BAN vs NZ: एयरफोर्स के लिए वॉलीबॉल खेलते-खेलते बना क्रिकेटर, अब बांग्लादेश को दिलाई सबसे बड़ी जीत

0
22

[ad_1]

नई दिल्ली. बांग्लादेश के क्रिकेट इतिहास में 5 जनवरी 2022 का दिन हमेशा याद रखा जाएगा. क्योंकि इस दिन टीम को टेस्ट में सबसे बड़ी जीत मिली. बांग्लादेश ने टेस्ट की वर्ल्ड चैम्पियन टीम (Bangladesh vs New Zealand) को उसी के घर में 8 विकेट से शिकस्त दी. यह बांग्लादेश की न्यूजीलैंड के खिलाफ उसी के घर में किसी भी फॉर्मेट (टेस्ट, वनडे और टी20) में पहली जीत है. टीम की इस जीत के हीरो तेज गेंदबाद इबादत हुसैन चौधरी रहे. 2 साल पहले टेस्ट डेब्यू करने वाले इस गेंदबाज ने दूसरी पारी में 6 विकेट लेकर न्यूजीलैंड की बल्लेबाजी की कमर तोड़ दी. इसमें से 3 विकेट तो उन्होंने महज 7 गेंद के भीतर लिए. उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट के चौथे दिन कुल 4 विकेट लेकर बांग्लादेश की जीत की नींव रख दी थी.

इबादत हुसैन का इस टेस्ट से पहले रिकॉर्ड बहुत अच्छा नहीं था. लेकिन न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट में उन्होंने अपनी गेंदबाजी से सबको हैरान कर दिया. इस टेस्ट से पहले तक 10 मैच में उनका औसत 81.24 का था. लेकिन न्यूजीलैंड के खिलाफ इस टेस्ट में कुल 7 विकेट लेकर उन्होंने अपना औसत और स्ट्राइक दोनों सुधार लिए. अब इबादत का टेस्ट औसत 56.55 हो गया है.

इबादत टैलेंट हंट के जरिए पहुंचे बांग्लादेश की टीम में
इबादत का बांग्लादेश टीम तक पहुंचने का सफऱ छोटा, मगर रोचक है. वो क्रिकेटर बनने से पहले बांग्लादेश एयरफोर्स के लिए वॉलीबॉल खेलते थे. अपने बैरक में रहते हुए इबादत ने एक दिन ब्रेट ली की तरह गेंदबाजी करने का सपना देखा था. उनका सपना तब साकार हुआ, जब उन्होंने 2016 में फरीदपुर में तेज गेंदबाजों के लिए हुए एक पेसर हंट इवेंट में हिस्सा लिया. वो इस हंट शो में शीर्ष 3 गेंदबाजों में से एक थे.

इसके बाद उन्हें ढाका में ट्रेनिंग के लिए बुलाया गया. उन्होंने शुरुआत में ही अपनी रफ्तार से तब के बांग्लादेश के बॉलिंग कंसल्टेंट आकिब जावेद को प्रभावित कर दिया. इसके बाद उन्होंने सिल्हट के लिए फर्स्ट क्लास डेब्यू किया. फिर उन्हें बांग्लादेश प्रीमियर लीग में मौका मिला. हालांकि, इबादत को असली सफलता 2018-19 के घरेलू सीजन में मिली. तब उन्होंने फर्स्ट क्लास टूर्नामेंट में 21 विकेट लिए थे. इसमें नॉर्थ जोन के खिलाफ मैच में 10 विकेट लेने का कारनामा भी शामिल था. इस मैच में उन्होंने नजमुल हुसैन, मार्शल अयूब जैसे बांग्लादेशी बल्लेबाजों के विकेट हासिल किए थे.

इबादत ने 2 साल पहले टेस्ट डेब्यू किया था
उन्होंने 2019 के बीपीएल में भी अपनी गेंदबाजी से प्रभावित किया. इसके बाद उन्हें तस्कीन अहमद के चोटिल होने के कारण बांग्लादेश की टेस्ट टीम में जगह मिली और उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ फरवरी 2019 में टेस्ट डेब्यू किया और आज इसी टीम के खिलाफ बांग्लादेश को टेस्ट में सबसे बड़ी जीत दिलाई.

मैं अभी भी गेंदबाजी सीख रहा हूं: इबादत
इस जीत के बाद इबादत ने कहा, “बीते 2 सालों में मैं ओटिस गिब्सन के साथ काम कर रहा हूं. बांग्लादेश पर हम बल्लेबाजी के अनुकूल विकेट पर गेंदबाजी करते हैं. इसलिए हम अभी भी सीख रहे हैं कि घर से बाहर कैसे गेंदबाजी करना है और किसी भी परिस्थिति में गेंद को कैसे रिवर्स स्विंग कराना है.”

IND vs SA: चोट से रफ्तार घटी, लेकिन चालाकी नहीं; जानिए कैसे शार्दुल ठाकुर बल्लेबाजों का कर रहे शिकार?

NZ vs BAN: बांग्लादेश ने रचा इतिहास, वर्ल्ड टेस्ट चैंपियन न्यूजीलैंड की धरती पर पहली बार जीता कोई टेस्ट

उन्होंने विकेट लेने के बाद अपने सैल्यूट करने के अंदाज को लेकर कहा, “मैं बांग्लादेश वायु सेना का एक जवान हूं, इसलिए मुझे पता है कि कैसे सैल्यूट करना है. वॉलीबॉल से लेकर क्रिकेटर बनने की कहानी काफी लंबी है. मैं फिलहाल, बांग्लादेश और देश की वायुसेना का प्रतिनिधित्व करते हुए अपने खेल का पूरा मजा ले रहा हूं.”

Tags: Bangladesh, Bangladesh Cricketer, Cricket news, New Zealand vs Bangladesh, WTC

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here