता. पिछले इंडियन प्रीमियर लीग सत्र की खोज अय्यर ने अभी तक 5 मैचों में 349 रन बनाए हैं. मध्य प्रदेश के लिए बल्लेबाज शुभम शर्मा अहम खिलाड़ी होंगे, जो अभी तक लीग चरण में 335 रन बना चुके हैं. लेकिन अन्य बल्लेबाजों को भी उत्तर प्रदेश के बेहतरीन आक्रमण के खिलाफ अपनी भूमिका बेहतरीन ढंग से निभानी होगी, जिसमें यश दयाल और शिवम मावी जैसे तेज गेंदबाज शामिल हैं.

तेज गेंदबाजों से निपटना होगा

उत्तर प्रदेश पिछले सत्र में उप विजेता रही थी और वह इस बार एक और कदम आगे बढ़ने के लिए बेताब होगी. ऐसा करने के लिए सलामी बल्लेबाज माधव कौशिक और विकेटकीपर बल्लेबाज आर्यन जुयाल को मध्य प्रदेश के आवेश खान की अगुवाई वाले आक्रमण के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करना होगा. उत्तर प्रदेश के मध्यक्रम को भी बेहतर खेल दिखाना होगा. राजस्थान बनाम कर्नाटक के मुकाबले को बराबरी का माना जा रहा है लेकिन कर्नाटक को नॉकआउट में खेलने का ज्यादा अनुभव है, जिससे यह उसके लिए फायदेमंद हो सकता है.

यह भी पढ़ें: IPL 2022: गौतम गंभीर को आईपीएल की सबसे महंगी टीम में मिली जगह, दी अहम जिम्मेदारी

यह भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलिया के पास कप्तान के विकल्प की कमी? मार्नस लाबुशेन अच्छा प्रदर्शन करके भी लिस्ट से बाहर

यह मुकाबला कर्नाटक के बल्लेबाज रविकुमार समर्थ, रोहन कदम, मनीष पांडे, करुण नायर की उत्तर प्रदेश के खलील अहमद, अनिकेत चौधीर, कमलेश नागरकोटी, रवि बिश्नोई और शुभम शर्मा के बीच होगा. लेकिन अगर राजस्थान को अंतिम-8 में जगह बनानी है तो उनके बल्लेबाजों को रन जुटाने होंगे वर्ना कर्नाटक आसानी से घरेलू टीम को पराजित कर सकती है.

Tags: BCCI, Cricket news, Ind vs sa, India vs South Africa, Venkatesh Iyer, Vijay hazare trophy, Vijay hazare trophy 2021



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here