IND vs SA: टीम इंडिया की कमजोरी को ताकत में बदला, ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड में दिलाई फतह; अब अफ्रीका की बारी

0
45

[ad_1]

नई दिल्ली. टीम इंडिया इस साल भले ही विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप का खिताब जीतने में चूक गई हो. लेकिन उसने शानदार खेल दिखाया. साल की शुरुआत ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में हराने से हुई और फिर अगस्त-सितंबर में इंग्लैंड को उसी जमीन पर पानी पिला दिया. इन दोनों सीरीज में एक खिलाड़ी गेंद और बल्ले दोनों से चमका. इस खिलाड़ी का नाम था शार्दुल ठाकुर. शार्दुल ने ब्रिसबेन से लेकर ओवल तक अपना जलवा दिखाया. उनके बल्ले की गूंज पूरी दुनिया में सुनाई दी और फैंस की तरफ से उन्हें ‘लॉर्ड शार्दुल’ नाम लिखा. अब उनकी नजर दक्षिण अफ्रीका दौरे में भी इसी प्रदर्शन को दोहराने पर है.

शार्दुल ठाकुर (Shardul Thakur) ने बीसीसीआई टीवी को दिए इंटरव्यू में अपने इरादे भी जता दिए हैं. उन्होंने ऑफ स्पिनर आर अश्विन (R Ashwin) से अपनी बल्लेबाजी को लेकर खुलकर बात की. अश्विन ने शार्दुल की तारीफ करते हुए कहा कि टीम इंडिया के पास निचले क्रम में ऐसा खिलाड़ी नहीं था, जो हुक और पुल शॉट खेल सके. जो शॉर्ट गेंद को सीधे मैदान के बाहर पहुंचा दे. आपने इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में यह कर दिखाया. अब मौका दक्षिण अफ्रीका में यह कर दिखाने का है.

अश्विन को जवाब देते हुए शार्दुल ने कहा, “मैं दक्षिण अफ्रीका में भी अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद कर रहा हूं. एक टीम के तौर पर हमारे लिए दो विदेशी दौरे अच्छे रहे हैं. साउथ अफ्रीका की कंडीशन में टीम के लिए योगदान देकर मुझे सबसे ज्यादा खुशी होगी.”

शार्दुल ने ओवल टेस्ट में जीत दिलाई थी
शार्दुल ने इस साल इंग्लैंड के खिलाफ ओवल टेस्ट की दोनों पारियों में अर्धशतक ठोके थे और टीम इंडिया को ऐतिहासिक जीत में अहम रोल निभाया था. इसी ऑलराउंड खेल के कारण ही शार्दुल को द. अफ्रीका के खिलाफ सेंचुरियन टेस्ट के लिए प्लेइंग इलेवन में जगह मिली.

24 साल उम्र और इतनी ही गेंद पर लुटाए 70 रन, बना टी20 लीग का सबसे महंगा गेंदबाज

यह भी पढ़ें: तेज गेंदबाज का बेटा बना टी20 का स्टार, चौके और छक्कों की कर दी बरसात, ठोका तूफानी शतक

आत्मविश्वास मेरी सबसे बड़ी ताकत: शार्दुल
भारत के लिए 43 मैच में 67 विकेट चटकाने के अलावा 366 रन बनाने वाले शार्दुल का मानना है कि आत्मविश्वास महत्वपूर्ण होता है. उन्होंने कहा, “मुझे गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों में अपने खेल को लेकर योजना बनाना पसंद है. जब मैं मैदान पर उतरता हूं तो मेरे लिए आत्मविश्वास ही सब कुछ है. अगर आप सफेद गेंद का क्रिकेट खेल रहे हैं, तो आप यॉर्कर के बारे में सोचते हैं. इसलिए यॉर्कर फेंकने के लिए में पूरे आत्मविश्वास के साथ जाता हूं जो एक खिलाड़ी के रूप में मेरे लिए महत्वपूर्ण है.”

मुंबई के इस क्रिकेटर ने कहा कि उनका लक्ष्य ऐसा खिलाड़ी बनना है जो हमेशा टीम की जीत में योगदान दे.

Tags: Cricket news, India vs Australia, India Vs England, India vs South Africa, R ashwin, Shardul thakur



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here