भुवनेश्‍वर, उमेश यादव से भी था किफायती, 4 मैच के बाद नहीं मिला टीम में मौका, अब रचा इतिहास

0
29

[ad_1]

नई दिल्‍ली. ऋषि धवन (Rishi dhawan) की अगुआई में हिमाचल प्रदेश ने इतिहास रच दिया. विजय हजारे ट्रॉफी (Vijay Hazare Trophy) के फाइनल में स्टार खिलाड़ियों से सजी तमिलनाडु टीम को 11 रन से हराकर हिमाचल ने पहली बार खिताब जीत लिया. ऋषि धवन ने फाइनल में 3 विकेट लिए और 23 गेंदों पर नाबाद 42 रन बनाए. धवन ने भारत के लिए 4 इंटरनेशनल मैच खेले, जिसमें 3 वनडे और एक टी20 मैच शामिल है.

हिमाचल के कप्‍तान ने 2016 में भारत के लिए ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ 5 वनडे मैचों की सीरीज से डेब्‍यू किया था. उन्‍हें 3 मैच खेलने का मौका मिला था. 2016 में ही उन्‍होंने जिम्‍बाब्‍वे के खिलाफ टी20 क्रिकेट में डेब्‍यू किया था.

काफी किफायती गेंदबाजी की थी धवन ने 

ऑस्‍ट्रेलिया दौरे पर हालांकि धवन काफी सफल नहीं हो पाए थे, मगर भुवनेश्‍वर कुमार और उमेश यादव (Umesh Yadav) की तुलना में काफी किफायती गेंदबाजी की थी, मगर इस दौरे के बाद उन्‍हें सिर्फ एक बार एक टी20 मैच में मौका मिला और फिर टीम से बाहर ही हो गए. 2016 के बाद से 31 साल के धवन ने कोई इंटरनेशनल मैच नहीं खेला.

IND vs SA: भारत के पास अफ्रीकी धरती पर इतिहास रचने का मौका, केएल राहुल भी कर सकते हैं करिश्मा

IPL 2022: विजय हजारे ट्रॉफी में शतक जड़ने वाले शुभम अरोड़ा पर लग सकती है बड़ी बोली

17 जनवरी 2016 को उन्‍होंने ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे वनडे मैच से इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्‍यू किया था. जहां धवन की इकोनॉमी 5.50 की रही. वहीं उमेश यादव की इकोनॉमी 6.91 की रही. कैनबरा में खेले गए चौथे वनडे मैच में धवन ने 5.88 की इकोनॉमी से गेंदबाजी की. वहीं उमेश यादव ने 6.70, भुवनेश्‍वर कुमार ने 8.62 की इकोनॉमी से गेंदबाजी की थी. सीरीज के 5वें और आखिरी मैच में धवन ने 7.40 की इकोनॉमी से गेंदबाजी की. उमेश यादव की इकोनॉमी 10.25 की रही. धवन ने इस मैच में जॉर्ज बैली का विकेट लिया था.

Tags: Cricket news, Ishant Sharma, Umesh yadav, Vijay hazare trophy

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here