IND vs SA: वांडरर्स विदेश में टीम इंडिया का दूसरा घर, सचिन तेंदुलकर ने रखी थी ना हारने की नींव

0
17

[ad_1]

नई दिल्ली. भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच जोहानिसबर्ग के वांडरर्स मैदान पर आज से 3 टेस्ट की सीरीज का दूसरा मैच खेला जाएगा. विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम इंडिया के पास इस टेस्ट में इतिहास रचने का मौका है. भारत 29 साल से द.अफ्रीका में कोई सीरीज नहीं जीता है. ऐसे में अगर जोहानिसबर्ग की जंग में उसे जीत मिलती है तो फिर यह दक्षिण अफ्रीका में उसकी पहली टेस्ट सीरीज जीत होगी. भारत ने सेंचुरियन में 113 रन से जीत दर्ज कर अच्छी शुरुआत की है. अब जोहानिसबर्ग में उसी प्रदर्शन को दोहराने की बारी है.

टीम इंडिया के लिए अच्छी बात यह है कि जोहानिसबर्ग उसका लकी ग्राउंड है. या यूं कहे कि विदेश में दूसरा घर तो गलत नहीं होगा. दरअसल, भारतीय टीम इस मैदान पर आज तक एक भी टेस्ट नहीं हारी है. यहां भारत ने कुल 5 टेस्‍ट खेले हैं, जिनमें से उसे 2 में जीत मिली, जबकि 3 मुकाबले ड्रॉ रहे हैं. भारतीय टीम ने जोहानिसबर्ग में पहला टेस्ट 1992 में खेला था. उस मुकाबले में सचिन तेंदुलकर ने शतक ठोका था. तब सचिन ने 270 गेंद में 111 रन की पारी खेली थी. इस पारी में उन्होंने 19 चौके ठोके थे. उनकी इस पारी की बदौलत भारत टेस्ट ड्रॉ कराने में सफल रहा था और तभी से ही इस मैदान पर भारत एक भी टेस्ट नहीं हारा है.

भारत को जोहानिसबर्ग में ही मिली थी पहली टेस्ट जीत
भारत को जोहानिसबर्ग में पहली जीत 2006-07 के दौरे पर मिली थी. तब राहुल द्रविड़ टीम के कप्तान थे. उनकी अगुवाई में भारत ने इस मैदान पर पहली जीत दर्ज की थी. यह दक्षिण अफ्रीका में भारत की पहली टेस्ट विजय भी थी. इस मैच में तेज गेंदबाज एस.श्रीसंत भारत की जीत के हीरो रहे थे. तब उन्होंने मैच में 8 विकेट लिए थे. भारत को वांडरर्स में दूसरी जीत विराट कोहली की कप्तानी में 3 साल पहले मिली थी. भारत के लिए यह जीत इसलिए भी खास थी. क्योंकि भारत पहले टेस्ट हारकर सीरीज गंवा चुका था. उसके पास वांडरर्स में साख बचाने का आखिरी मौका था. टीम इंडिया ने इस मौके को बर्बाद नहीं होने दिया और वांडरर्स में 12 साल बाद दूसरी जीत दर्ज की. तब भारत ने द.अफ्रीका को 63 रन से हराया था.

भारत ने वांडरर्स पर 3 टेस्ट ड्रॉ कराए
इससे पहले, दिसंबर 2013 में भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच जोहानिसबर्ग टेस्ट ड्रॉ रहा था. वहीं, जनवरी 1997 में भी जब दोनों टीमें वांडरर्स में आमने-सामने हुईं थीं. तब भी भारत ने मेजबान टीम को जीतने नहीं दिया था. इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि भारत के लिए जोहानिसबर्ग कितना लकी है. ऐसे में इस बार विराट और द्रविड़ की जोड़ी यह टेस्ट जीतकर ना सिर्फ सीरीज अपने नाम करना चाहेगी. बल्कि 29 साल पुराना इतिहास भी बदलने की कोशिश करेगी.

India vs South Africa Dream 11 Prediction: इन 11 खिलाड़ियों पर आप लगा सकते हैं दांव

अजहर का डेब्यू टेस्ट में शतक, रवि शास्त्री के साथ बनाई थी ‘डबल सेंचुरी’ वाली पार्टनरशिप

भारत के 3 बल्लेबाजों ने डेब्यू टूर पर जोहानिसबर्ग में शतक लगाए
जोहानिसबर्ग में भारतीय बल्लेबाजों का रिकॉर्ड शानदार रहा. अपने पहले दक्षिण अफ्रीका दौरे पर भारत के बल्लेबाजों के 4 में से 3 शतक इसी मैदान पर आए हैं. पहला 1992 में सचिन तेंदुलकर के 111 रन, दूसरा 1997 में राहुल द्रविड़ की 148 रन की पारी और तीसरा 2013 में विराट कोहली के 119 रन. इसके अलावा इस वेन्यू पर भारतीय गेंदबाजों का भी बोलबाला रहा है. घर से बाहर भारतीय गेंदबाजों के 8 बेस्ट स्पैल का गवाह यही मैदान बना है. इसमें 1992 में अनिल कुंबले के एक पारी में 6 विकेट से लेकर 2006 में श्रीसंत के 40 रन पर 5 विकेट का यादगार स्पैल शामिल है.

भारत: विराट कोहली (कप्तान), केएल राहुल (उप कप्तान), मयंक अग्रवाल, चेतेश्वर पुजारा, श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), रविचंद्रन अश्विन, शार्दुल ठाकुर, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, मोहम्मद सिराज, अजिंक्य रहाणे, ऋद्धिमान साहा (विकेटकीपर), जयंत यादव, प्रियांक पांचाल, उमेश यादव, हनुमा विहारी, इशांत शर्मा.

दक्षिण अफ्रीका : डीन एल्गर (कप्तान), तेम्बा बावुमा (उपकप्तान), रेयान रिकलटन (विकेटकीपर), कैगिसो रबाडा, सरेल एरवी, बेउरन हेंड्रिक्स, जॉर्ज लिंडे, केशव महाराज, लुंगी एनगिडी, एडेन मार्कराम, वियान मुल्डर, कीगन पीटरसन, रासी वैन डर डूसेन, काइल वेरेने, मार्को जेन्सन, ग्लेनटन स्टुरमैन, प्रेनेलन सुब्रायन, सिसांडा मगला, डुआने ओलिवर.

Tags: Cricket news, Ind vs sa, India vs South Africa, Rahul Dravid, Sachin tendulkar, Virat Kohli

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here