Home Blog Page 446

इंग्लैंड के लिए बुरी खबर, बेन स्टोक्स एशेज सीरीज में भी नहीं खेलेंगे!

0

[ad_1]

नई दिल्ली. एशेज सीरीज (The Ashes)  शुरू होने से पहले ही इंग्लैंड के लिए मुश्किलें खड़ी हो रही है. हाल ही में ऐसी खबरें आई थी कि इंग्लैंड के कई बड़े खिलाड़ी एशेज सीरीज का बहिष्कार कर सकते हैं और अब एक रिपोर्ट के मुताबिक ऑलराउंडर बेन स्टोक्स (Ben Stokes) एशेज सीरीज से भी बाहर हो सकते हैं. बता दें बेन स्टोक्स ने मानसिक तनाव के चलते क्रिकेट से ब्रेक लिया हुआ है. भारत-इंग्लैंड टेस्ट सीरीज से पहले इंग्लैंड ने अचानक ब्रेक ले लिया था और वो अब आईपीएल 2021 में भी नहीं खेल रहे हैं और साथ ही उन्हें टी20 वर्ल्ड कप के लिए इंग्लैंड की टीम में जगह नहीं मिली है. ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि स्टोक्स एशेज सीरीज से वापसी कर सकते हैं लेकिन ताजा रिपोर्ट्स के मुताबिक एशेज इस साल क्रिकेट नहीं खेलेंगे.

ब्रिटिश अखबार टेलीग्राफ में छपी रिपोर्ट के मुताबिक बेन स्टोक्स का एशेज सीरीज से क्रिकेट में वापसी करना मुश्किल है. खबरें हैं कि स्टोक्स अगले साल होने वाले वेस्टइंडीज दौरे से वापसी कर सकते हैं. रिपोर्ट की मानें तो स्टोक्स की हालत में सुधार हुआ है लेकिन एशेज जैसी दबाव भरी सीरीज में उनकी वापसी इस ऑलराउंडर के लिए फिर मुसीबत का सबब बन सकती है. बता दें एशेज सीरीज के कठिन क्वारंटीन नियम भी इंग्लैंड के खिलाड़ियों के लिए बड़ी परेशानी का सबब बताए जा रहे हैं.

एशेज सीरीज की टीम का ऐलान अगले महीने
बता दें एशेज सीरीज के लिए इंग्लैंड की टीम का ऐलान अक्टूबर में होगा. इससे पहले इंग्लैंड के खिलाड़ियों को ऑस्ट्रेलियाई में होने वाले क्वारंटीन नियमों और बायो बबल की भी जानकारी दी जाएगी. खबरों के मुताबिक ऑस्ट्रेलिया के कठोर बायो बबल नियमों से इंग्लिश खिलाड़ी खुश नहीं हैं और कुछ टॉप खिलाड़ी दौरे से अपना नाम वापस ले सकते हैं. सिर्फ खिलाड़ी ही नहीं इंग्लैंड का सपोर्ट स्टाफ भी इसके लिये तैयार नहीं दिखाई दे रहा है. कुछ खिलाड़ी तो एशेज सीरीज के 5 में से 3 टेस्ट के लिए ही अपनी उपलब्धता बता सकते हैं.

स्टोक्स की बात करें तो अभी उनकी उंगली की चोट भी ठीक नहीं हुई है. अगर एशेज सीरीज से स्टोक्स बाहर रहते हैं तो ये इंग्लैंड के लिए बहुत बड़ा झटका होगा. हाल ही में इंग्लैंड की टीम अपने ही घर पर भारत से टेस्ट सीरीज में 1-2 से पिछड़ गई थी. वो तो मैनचेस्टर टेस्ट से पहले भारतीय खेमे में कोरोना का मामला आ गया और टेस्ट रद्द हो गया नहीं तो इंग्लैंड को टेस्ट सीरीज में हार का सामना भी करना पड़ सकता था.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

Scotland vs Zimbabwe: स्कॉटलैंड ने आखिरी ओवर में लगातार 4 विकेट गंवाए, जिम्बाब्वे की सनसनीखेज जीत

0

[ad_1]

नई दिल्ली. टी20 क्रिकेट को रोमांच का दूसरा नाम क्यों कहा जाता है इसका सबूत स्कॉटलैंड और जिम्बाब्वे के बीच खेले गए दूसरे टी20 मैच (Scotland vs Zimbabwe, 2nd T20I) में देखने को मिला. एडिनबर्ग में खेले गए दूसरे टी20 मैच में जिम्बाब्वे ने स्कॉटलैंड को 10 रनों से हरा दिया. गजब की बात ये है कि स्कॉटलैंड को आखिरी ओवर में महज 13 रनों की दरकार थी और उसके हाथों में 4 विकेट बचे थे. लेकिन अंतिम ओवर की शुरुआती 4 गेंदों पर उसने चारों विकेट गंवा दिये और जिम्बाब्वे 10 रन से मैच जीत गया. जिम्बाब्वे ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 5 विकेट पर 136 रन बनाए, जवाब में स्कॉटिश टीम 19.4 ओवर में 126 रनों पर सिमट गई. जिम्बाब्वे के तेज गेंदबाज रिचर्ड नगारवा को मैन ऑफ द मैच चुना गया, जिन्होंने 4 ओवर में महज 13 रन देकर दो विकेट चटकाए.

जिम्बाब्वे के लिए सीन विलियम्स ने शानदार अर्धशतक लगाया. मुश्किल पिच पर विलियम्स ने 52 गेंदों में नाबाद 60 रनों की पारी खेली जिसमें 5 चौके और एक छक्का शामिल रहा. इसके अलावा कप्तान क्रेग एरविन ने 30 रनों की पारी खेली. जवाब में स्कॉटलैंड के लिए रिची बेरिंगटन ने 42 और मैथ्यू क्रॉस ने भी 42 रनों की पारी खेली लेकिन ये टीम को जीत दिलाने के लिए काफी नहीं थी.

आखिरी ओवर का रोमांच
आखिरी ओवर में स्कॉटलैंड को 13 रनों की दरकार थी, उसका स्कोर 6 विकेट पर 124 रन था. ऐसे में जिम्बाब्वे के कप्तान एरविन ने वेलिंगटन मजाकाद्जा को गेंद सौंपी. इस गेंदबाज ने पहली ही गेंद पर साफियां शरीफ को रायन बर्ल के हाथों कैच आउट करा दिया. दूसरी गेंद पर मार्क वाट रन आउट हो गए. लीस्क ने मार्क वाट को दूसरे रन के लि बुलाया लेकिन सीन विलियम्स के बेहतरीन थ्रो ने मार्क वाट की पारी का अंत कर दिया. मसाकाद्जा ने अगली गेंद पर लीस्क को भी आउट कर दिया. इस बार विलियम्स ने उनका कैच लपका. सेट बल्लेबाज के आउट होते ही स्कॉटलैंड की उम्मीदें खत्म हो गई. लीस्क ने 21 गेंद में 25 रन बनाए. अब स्कॉटलैंड का महज एक ही विकेट बचा था और अंतिम गेंद पर इवांस भी रन आउट हो गए और इस तरह स्कॉटिश टीम ने लगातार चार विकेट गंवा दिये और जिम्बाब्वे 10 रन से मैच जीत गया. इस जीत के साथ ही जिम्बाब्वे ने सीरीज 1-1 से बराबर कर ली.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

IPL 2021: विराट कोहली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की कप्तानी भी छोड़ देंगे? ये है आखिरी मौका!

0

[ad_1]

नई दिल्ली. विराट कोहली Virat Kohli) ने भारतीय टी20 टीम की कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर दिया है. विराट कोहली ने गुरुवार को ऐलान किया कि टी20 वर्ल्ड कप 2021 (T20 World Cup 2021)  बतौर टी20 कप्तान उनका आखिरी टूर्नामेंट होगा. इसके बाद वो वनडे और टेस्ट टीम की कप्तानी करेंगे और टी20 टीम में बतौर बल्लेबाज देश की सेवा करेंगे. हालांकि विराट कोहली के इस ऐलान के बाद अब फैंस के जहन में एक सवाल आया है कि क्या अब रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) भी अपने कप्तान को बदलने के बारे में सोचेगी? क्या विराट कोहली खुद बैंगलोर की कमान भी छोड़ सकते हैं? विराट कोहली ने बतौर टी20 कप्तान भारत को बुलंदियों पर पहुंचाया है लेकिन आईपीएल (IPL 2021) में उनका रिकॉर्ड खराब है. ना तो वो टीम को एक भी खिताब दिला सके हैं और उनका जीत प्रतिशत भी 50 फीसदी से कम है.

साल 2013 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की कमान संभालने वाले विराट कोहली ने महज 60 मैच जीते हैं और 65 में टीम को हार मिली है. विराट कोहली का जीत प्रतिशत सिर्फ 48.04 है. वहीं दूसरी ओर मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा की बात करें तो ये खिलाड़ी सबसे ज्यादा 60.16 फीसदी मैच जीता है और मुंबई इंडियंस को वो पांच बार आईपीएल चैंपियन बना चुके हैं.

विराट कोहली का बतौर आईपीएल कप्तान रिकॉर्ड बेहद खराब

IPL 2021 के बाद बैंगलोर के कप्तान नहीं रहेंगे विराट कोहली?
अब इतने खराब रिकॉर्ड के बाद किसी भी खिलाड़ी का कप्तान बने रहना थोड़ा मुश्किल नजर आता है लेकिन बैंगलोर ने पिछले 8 सालों से कोहली पर भरोसा जताया है. हालांकि आईपीएल 2021 कोहली का आखिरी मौका हो सकता है. अगले साल 10 टीमें टूर्नामेंट में उतरेंगी. मेगा ऑक्शन होगा और अगर इस बार भी बैंगलोर खिताब नहीं जीत पाई तो हो सकता है बैंगलोर का कप्तान भी बदल दिया जाये.

IPL 2021: जानिए प्लेऑफ में पहुंचने के लिए किस टीम को कितनी जीत चाहिए? मुंबई भी मुश्किल में!

पूर्व क्रिकेटर दिलीप वेंगसरकर ने भी इस ओर इशारा किया. वेंगसरकर ने हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत में कहा, ‘विराट कोहली को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने लंबा समय दिया है. अगर आपके पास वर्ल्ड क्लास बल्लेबाजी है, वर्ल्ड क्लास बॉलिंग है और इतने सालों में अबतक आप चैंपियन नहीं बने हो तो फिर नेतृत्व में बदलाव की जरूरत नजर आती है.’ विराट कोहली जब आईपीएल 2021 में बतौर कप्तान उतरेंगे तो कहीं ना कहीं उनपर दबाव जरूर होगा. टीम अंक तालिका में तीसरे नंबर पर जरूर है और वो आसानी से प्लेऑफ में पहुंच सकती है लेकिन असल लक्ष्य आईपीएल चैंपियन बनना है, जिसके लिए विराट कोहली को बल्लेबाजी के साथ-साथ कप्तानी में भी अपना दमखम दिखाना होगा. नहीं तो कोहली का आने वाला समय ‘विराट’ बदलाव लेकर आ रहा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

महेंद्र सिंह धोनी ने कोविड-19 वैक्सीन लगवाने और मास्क लगाने का किया अनुरोध

0

[ad_1]

चेन्नई. भारत के सबसे सफल कप्तानों में शुमार महेंद्र सिह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने शुक्रवार को लोगों से कोरोना वायरस रोधी वैक्सीन लगवाने और सार्वजनिक स्थलों पर मास्क लगाए रहने का अनुरोध किया. चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान धोनी’टीका पोडु, मास्क पोडु’ अभियान का हिस्सा बने. उन्होंने इस सिलसिले में कहा, ‘हमारी सुरक्षा हमारे हाथ में है. कंडियप्पा वैक्सीन पोडु… मास्क पोडु…’ वह फिलहाल यूएई में हैं और आईपीएल-2021 के दूसरे चरण की तैयारियों में जुटे हैं.

यह अभियान मल्टी स्पेशियलिटी अस्पतालों की चेन कावेरी ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स ने शुरू किया है. एक बयान में इसकी जानकारी दी गई है. हाल में कावेरी हॉस्पिटल्स ने 40 वर्षीय धोनी को इसका ब्रैंड एंबेसडर बनाया है.

क्रिकेट की दुनिया में ‘माही’ से मशहूर धोनी अब यूएई में IPL-2021 के दूसरे चरण में चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी संभालते नजर आएंगे, जिसका आगाज 19 सितंबर से होना है. धोनी ने अपने करियर में 90 टेस्ट, 350 वनडे और 98 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं. उनकी कप्तानी में टीम इंडिया ने वनडे और टी20 वर्ल्ड कप जीते हैं जबकि आईपीएल में तीन बार चेन्नई सुपर किंग्स चैंपियन बनी है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

IPL 2021: जानिए प्लेऑफ में पहुंचने के लिए किस टीम को कितनी जीत चाहिए? मुंबई भी मुश्किल में!

0

[ad_1]

नई दिल्ली. इंडियन प्रीमियर लीग 2021 (IPL 2021) के दूसरे फेज़ का आगाज 19 सितंबर से हो रहा है. पहला फेज भारत में हुआ और फिर कोरोना वायरस की वजह से आईपीएल 2021 को स्थगित करना पड़ा. लेकिन अब यूएई की सरजमीं पर दूसरा फेज़ शुरू होगा जहां टीमों को नई रणनीति के साथ मैदान पर उतरना होगा. किसी टीम के लिए ये इतना आसान नहीं होगा. जो टीम अंक तालिका में टॉप पर है उसे भी नए सिरे से शुरुआत करनी होगी और जिनका प्रदर्शन पहले फेज में खराब रहा उसे प्लेऑफ (IPL 2021 Playoff Senario) में पहुंचने के लिए काफी मशक्कत करनी होगी. आईपीएल 2021 का दूसरा फेज़ शुरू होने से पहले जानिए किस टीम को प्लेऑफ में पहुंचने के लिए सबसे ज्यादा मुश्किल आने वाली है और किसके लिए आसान है राह?

प्लेऑफ में पहुंचने के लिए सबसे आसान राह दिल्ली कैपिटल्स की है, जो अंक तालिका में टॉप पर है. 6 जीत हासिल करने वाली दिल्ली को प्लेऑफ में पहुंचने के लिए महज 2 जीत की जरूरत है. पंत की टीम के 8 मैचों में 12 अंक हैं. दिल्ली को सनराइजर्स हैदराबाद, राजस्थान रॉयल्स, कोलकाता नाइट राइडर्स, मुंबई इंडियंस, चेन्नई सुपरकिंग्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर से मैच खेलने हैं.

चेन्नई बैंगलोर की राह आसान?
चेन्नई सुपरकिंग्स को प्लेऑफ में पहुंचने के लिए 7 मैचों में 3 जीत की जरूरत है. चेन्नई के फिलहाल 10 अंक हैं. चेन्नई सुपरकिंग्स को मुंबई इंडियंस, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, कोलकाता नाइट राइडर्स, सनराइजर्स हैदराबाद, राजस्थान रॉयल्स, दिल्ली कैपिटल्स और पंजाब किंग्स से भिड़ना है

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को भी प्लेऑफ में पहुंचने के लिए 7 मैचों में 3 जीत चाहिए. बैंगलोर के भी 10 अंक हैं. बैंगलोर को कोलकाता नाइट राइडर्स, चेन्नई सुपरकिंग्स, मुंबई इंडियंस, राजस्थान रॉयल्स, पंजाब किंग्स, सनराइजर्स हैदराबाद और दिल्ली कैपिटल्स से टक्कर लेनी है.

हैदराबाद, कोलकाता और पंजाब का प्लेऑफ में पहुंचना मुश्किल!

मुंबई को धीमी शुरुआत पड़ेगी भारी!
मुंबई इंडियंस को प्लेऑफ में एंट्री के लिए 7 में से 4 मैच जीतने जरूरी हैं. डिफेंडिंग चैंपियन को अभी चेन्नई सुपरकिंग्स, कोलकाता नाइट राइडर्स, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, पंजाब किंग्स, दिल्ली कैपिटल्स, राजस्थान रॉयल्स और फिर अंत में सनराइजर्स हैदराबाद से टक्कर लेनी है. मुंबई की टीम अकसर लीग में धीमी शुरुआत करती है लेकिन अब उसके लिए इसकी गुंजाइश नहीं है. शुरुआती मैचों में हार से उसकी लय बिगड़ सकती है और उसका प्लेऑफ में पहुंचना मुश्किल हो सकता है.

राजस्थान रॉयल्स की बात करें तो संजू सैमसन की टीम को 7 में से 5 मैच जीतने हैं. राजस्थान के 6 अंक हैं. राजस्थान की बात करें तो अब उसे पंजाब किंग्स, दिल्ली कैपिटल्स, सनराइजर्स हैदराबाद, बैंगलोर, चेन्नई, मुंबई और कोलकाता नाइट राइडर्स से भिड़ना है.

पंजाब, कोलकाता और हैदराबाद के लिए ‘करो या मरो’
पंजाब किंग्स के 6 मैच बचे हैं और प्लेऑफ में पहुंचने के लिए उसे राजस्थान रॉयल्स, सनराइजर्स हैदराबाद, मुंबई इंडियंस, कोलकाता नाइट राइडर्स, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, चेन्नई सुपरकिंग्स से भिड़ना है. 16 अंकों के लिए केएल राहुल की टीम को 6 में से 5 मैच जीतने हैं.

कोलकाता नाइट राइडर्स को 7 में से 6 मैच जीतने जरूरी हैं. उसके महज 4 ही अंक हैं. कोलकाता को पंजाब किंग्स, सनराइजर्स हैदराबाद, मुंबई इंडियंस, पंजाब किंग्स, बैंगलोर, चेन्नई सुपरकिंग्स से भिड़ना है.

वहीं सनराइजर्स हैदराबाद को अपने सातों मैचों में जीत हासिल करनी होगी तभी उसके प्लेऑफ में पहुंचने के आसार हैं. एक हार उसे प्लेऑफ की रेस से बाहर कर सकती है. हैदराबाद को राजस्थान, पंजाब, मुंबई, कोलकाता, बैंगलोर, चेन्नई से भिड़ना है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

Podcast ipl 2021 t20 world cup virat kohli to resign as t20 captain – PODCAST, सुनो दिल से: विराट कोहली ने किया टी20 कप्तानी छोड़ने का ऐलान, सज गया है IPL 2021 का मैदान

0

[ad_1]

विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्तानी छोड़ने के ऐलान से, आईपीएल 2021 (IPL 2021) के मैदान तक. मशहूर कमेंटेटर संजय बैनर्जी की आवाज में सुनिये क्रिकेट की बड़ी खबरें


नमस्कार , स्वागत आप सभी का, सप्ताह भर की क्रिकेट सरगर्मियों को समेटे आपकी खिदमत मे हाजिर हूं मैं संजय बैनर्जी, सुनो दिल से… कहते हैं तिल से ही ताड़ बनता है और बिना आग के धुआं भी नहीं होता. विराट कोहली (Virat Kohli) जल्द ही टी 20 क्रिकेट से टीम की कप्तानी छोड़ने वाले हैं, यह शिगूफ़ा कुछ दिनों से आम हो चुका था . आम तौर पर जरूरी खबरों पर रिएक्ट नही करने वाले बीसीसीआई ने इस पर रिएक्ट किया और इसे बकवास बताया. लेकिन अब विराट कोहली ने खुद बोल चुके है कि वह टी 20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) के बाद इस फॉर्मेट से कप्तानी छोड़ देंगे. कोहली ने इस बारे में बयान में कहा कि इस फैसले को लेने में मुझे काफी वक्त लगा, लेकिन यह जरूरी था. तय कुछ भी नहीं है, लेकिन ऐसा लग रहा है कि टी-20 की कमान अब रोहित शर्मा के ही हाथों मे होगी.

मैदान के बाहर की सुर्खियों मे कोहली छाए हुए हैं लेकिन मैदान के भीतर अब सारी निगाहें रविवार से दोबारा शुरू हो रही इंडियन प्रीमियर लीग पर है. जैसा की आप जानते हैं जिस समय आईपीएल को कोरोना विस्फोट की वजह से रोका गया था, उसका तकरीबन आधा सफर तय हो चुका था. रविवार को पहला मैच आईपीएल इतिहास की दो बड़ी टीमों के बीच होगा, यानि रोहित शर्मा की मुंबई इंडियंस के सामने महेंद्र सिंह धोनी की टीम चेन्नई सुपर किंग्स होगी. गिने चुने कुछ दिनों के अलावा ज्यादातर दिन सिंगल मुकाबले ही खेले जाएंगे. पिछले सीजन अपने चाहने वालों को निराश करने वाली चेन्नई की टीम इस बार बेहतर कर रही है, और पॉइंट्स टेबल पर दिल्ली के बाद दूसरी पोजिशन पर है, वहीं 5 बार आईपीएल खिताब जीतने वाली मुंबई इंडियंस इस समय चौथे स्थान पर है. आईपीएल का अभी आधा सफर बाकी है, और ऐसे मे बाकी टीमों के पास भी पॉइंट्स टेबल मे बेहतर करने की गुंजाइश भी बाकी है.

इंग्लैंड के लगभग आधे दर्जन खिलाड़ियों के आईपीएल से हटने के बाद कई फ्रेंचाइस को नए विकल्प तलाशने मे खासी मशक्कत करनी पड़ी है. राजस्थान रॉयल्स को इस मामले में सबसे ज्यादा मार झेलनी पडी. डेविड मलान, जोफ्रा आर्चर, बेन स्टोक्स, जोस बटलर और जॉनी बेयरस्टो के बाद अब क्रिस वोक्स ने भी अपना नाम लीग से वापस ले लिया है.

यही नहीं ईसीबी ने एक और फरमान जारी किया है कि आईपीएल के प्लेआफ के दौरान उन खिलाड़ियों को खेलने की अनुमति नहीं होगी जो इंग्लैंड की वर्ल्ड कप टीम मे शामिल होंगे. इंग्लैंड ने टी-20 वर्ल्ड कप से ठीक पहले पाकिस्तान में सीरीज खेलने का फैसला किया है. आईपीएल के प्लेऑफ 10 अक्टूबर से शुरू होने हैं जबकि इंग्लैंड-पाकिस्तान की सीरीज 13 अक्टूबर से शुरू होगी. इंग्लैंड का यह फैसला भी आईपीएल टीमों की परेशानी बढ़ाएगा.

इस बीच टी-20 वर्ल्ड कप के लिए लगभग सभी टीमों ने अपने खिलाड़ियों के नाम घोषित कर दिये हैं. ओमान और यूएई में भी इसको लेकर कुछ टीमों ने समय से पहले अभ्यास मैच खेलने का निर्णय किया है. भारत और पाकिस्तान के बीच सबसे बड़ा मुकाबला 24 अक्टूबर को खेला जाएगा.

भारत-पाकिस्तान द्विपक्षीय सीरीज को लेकर हमेशा चर्चा मे रहते है. अब रमीज राजा के पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के चेयरमैन बनने पर इस मुद्दे पर कुछ समय के लिए विराम लग गया है. रमीज राजा ने अपने पहले प्रेस कांफ्रेंस में कहा है कि फिलहाल दोनों देशों के बीच बाईलेटरल सीरीज संभव नहीं है. रमीज के आते ही पाक टीम में भी बदलाव होने लगे हैं. मिस्बाह उल हक और वकार युनूस के कोच पद से इस्तीफे के बाद उनकी जगह मैथ्यू हेडन को हेड कोच और वेर्नोन फिलैंडर को बॉलिंग कोच बनाया गया है. इसका टी-20 वर्ल्ड कप पर क्या असर पड़ेगा, देखना दिलचस्प होगा.

भारत और इंग्लैंड सीरीज अब भी अधर मे लटकी हुई है, भारत जीता या सीरीज ड्रॉ रही, अब भी यह तय नहीं है. आईसीसी पर सब कुछ छोड़ दिया गया है और इस पर कितना वक्त लगेगा, कहा नहीं जा सकता. वैसे भी आईसीसी के लिए इस मामले को लंबा टालना ही, बेहतर होगा.क्योंकि उसका कई भी फैसला किसी एक पार्टी को पसंद नहीं आएगा. मैनचेस्टर का पांचवां और अंतिम टेस्ट ‘कोरोना इफैक्ट’ के कारण नहीं खेला जा सका. कई सपोर्ट स्टाफ के संक्रमण के बाद भारतीय खिलाड़ियों ने पांचवां टेस्ट खेलने से मना कर दिया था और आखिरकार वह मुकाबला नहीं हो सका. भारत सीरीज में तब तक 2-1 से आगे था. अनिश्चित काल के लिए स्थगित हुए मुकाबले को दोबारा खेला आएगा, इस पर दोनों देशों की रजामंदी है, लेकिन भारत चाहता है की इससे स्थगित माना जाए और इंग्लैंड चाहता है कि इसे रद्द किया जाए ताकि सीरीज बराबरी पर खत्म हो, अब आईसीसी के दरबार मे कौन भारी पड़ता है, इसका इंतज़ार करना होगा. ईसीबी ने आईसीसी से आग्रह किया है कि इस बारे में जल्द फैसला लिया जाए. शायद आईसीसी को भी मैच रेफरी क्रिस ब्रॉड की रिपोर्ट का इंतजार है. बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली 22 सितम्बर को निजी दौरे पर इंग्लैंड जाएंगे और शायद वे वहां ईसीबी से मिलकर कुछ तय कर लेंगे,लेकिन गांगुली कह चुके हैं कि इस टेस्ट को स्थगित ही माना जाएगा. सो हम भी वही मान कर चल रहे हैं.

सीरीज का महत्व इसलिए भी है क्योंकि यह वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का हिस्सा है. प्रत्येक टेस्ट पर अंक मिलते हैं और कोई भी देश इसे गंवाना नहीं चाहता. आखिरकार फाइनल में पहुचने का दारोमदार इन्हीं अंकों पर होता है. आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड पिछले संस्करण में इसे देख चुके हैं. कुछ नुकसान के कारण दोनों में से कोई भी फाइनल नहीं खेल सका था. अगर मैच को स्थगित माना जाता है तो इंग्लैंड के लिए सीरीज में बराबरी का मौका रहेगा, वरना भारत इस सीरीज को अपने नाम कर लेगा. लेकिन तीसरा विकल्प आईसीसी यह भी दे सकता है कि इसे ‘परिणाम नहीं’ के दायरे में रखकर दोनों को कुछ अंक दे दे. इस हालात में भी भारत सीरीज जीत लेगा. वैसे डब्ल्यूटीसी नियमों में फिलहाल इस तरह के विकल्प का कोई जिक्र नहीं है. हार-जीत, ड्रॉ या टाई पर ही अंक मिलने के प्रावधान हैं.

इस बीच बीसीसीआई ने टेस्ट न होने के कारण इंग्लैंड को हुए घाटे की भरपाई के लिए टेस्ट के अलावा दो अतिरिक्त टी 20 मैच भी खेलने का विकल्प दिया है. असल में कोच रवि शास्त्री के पॉजिटिव आने के बाद से ही कोरोना का प्रभाव भारतीय खेमे में बढ़ता गया था. कई लोग इसके लिए शास्त्री को ही दोषी मानते हैं. शास्त्री ने किताब के विमोचन के दौरान कई लोगों को बुलाया था और माना जा रहा है कि इसी दौरान वह संक्रमित हुए थे. लेकिन शास्त्री साहेब ने अपना बचाव किया है और कहा है कि मैच नहीं होने का दोष उनपर नहीं थोपा जा सकता.

और अंत में महिला क्रिकेट. भारतीय महिला टीम इन दिनों ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर है और यह टीम अपने मैचों का आगाज इसी सप्ताह करेगी. स्मृति मंधाना का मानना है कि हमारी टीम पिछले वर्ल्ड कप के बाद बढ़िया खेली है. अब फिर ऑस्ट्रेलिया से सामना है. इधर मिताली राज आईसीसी की वनडे रैंकिंग में संयुक्त रूप से पहले स्थान पर हैं. मिताली के साथ साउथ अफ्रीका की ओपनर लीजल ली नंबर एक पर काबिज है.

तो आज के इस पॉडकास्ट मे इतना ही, संजय बैनर्जी को इजाजत दीजिए , अगले हफ्ते फिर मिलेंगे, अपना खयाल रखिए और चलते रहिए न्यूज़18 के साथ.

[ad_2]

Source link

PAK vs NZ: सीरीज रद्द तो बिफरे रमीज राजा, बोले- अब ICC के सामने सुनेगा न्यूजीलैंड, बाबर और अफरीदी निराश

0

[ad_1]

नई दिल्ली. न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड (NZC) ने आखिरी वक्त में पाकिस्तान के खिलाफ सीमित ओवरों की सीरीज शुक्रवार को रद्द कर दी. इस पर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) के प्रमुख रमीज राजा (Ramiz Raja) ने कड़ी प्रतिक्रिया दी और निराशा व्यक्त की. रमीज के अलावा पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम (Babar Azam) और पूर्व दिग्गज शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) ने भी निराशा जाहिर की.

पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के बीच सीमित ओवरों की क्रिकेट सीरीज (PAK vs NZ Series Abandoned) सीरीज सुरक्षा कारणों से ऐन मौके पर रद्द कर दी गई. न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड ने शुक्रवार को ही सीरीज नहीं खेलने का फैसला किया, जिस दिन पहला वनडे रावलपिंडी में खेला जाना था. हालांकि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) इस सीरीज को भविष्य में आयोजित करने को तैयार है. खास बात है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी सीरीज को आयोजित करने की कोशिश की और न्यूजीलैंड की पीएम से निजी तौर पर बात की लेकिन कोई हल नहीं निकल पाया.

रमीज ने ट्वीट किया- ‘एक खराब दिन. प्रशंसकों और हमारे खिलाड़ियों के लिए बहुत खेद है. सुरक्षा खतरे पर एकतरफा रुख अपनाकर दौरे से बाहर निकलना बहुत निराशाजनक है. खासकर जब इस बात को शेयर नहीं किया जाता है. न्यूजीलैंड किस दुनिया में रह रहा है? अब वह हमारी बात आईसीसी के सामने सुनेगा.’

बाबर आजम और रमीज राजा नेे सीरीज रद्द होने पर निराशा जाहिर की. (Twitter)

बाबर आजम ने लिखा, ‘सीरीज के अचानक स्थगित होने से बेहद निराशा हुई, जो लाखों पाकिस्तान क्रिकेट प्रेमियों के चेहरे पर मुस्कान वापस ला सकती थी. मुझे अपनी सुरक्षा एजेंसियों की क्षमताओं और विश्वसनीयता पर पूरा भरोसा है. वे हमारे गौरव हैं और हमेशा रहेंगे. पाकिस्तान जिंदाबाद.’

वहीं, शाहिद अफरीदी ने लिखा, ‘एक अफवाह के डर से आपने सभी सुरक्षा इंतजामों के बावजूद इस सीरीज को रद्द करने का फैसला किया. न्यूजीलैंड क्रिकेट, क्या आपको इस फैसले के प्रभाव का मतलब भी समझ में आता है?’

ShahidAfridi

शाहिद अफरीदी का ट्वीट जिसमें उन्होंने न्यूजीलैंड क्रिकेट को चेतावनी भरे लहजे में बात लिखी. (Twitter)

न्यूजीलैंड ने सुरक्षा खतरे के कारण निर्धारित समय पर मैच शुरू होने से कुछ मिनट पहले ही सीरीज रद्द करने का फैसला किया. अब बोर्ड अपनी टीम को वापिस बुलाने की व्यवस्था पर काम कर रहा है. NZC के मुख्य कार्यकारी डेविड व्हाइट ने कहा कि उन्हें जो सलाह मिल रही थी, उसे देखते हुए दौरे को जारी रखना संभव नहीं था. उन्होंने कहा, ‘मैं समझता हूं कि यह पीसीबी के लिए एक झटका होगा, जो शानदार मेजबान रहा है लेकिन खिलाड़ियों की सुरक्षा सर्वोपरि है और हमारा मानना ​​है कि यह एकमात्र विकल्प है.’

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

Sridharan Sharath to head India’s new junior selection committee

0

[ad_1]

News

Other members of the committee are Pathik Patel, Ranadeb Bose, Kishan Mohan and Harvinder Sodhi

Former Tamil Nadu captain Sridharan Sharath will head the BCCI’s newly appointed junior selection committee which also includes Pathik Patel (West Zone), Ranadeb Bose (East Zone), Krishnan Mohan (North Zone), and Harvinder Sodhi (Central Zone).

The new committee takes over from Aashish Kapoor (South Zone and chairman), Debasis Mohanty (East, now senior selector), Gyanendra Pandey (Central), Rakesh Parekh (West), and Amit Sharma (North).

Sharath was the first player to represent Tamil Nadu in 100 Ranji Trophy matches and scored 8700 runs in the first-class format after playing 139 matches in a 15-year career. He struck 27 centuries and 42 half-centuries in first-class matches, and another four hundreds and 20 fifties in 116 List A games for a total of 3366 runs. His first-class average of 51.17 was also better than his List A average of 44.28. He also played for Assam towards the end of his career. After retiring in 2007-08, Sharath was also a BCCI match referee, most recently in the Tamil Nadu Premier League last month.

Bose, a former Bengal fast bowler, has the experience of 91 first-class matches, 82 List A games and 11 T20s, including one in the IPL.

Sodhi is a former fast bowler for Madhya Pradesh from 1990-91 to 2003-04 when he played 76 first-class games and 55 one-dayers. After retirement, he also briefly served as the bowling coach and manager of MP and a BCCI match referee.

Patel is a former wicketkeeper from Gujarat and played 32 first-class and 28 List A games from 1992-93 to 2000-01.

Mohan is a former Punjab player with 45 first-class and nine List A games from his eight-year playing career from the late 1980s to the mid-1990s.

Under-19 domestic games in India are set to begin with the Vinoo Mankad Trophy (one-day), starting September 28, followed by the Under-19 One-Day Challenger in early November.

The next Under-19 World Cup will played in the West Indies in 2022.

[ad_2]

Source link