बीसीसीआई ने घरेलू क्रिकेटरों पर की पैसों की बारिश, जानिए इसकी वजह

0
18

[ad_1]

नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने घरेलू क्रिकेटरों के लंबे समय से बकाया राशि का भुगतान करना शुरू कर दिया है, जो 2020-21 सीज़न के बाद कोरोना महामारी के कारण आर्थिक तंगी का सामना कर रहे थे. रणजी ट्रॉफी के 85 साल के इतिहास में पिछले साल पहली बार टूर्नामेंट को रद्द करना पड़ा था. इससे घरेलू क्रिकेट खिलाड़ियों को पैसों की तंगी का सामना करना पड़ा था. कोरोना महामारी के कारण महिलाओं के टी-20 मैचों पर भी रोक लगा दी गई थी.

बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई से कहा, “बीसीसीआई ने पिछले सीजन में रेड बॉल टूर्नामेंट नहीं होने के कारण मुआवजे की राशि का भुगतान करना शुरू कर दिया है. वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “बहुत सारे खिलाड़ियों को बकाया राशि मिल गई है और अभी भी बहुत सारे खिलाड़ी हैं, जिन्हें भुगतान मिलना है. अगले कुछ हफ्तों में भुगतान की प्रोसेस पूरी हो जाएगी.

पिछले सितंबर में, बीसीसीआई (BCCI) ने कहा था कि 2019-20 सीज़न में भाग लेने वाले खिलाड़ियों को 2020-21 सीज़न के मुआवजे के रूप में 50 प्रतिशत मैच फीस मिलेगी. बीसीसीआई अधिकारी ने कहा, यह प्रक्रिया राज्य क्रिकेट संघों के लिए है कि वो कोरोना से पहले के सीजन में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों के भुगतान के लिए जरूरी इनवॉयस बीसीसीआई को भेज दें. जिन राज्य संघों ने खिलाड़ियों का रिकॉर्ड भेज दिया है, उन्हें भुगतान कर दिया गया है. वहीं, कुछ राज्यों ने अब तक खिलाड़ियों के भुगतान के लिए जरूरी दस्तावेज नहीं भेजे हैं. इसी वजह से उन राज्यों के खिलाड़ियों को अब तक बकाए का भुगतान नहीं हो पाया है.

13 जनवरी से शुरू होगा नया रणजी ट्रॉफी सीजन
13 जनवरी से शुरू होने वाले नए रणजी ट्रॉफी सीजन से पहले घरेलू क्रिकेट खिलाड़ियों के लिए यह बड़ी राहत की खबर है. बता दें कि रणजी ट्रॉफी के 2021-22 का सीजन के मुकाबले 7 अलग-अलग वेन्यू पर होंगे. जिस तेजी से देश में कोरोना के नए मामले बढ़ रहे हैं. ऐसे में रणजी ट्रॉफी के शेड्यूल में बदलाव से इनकार नहीं किया जा सकता है.

IND vs SA: अल्लाहुद्दीन पालेकर का 15 साल पुराना इंतजार खत्म, भारत के खिलाफ करेंगे टेस्ट डेब्यू

IND vs SA: डीन एल्गर ने दी भारत को चेतावनी, बोले-डिकॉक के संन्यास का कोई असर नहीं

पिछले साल खिलाड़ियों की सैलरी में इजाफा हुआ था
बीसीसीआई ने पूर्व भारतीय कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन, युद्धवीर सिंह, संतोष मेनन, जयदेव शाह, अविषेक डालमिया, रोहन जेटली और कार्यकारी समिति की सिफारिशों के बाद सितंबर में एपेक्स काउंसिल की बैठक के दौरान खिलाड़ियों की मैच फीस बढ़ाने का फैसला किया था. नए वेतन स्लैब के मुताबिक, सीनियर मेंस क्रिकेटर हर दिन 40 से 60 हजार रुपये कमाएंगे, जबकि वरिष्ठ महिलाओं को प्रति दिन मैच फीस के रूप में 20,000 रुपये तक मिलेंगे.

Tags: BCCI, BCCI Cricket, Cricket news, Ranji Trophy

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here