टीम इंडिया में जगह बनानी है तो घरेलू टूर्नामेंट में नहीं आईपीएल में करना होगा प्रदर्शन, सेलेक्टर्स ने दिया संदेश

0
18

[ad_1]

नई दिल्ली. टीम इंडिया (Team India) को साउथ अफ्रीका में तीन मैचों की वनडे सीरीज खेलनी है. सीरीज के लिए शुक्रवार को 18 सदस्यीय टीम चुनी गई. केएल राहुल (KL Rahul) को टीम का कप्तान बनाया गया है. रोहित शर्मा अभी चोटिल हैं. टीम में युवा खिलाड़ियों ऋतुराज गायकवाड़ (Ruturaj Gaikwad) और वेंकटेश अय्यर (Venkatesh Iyer) को भी जगह मिली है. इससे पहले अय्यर को न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 सीरीज और ऋतुराज को श्रीलंका दौरे पर मौका मिला था. लेकिन दोनों खिलाड़ी आईपीएल 2021 (IPL 2021) में अच्छा प्रदर्शन करके सेलेक्टर्स की नजर में आए थे. वनडे सीरीज के मुकाबले 19 जनवरी, 21 और 23 जनवरी को होने हैं.

वनडे टीम के सेलेक्शन में देरी के पीछे यह कारण बताया गया था कि विजय हजारे वनडे टूर्नामेंट चल रहा है. इसमें कई युवा खिलाड़ी उतर रहे हैं. ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन करने वाले कितने खिलाड़ियों को वनडे टीम में जगह दी गई. पहले बात टूर्नामेंट में सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी की तो ऋतुराज गायकवाड़ ने सबसे अधिक 603 रन बनाए. लेकिन वे इस टूर्नामेंट से पहले भी टीम इंडिया (Team India) की ओर से खेल चुके थे.

ऋषि धवन का ऑलराउंड प्रदर्शन, पर टीम से बाहर

हिमाचल प्रदेश के कप्तान ऋषि धवन (Rishi Dhawan) 458 रन के साथ दूसरे नंबर पर रहे. उन्हाेंने 5 अर्धशतक जड़े. इस तेज गेंदबाज ने 17 विकेट भी झटके और ओवरऑल दूसरे नंबर पर रहे. धवन की कप्तानी में टीम ने पहली बार टूर्नामेंट का खिताब भी जीता. उन्होंने गेंद और बल्ले दोनों में वेंकटेश अय्यर से अच्छा प्रदर्शन किया. हिमाचल के ही प्रशांत चोपड़ा 456 रन के साथ तीसरे, मप्र के शुभम शर्मा 428 रन के साथ चौथे और मनर वोहरा 379 रन के साथ पांचवें नंबर पर रहे. लेकिन इनमें से किसी को भी वनडे सीरीज के लिए मौका नहीं दिया गया.

यह भी पढ़ें: IND vs SA: ऋतुराज गायकवाड़ और अय्यर वनडे टीम में, 57 शतक लगाने वाले खिलाड़ी का खेलना मुश्किल

यह भी पढ़ें: विराट कोहली को सौरव गांगुली के बाद सेलेक्शन कमेटी ने भी बता दिया झूठा! कप्तानी नहीं छोड़ने काे कहा था

सबसे अधिक विकेट, लेकिन नहीं मिला फायदा

विदर्भ के 23 साल के युवा तेज गेंदबाज यश ठाकुर ने विजय हजारे वनडे टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन किया. उन्हाेंने 7 मैच में 20 की औसत से सबसे अधिक 18 विकेट लिए. लेकिन इसका उन्हें कोई फायदा नहीं मिला. उनकी इकोनॉमी भी 6 से कम की थी. ऋषि धवन 17 विकेट के साथ दूसरे, वॉशिंगटन सुंदर 16 विकेट के साथ तीसरे पर रहे. सुंदर इससे पहले भी भारत की ओर से खेलते रहे हैं. ऐसे में उनका टीम में चुना जाना आश्चर्य की बात नहीं है.

Tags: BCCI, Ind vs sa, India vs South Africa, KL Rahul, Team india

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here